×

हत्या का खुलासा: अधिशासी अधिकारी की मौत का मामला, वाहन चालक गिरफ्तार

मनियर नगर पंचायत की अधिशासी अधिकारी मणि मंजरी की मौत के मामले में पुलिस ने आज उसके वाहन चालक रहे चंदन वर्मा को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है । गिरफ्तारी की पुष्टि अपर पुलिस अधीक्षक संजय यादव ने न्यूजट्रैक से बातचीत में की है ।

Newstrack
Published on: 16 July 2020 8:39 AM GMT
हत्या का खुलासा: अधिशासी अधिकारी की मौत का मामला, वाहन चालक गिरफ्तार
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

बलिया । मनियर नगर पंचायत की अधिशासी अधिकारी मणि मंजरी राय की मौत के मामले में पुलिस ने आज वाहन चालक चंदन वर्मा को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है । उधर इस मामले में संलिप्तता के साक्ष्य प्राप्त होने के उपरांत पुलिस ने आरोपी नगर पंचायत अध्यक्ष व दो कर्मचारियों की गिरफ्तारी के प्रयास तेज कर दिया है ।

चंदन वर्मा को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया

मनियर नगर पंचायत की अधिशासी अधिकारी मणि मंजरी की मौत के मामले में पुलिस ने आज उसके वाहन चालक रहे चंदन वर्मा को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है । गिरफ्तारी की पुष्टि अपर पुलिस अधीक्षक संजय यादव ने न्यूजट्रैक से बातचीत में की है । उन्होंने बताया कि इस मामले में आरोपी नगर पंचायत अध्यक्ष भीम गुप्ता सहित दो अन्य कर्मचारियों विनोद सिंह व अखिलेश की भी गिरफ्तारी का प्रयास जारी है ।

एल-1 हॉस्पिटल में साफ सफाई व भोजन व्यवस्था बेहतर हो: जय प्रताप सिंह

मुझे माफ कर दीजिए

उल्लेखनीय है कि मनियर नगर पंचायत की अधिशासी अधिकारी मणि मंजरी राय ने गत 6 जुलाई की रात्रि बलिया शहर में स्थित आवास पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर लिया था। इस दौरान उन्होंने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा था । अधिशासी अधिकारी ने सुसाइड नोट में लिखा है ' सारी भैया, सारी मम्मी पापा । दिल्ली बनारस हर जगह से खुद को संभालकर आ गई , लेकिन यहां आकर मेरे साथ बहुत छलावा हुआ । मुझे फसाया गया पूरी रणनीति के तहत । मुझे माफ कर दीजिए । इस मामले में बलिया शहर कोतवाली में भारतीय दंड विधान की धारा 306 ( आत्महत्या करने के लिए प्रेरित करना ) में मनियर नगर पंचायत अध्यक्ष भीम गुप्ता, सिकंदरपुर नगर पंचायत के मौजूदा अधिशासी अधिकारी संजय राव ,टैक्स लिपिक विनोद सिंह , कम्प्यूटर ऑपरेटर अखिलेश , एक अन्य व कुछ अज्ञात लोगों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया गया ।

खिलाड़ियों की खोज: गाँवों से हो रही शुरुआत, प्रतिभा खोज प्रतियोगिता का आयोजन

मुकदमा किया दर्ज

गाजीपुर जिले के भांवरकोल थाना क्षेत्र के कनुवान ग्राम के रहने वाले विजया नन्द राय की शिकायत पर मुकदमा दर्ज किया गया है । विजया नन्द राय ने शिकायत में उल्लेख किया है कि उसकी बहन मणि मंजरी राय की अधिशासी अधिकारी के पद पर बलिया जिले में पहली नियुक्ति रही है । नगर पंचायत अध्यक्ष , कुछ कर्मचारी तथा कुछ ठेकेदार गलत तरीके से टेंडर व भुगतान करवाने के लिये नाजायज दबाव बना रहे थे । वह इसका विरोध कर रही थी । इससे वह लोग उससे सख्त नाराज रहते थे । इसी के चलते उनकी बहन ने जिलाधिकारी से मिलकर तीन महीने के लिए जिला मुख्यालय पर सम्बद्ध करा लिया था । नगर पंचायत मनियर में कार्यभार संभालने के बाद बिना उसकी जानकारी के चेयरमैन भीम गुप्ता , टैक्स लिपिक विनोद सिंह व कम्प्यूटर ऑपरेटर अखिलेश द्वारा उसकी बहन का फर्जी हस्ताक्षर कर शासन से पैसा मंगाया गया ।

बहन ने किया विरोध

इसकी जानकारी होने पर उसकी बहन ने विरोध किया था । नगर पंचायत चैयरमैन ने उसकी बहन से नगर पंचायत बोर्ड की स्वीकृति की प्रत्याशा में लगभग दो करोड़ रुपये का 35 कार्यो का टेंडर पिछले फरवरी माह में आमंत्रित कराया था । नगर पंचायत बोर्ड का प्रस्ताव न आने के कारण टेंडर नही कराया गया । नगर पंचायत अध्यक्ष भीम गुप्ता द्वारा बिना टेंडर कराये फर्जी तरीके से 35 कार्यो की पत्रावली बनाकर कार्य कराने हेतु आदेश देने के लिए उसके बहन के उपर दबाव बनाया जा रहा था । इसकी शिकायत उसकी बहन ने अपर जिलाधिकारी , बलिया से की थी । उसकी बहन के उपर मनियर नगर पंचायत के पूर्व अधिशासी अधिकारी संजय राव, जो वर्तमान समय में सिकंदरपुर में कार्यरत हैं, भी दबाव बना रहे थे । बहन की गाड़ी का ड्राइवर भी उन लोगों से मिला हुआ था ।

दलित किसान दंपत्ति की बर्बर पिटाईः राहुल, मायावती दोनों भड़के

अज्ञात लोग बना रहे दबाव

कुछ अज्ञात लोग फोन के माध्यम से गलत कार्य करने के लिए दबाव बना रहे थे । वह जब बहन से मिलने आता था तो बहन उसे यह जानकारी देती थी । फोन के माध्यम से भी उसके द्वारा उत्पीड़न की बात बताया जाता था । इन्हीं कारणों से ऐसी परिस्थितियां बन गई कि उसकी बहन अत्यधिक दबाव में आ गई तथा आत्महत्या करने पर विवश हो गई । मणि मंजरी बलिया शहर के हरपुर मुहल्ले में स्थित आवास विकास कालोनी में किराए के मकान में रहती थी । उधर पुलिस अब इस मामले में नगर पंचायत से सम्बंधित अभिलेख खंगालने का कार्य करेगी ।अधिशासी अधिकारी मणि मंजरी के तैनाती से लेकर मौत के पूर्व तक नगर पंचायत में हुए कार्यो से सम्बंधित सभी अभिलेख खंगाले जायेंगे ।

रिपोर्टर- अनूप कुमार हेमकर, बलिया

नेपाल: अयोध्या के बयान पर विवाद, विपक्ष ने कहा- PM ओली ने नैतिक आधार खोया

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story