×

अब ये रहेगी मंगल पांडेय की जन्मतिथिः सरकारी अभिलेखों में होगा बदलाव

योगी सरकार की तरफ से जन्मतिथि को सही करने के लिए औपचारिक रूप से पहल किया जायेगा । सरकार की तरफ से विकिपीडिया मुख्यालय को मंगल पांडेय के जन्म से सम्बंधित सभी प्रमाण व वारिसों का पत्र भेजा जाएगा

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 21 July 2020 8:56 AM GMT

अब ये रहेगी मंगल पांडेय की जन्मतिथिः सरकारी अभिलेखों में होगा बदलाव
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

बलिया । प्रथम स्वाधीनता संग्राम के नायक मंगल पांडेय की जयंती को लेकर चल रहे विवाद का पटाक्षेप करने के लिए संसदीय कार्य राज्य मंत्री आनन्द स्वरूप शुक्ल ने प्रयास तेज कर दिया है । मंगल पाण्डेय के वारिसों ने मंगल पांडेय के जन्म से सम्बंधित अभिलेख उपलब्ध करा दिया है । योगी सरकार की तरफ से अभिलेखों के जरिये विकिपीडिया मुख्यालय से सम्पर्क कर जन्मतिथि को दुरुस्त करने का शीघ्र अनुरोध किया जायेगा ।

कल पूरी जानकारी मुख्यमंत्री को देंगे

प्रथम स्वतंत्रता संग्राम के नायक शहीद मंगल पांडेय के जन्म तिथि को लेकर विवाद व असमंजस की स्थिति शीघ्र समाप्त होने के आसार हैं । सूबे के संसदीय कार्य राज्य मंत्री आनन्द स्वरूप शुक्ल स्वयं आगे आये हैं । 19 जुलाई की सुबह संसदीय कार्य राज्य मंत्री को इस मामले की जानकारी हुई । उन्होंने शहीद मंगल पांडेय के वारिसों से सम्पर्क कर उनके जन्म से सम्बंधित अभिलेख व आपत्ति पत्र प्राप्त कर लिया है ।

उन्होंने आज न्यूजट्रैक से बातचीत में कहा कि विकिपीडिया दस्तावेज के आधार पर अपना पोस्ट करती है , इसलिए विकिपीडिया मुख्यालय को अभिलेख के जरिये इस पूरे मामले की जानकारी दी जायेगी । उन्होंने जानकारी दी कि शहीद मंगल पांडेय के वंशजों से उन्होंने जन्म से सम्बंधित प्रमाण प्राप्त कर लिया है । वह कल इस मामले की जानकारी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को देंगे ।

पढ़ाई जो मन को भाएः वर्चुअल लैब से बनाया जा सकता है, कक्षाओं को रुचिकर

योगी सरकार की तरफ से जन्मतिथि को सही करने की पहल

इसके बाद योगी सरकार की तरफ से जन्मतिथि को सही करने के लिए औपचारिक रूप से पहल किया जायेगा । सरकार की तरफ से विकिपीडिया मुख्यालय को मंगल पांडेय के जन्म से सम्बंधित सभी प्रमाण व वारिसों का पत्र भेजा जाएगा । उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार राष्ट्रवादी सरकार है । भविष्य में शहीद मंगल पांडेय की जयंती को लेकर कोई उहापोह की स्थिति न उत्पन्न हो , इसके लिए सरकार की तरफ से प्रयास किया जायेगा । उन्होंने दावा किया कि अगले वर्ष से पूरे देश में प्रथम स्वतंत्रता संग्राम के पहले अमर सेनानी की जयंती 30 जनवरी को ही मनाया जायेगा ।

विकिपीडिया द्वारा शहीद मंगल पांडेय का गलत जन्मतिथि

विकिपीडिया द्वारा शहीद मंगल पांडेय का गलत जन्मतिथि अंकित होने के कारण जयंती को लेकर पूरे देश में भ्रम की स्थिति उत्पन्न हो गई है । विकिपीडिया के पोस्ट में मंगल पांडेय की जन्मतिथि 19 जुलाई 1827 प्रदर्शित किया गया है , जबकि उनका वास्तविक जन्म तिथि 30 जनवरी 1831 है । शहीद मंगल पांडेय के पैतृक गांव व जनपद में 30 जनवरी को ही उनकी जयंती पर विविध कार्यक्रम होते हैं ।

अनोखा प्यारः अस्पताल की खिड़की पर चढ़ जाता था, मां के दीदार को

1857 में प्रथम स्वाधीनता संग्राम का बिगुल बजाया था

मंगल पाण्डेय भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के ऐसे सेनानी थे, जिन्होंने वर्ष 1857 में प्रथम स्वाधीनता संग्राम का बिगुल बजाया था । ईस्ट इंडिया कंपनी की 34 वीं बंगाल इंफेन्ट्री के सिपाही मंगल पांडेय को तत्कालीन अंग्रेजी शासन ने बागी करार दिया था । मारो फिरंगी को नारा भारत की स्वाधीनता के लिए सर्वप्रथम आवाज उठाने वाले क्रांतिकारी मंगल पांडेय की जुबां से ही निकला था ।

ब्रह्मचारी ब्राह्मण थे मंगल पाण्डेय

मंगल पाण्डेय ब्रह्मचारी ब्राह्मण थे । इसके बाद भी वह ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी की सेना में शामिल हो गए थे । उनके पिता का नाम सुदिष्ट पांडेय तथा माता का नाम जानकी देवी था। मंगल पाण्डेय, गिरिवर पांडेय एवं ललित पांडेय तीन भाई थे। छोटे भाइयों की संतानों में महावीर पांडेय एवं महादेव पांडेय हुए। इसमें महावीर पांडेय के एक मात्र पुत्र बरमेश्वर पांडेय ने वर्ष 1942 के भारत छोड़ो आंदोलन में प्रमुख सहभागिता निभाई थी । स्वाधीनता संग्राम में महत्वपूर्ण भूमिका को लेकर भारत सरकार द्वारा उनके सम्मान में वर्ष 1984 में एक डाक टिकट भी जारी किया गया था ।

रिपोर्टर- अनूप कुमार हेमकर, बलिया

लाल जी टंडन का पार्थिव शरीर उनके पैतृक आवास चौक के लिए हुआ रवाना, देखें तस्वीरें

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story