×

मणि मंजरी राय केस: घेरे में आये परिजन व रिश्तेदार, ये भी पुलिस की निगाह में

मनियर की अधिशासी अधिकारी मणि मंजरी राय की मौत के मामले में चालक चंदन वर्मा से पूछताछ व मणि मंजरी का सी डी आर खंगालने के बाद मामले के घेरे में मणि मंजरी के परिजन व उनके नजदीकी रिश्तेदार के साथ ही बैरिया के नायब तहसीलदार रजत सिंह भी आ गये हैं ।

Newstrack
Updated on: 13 July 2020 8:36 AM GMT
मणि मंजरी राय केस: घेरे में आये परिजन व रिश्तेदार, ये भी पुलिस की निगाह में
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

बलिया ।मनियर की अधिशासी अधिकारी मणि मंजरी राय की मौत के मामले में अब जांच नायब तहसीलदार रजत सिंह की तरफ भी मुड़ गई है । उधर अधिशासी अधिकारी की मौत के बाद चालक चंदन वर्मा की पिटाई को लेकर मणि मंजरी के परिजन व नजदीकी रिश्तेदार भी पुलिसिया जांच के घेरे में आ गए हैं ।

चालक चंदन वर्मा से पूछताछ की

मनियर की अधिशासी अधिकारी मणि मंजरी राय की मौत के मामले में चालक चंदन वर्मा से पूछताछ व मणि मंजरी का सी डी आर खंगालने के बाद मामले के घेरे में मणि मंजरी के परिजन व उनके नजदीकी रिश्तेदार के साथ ही बैरिया के नायब तहसीलदार रजत सिंह भी आ गये हैं । चालक चंदन वर्मा से कड़ी पूछताछ के बाद नया खुलासा हुआ है कि चालक को मणि मंजरी की मौत के दो दिन बाद मणि मंजरी के एक नजदीकी रिश्तेदार के जिला मुख्यालय पर स्थित एक तकनीकी विद्यालय पर बुलाया गया ।

यहां होता है खोये लगेज का बड़ा धंधा

चालक की जमकर पिटाई की

सूत्रों के अनुसार तकनीकी विद्यालय पर चालक की जमकर पिटाई की गई । चालक ने पूछताछ में खुलासा किया है कि अधिशासी अधिकारी की मोबाइल पर किसी से शादी को लेकर भी बातचीत होती थी । चालक का कहना है कि वह पूर्वान्ह 10 बजे से 4 बजे तक ही मणि मंजरी के साथ रहता था । चालक ने यह भी सनसनीखेज खुलासा किया है कि वह अधिशासी अधिकारी के बिचौलिए का भी काम करता था । चालक ने जानकारी दी है कि वह अधिशासी अधिकारी के लिए नगर पंचायत अध्यक्ष व ठेकेदारों से कमीशन की धनराशि वसूल कर लाने का काम करता था । चालक का यह भी कहना है कि इस काम के लिए उसे मैडम कुछ धन भी देती रही हैं । उसने पूछताछ के दौरान यह भी स्वीकार किया है कि कमीशन की रकम लाने के दौरान कुछ रकम वह स्वयं हजम कर जाता था ।

कांप उठा बॉलीवुड: ऐसे विदा बोल कर गई ये दिग्गज अभिनेत्री, शोक की लहर

परिजन पुलिस के सामने नहीं आ रहे

चालक का बयान है कि इसी मामले को लेकर उसे अधिशासी अधिकारी के एक नजदीकी रिश्तेदार के जिला मुख्यालय स्थित तकनीकी विद्यालय पर मणि मंजरी की मौत के दो दिन बाद बुलाया गया तथा विद्यालय पर उसपर हजम की गई धनराशि को देने के लिए दबाव बनाया गया । यही नही इसी को लेकर उसकी पिटाई भी की गई ।

इस खुलासे के बाद पुलिस ने चालक के बयान को सत्यापित करने के लिए मणि मंजरी के दो रिश्तेदारों को तलब किया है, लेकिन रिश्तेदार एक विपक्षी नेता से दबाव बनाकर पुलिस के समक्ष उपस्थित होने में टालमटोल कर रहे हैं । इस मामले के हाई प्रोफाइल होने के बाद त्वरित जांच में जुटी पुलिस ने मणि मंजरी के मोबाइल नंबर के सी डी आर को भी खंगाला है । इसमें यह स्पष्ट हो गया है कि मणि मंजरी की नायब तहसीलदार रजत सिंह से हमेशा बातचीत होती रहती थी ।

चालक ने मणि मंजरी व नायब तहसीलदार रजत सिंह के मध्य रिश्तों को लेकर भी पुलिस को जानकारी दी है । न्यूजट्रैक की तहकीकात में यह भी स्पष्ट हुआ है कि मणि मंजरी की मौत के मामले की विवेचना कर रही पुलिस ने बयान देने के लिए मृतिका के परिजनों को तलब किया है , लेकिन परिजन पुलिस के सामने आ नही रहे ।

रिपोर्टर- अनूप कुमार हेमकर, बलिया

बाढ़ से मची तबाही: चपेट में आये सैकड़ों गांव, घर छोड़कर लोग पलायन को मजबूर

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story