×

खिलाड़ियों की खोज: गाँवों से हो रही शुरुआत, प्रतिभा खोज प्रतियोगिता का आयोजन

प्रदेश के समस्त 821 विकास खण्डों की एक-एक ग्राम पंचायतों में मनरेगा के अन्तर्गत क्रीड़ा स्थलों का विकास कराया जायेगा। उन्होंने यह भी कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में प्रतिभावान खिलाड़ियों की खोज के लिए भारत सरकार से धनराशि प्राप्त होते ही प्रतिभा खोज प्रतियोगिता का आयोजन किया जायेगा।

Newstrack
Updated on: 16 July 2020 7:49 AM GMT
खिलाड़ियों की खोज: गाँवों से हो रही शुरुआत, प्रतिभा खोज प्रतियोगिता का आयोजन
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

लखनऊ: इस साल अक्टूबर से ग्रामीण क्षेत्रों के लिए ब्लाक, जनपद, जोन एवं राज्य स्तरीय एथलेटिक्स, वाॅलीबाल, कब्बड्ी, कुश्ती एवं भारत्तोलन आदि खेल प्रतियोगिताओं के आयोजन की तैयारी की जा रही है। प्रदेश में ग्राम पंचायत स्तर पर गठित 38058 युवक मंगल दल एवं 29794 महिला मण्डल दलों ने कोविड-19 में अपनी सक्रिय भूमिका निभाई है। इन मंगल दलों ने राशन वितरण, मास्क तथा सेनेटाइजर वितरण एवं प्रवासी कामगारों की वापसी पर उन्हें क्वारंटाइन करने हेतु ग्राम स्तरीय निगरानी समिति से जुड़कर अपना योगदान दिया है।

इस यूनिवर्सिटी में हड़कंपः गायब हो गई भुगतान की हस्ताक्षर वाली फाइल

क्रीड़ा स्थलों का विकास कराया जायेगा

प्रदेश के समस्त 821 विकास खण्डों की एक-एक ग्राम पंचायतों में मनरेगा के अन्तर्गत क्रीड़ा स्थलों का विकास कराया जायेगा। उन्होंने यह भी कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में प्रतिभावान खिलाड़ियों की खोज के लिए भारत सरकार से धनराशि प्राप्त होते ही प्रतिभा खोज प्रतियोगिता का आयोजन किया जायेगा। इससे दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्रों के प्रतिभावान खिलाड़ियों को आगे आने का अवसर प्राप्त होगा।

कोरोना का कहर: अस्पताल में तड़पते मरीज, नहीं मिल रहा इलाज, भगवान भरोसे राज्य

कई राज्यों के युवाकल्याण विभागों ने हिस्सा लिया

अपर मुख्य सचिव, युवा कल्याण श्रीमती डिम्पल वर्मा ने बताया कि केंद्रीय खेल एवं युवा कार्यक्रम मंत्रालय द्वारा आयोजित वेबिनार में व्यक्त किये। कार्यक्रम का शुभारम्भ केन्द्रीय युवा कार्यक्रम एवं खेल राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) किरेन रीजीजू ने किया था। वीडियो कान्फें्रसिंग के माध्यम से आयोजित इस संवाद कार्यक्रम में कई राज्यों के युवाकल्याण विभागों ने हिस्सा लिया। उन्होंने बताया कि युवा कल्याण विभाग, एनएसएस तथा नेहरू युवा केन्द्र संगठन ने मिलकर जनजागरूकता के माध्यम से लाखों लोंगों को आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करने के लिए प्रेरित किया गया। फिट इण्डिया मूवमेंट में भी युवा कल्याण विभाग की सक्रिय भूमिका रही है। विभाग द्वारा युवक मंगल दलों के माध्यम से ग्राम स्तर पर अनेक गतिविधियाॅं तथा महानिदेशालय स्तर पर फिट इण्डिया प्लागिंग रन (कूड़ा बीनते हुए दौड़ना) का सफल आयोजन किया गया है।

रिपोर्ट- श्रीधर अग्निहोत्री, लखनऊ

महाराष्ट्र: यरवडा जेल बैरक से 5 विचाराधीन कैदी फरार

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story