राम मंदिर निर्माण के लिए महाराष्ट्र सरकार ने किया एक करोड़ रुपये देने का एलान

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे आज अयोध्या में हैं। उन्होंने राम लला के दर्शन से पहले पत्रकारों से बात की। प्रेस कांफ्रेंस में राम मंदिर के निर्माण के लिए एक करोड़ देने का एलान किया।

अयोध्या: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे आज अयोध्या में हैं। उन्होंने राम लला के दर्शन से पहले पत्रकारों से बात की। प्रेस कांफ्रेंस में राम मंदिर के निर्माण के लिए एक करोड़ देने का एलान किया। इसके साथ ही अयोध्या में महाराष्ट्र भवन के लिए योगी सरकार से जमीन की मांग की।

उन्होंने ये भी कहा कि डेढ़ साल में वे अब तक कुल दो बार आ चुके हैं। आगे भी आते रहेंगे। मेरी सरयू तट पर आरती करने की बहुत अधिक इच्छा थी लेकिन कोरोना वायरस के चलते मैंने अपने सभी कार्यक्रम रद्द कर दिए है। जब दोबारा अयोध्या आउंगा तब यहां आरती करूंगा। मैंने बीजेपी से किनारा किया है लेकिन हिंदुत्व से नहीं।

ये भी पढ़ें…अयोध्या LIVE: बीजेपी से किनारा लेकिन हिंदुत्व से नहीं, उद्धव ठाकरे का बड़ा बयान

हिंदू महासभा के जिलाध्यक्ष को नजरबंद

बता कि मुख्यमंत्री के रूप में 100 दिन पूरे होने पर उद्धव ठाकरे अयोध्या में दर्शन करने पहुंचे हैं। साथ में उनके बेटे और मंत्री आदित्य ठाकरे भी हैं। साथ में राज्य सभा सांसद संजय राउत भी थी।

इस बीच, उद्धव ठाकरे का विरोध करने वाले संत महंत और हिंदू महासभा के जिलाअध्यक्ष को नजरबंद किया गया है। हनुमानगढ़ी के महंत राजू दास, हिंदू महासभा के महंत परशुराम दास भी नजरबंद हैं। तपस्वी छावनी के संत परमहंस को उनके आश्रम में नजरबंद किया गया है।
रामलला के दर्शन के बाद उनका सरयू नदी के किनारे होने वाली आरती में शामिल होने का कार्यक्रम था, लेकिन वह न तो सरयू आरती करेंगे न ही किसी प्रकार की जनसभा होग।कोरोना वायरस के खतरे को लेकर दोनों कार्यक्रम रद्द कर दिए गए हैं।

इससे पहले जून 2019 में उद्धव ठाकरे अयोध्या गए थे और भगवान राम की पूजा अर्चना की थी। उनके साथ शिवसेना के 18 सांसद भी अयोध्या गए थे।

सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड: अयोध्या मामले में होली के बाद ट्रस्ट का फैसला

शिवसैनिक बड़ी संख्या में अयोध्या पहुंचे

बता दे कि बहरहाल, उद्धव ठाकरे के दौरे से पहले शिवसैनिक बड़ी संख्या में अयोध्या पहुंच गए थे। शिव सैनिकों लेकर एक विशेष रेलगाड़ी शुक्रवार शाम मुंबई से अयोध्या पहुंचीं। वहीं उत्तर प्रदेश के कई जिलों से भी शिव सैनिक अयोध्या पहुंचे हैं।

केंद्र द्वारा शहर में विवादित स्थल पर राम मंदिर के निर्माण की देखरेख के लिए एक ट्रस्ट का गठन किए जाने के एक महीने बाद ठाकरे अयोध्या आ रहे हैं। ठाकरे ने 28 नवंबर, 2019 को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी।

अयोध्या में भगवान राम का मंदिर बनाएगी ये दिग्गज कंपनी, जानें इसके बारे में सबकुछ

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App