मायावती क्लोज चैप्टर हैं उत्तर प्रदेश की राजनीति में: सतीश महाना 

मेरा पत्रकार मित्रों से निवेदन है कि जो चैप्टर क्लोज हो गया है उसका नाम नहीं लें । मायावती निश्चित रूप से खत्म है । दरअसल, प्रदेश के दो जनपदों में कमिश्नरी लागू होने पर मायावती ने ट्वीट कर निशाना साधा था ।

कानपुर: कैबिनेट मंत्री सतीश महाना ने बसपा सुप्रीमों मायावती पर पलटवार करते हुए कहा कि मायावती क्लोज चैप्टर है उत्तर प्रदेश की राजनीति में । उनका नाम लोग लें इस लिए वो ऐसा करती है । मेरा पत्रकार मित्रों से निवेदन है कि जो चैप्टर क्लोज हो गया है उसका नाम नहीं लें । मायावती निश्चित रूप से खत्म है । दरअसल, प्रदेश के दो जनपदों में कमिश्नरी लागू होने पर मायावती ने ट्वीट कर निशाना साधा था ।

दलगत राजनीति से ऊपर उठकर सख्त कानूनी करे सरकार

मंगलवार को कैबिनेट मंत्री सतीश महाना एक कार्यक्रम में शिरकत करने के पहुंचे थे । मायावती ने ट्वीट में लिखा था कि उत्तर प्रदेश में केवल कुछ जगह पर पुलिस व्यवस्था बदलने से नहीं बल्कि अपराधिक तत्वों के विरूद्ध दलगत राजनीति से ऊपर उठकर सख्त कानूनी कार्रवाई करने से ही प्रदेश की बदहाल कानून व्यवस्था में सही सुधार आ सकता है जिसकी तरफ सरकार को जरूर ध्यान देना चाहिए । इस ट्वीट पर पलटवार करते हुए सतीश महाना ने मायावती को क्लोज चैप्टर बताया है ।

ये भी देखें : दुबई में भयानक तूफान, बुर्ज खलीफा पर गिरी बिजली, ऐसा रहा नजारा

मीडिया से बात करते हुए कहा कि लोग इस देश में अस्थिरता फैलाना चाहते है जिनका वास्तविकता से कोई लेना देना नहीं है । सीएए का जो नोटिफिकेशन जारी हुआ और बिल बना उसकी सभी कॉपियां लेकर खड़े हो और ये बताएं कि यह लिखा हुआ है कि इसकी नागरिकता चली जाएगी । कुछ न कुछ लिखापढी में होगा जिसमें सरकारें काम करती है मुंह जुबानी नहीं करती है । वो उनके पास है नहीं ।

हमारा देश विश्व में अपनी पहचान बना रहा है

जिन्होने भ्रम से देश को इतने सालों तक चलाया है । इस देश की जनता को रोटी, कपड़े और मकान की जरूरतें भी पूरी करने में सक्षम थे । आज सभी जरूरतें पूरी होने के बाद हमारा देश विश्व में अपनी पहचान बना रहा है । आज जब हमारा देश उस असहाय लोगों को जिनका पाकिस्तान, बंगलादेश में जिन हिंदूओं के साथ में अत्याचार होता है । जिनकी बहन और बेटियां वहां पर अपमानित होती है । उन लोगों के प्रधानमंत्री ने एक नियम बनाया है कि हम उनकों नागरिकता देंगें इस देश में ।

ये भी देखें : ईरानी लड़ाकू महिलाएं: अमेरिका भी लड़ने से पहले सोचेगा 10 बार

हिंदू यदि हिंदूस्तान में नहीं रहेगा तो वो दुनिया में कहां जाएगा । उसमें भी इन लोगों को परेशानी है । जिनके पास कोई मुद्दा नहीं है जिनको जनता नकार चुकी है । अब वो भ्रम फैलाकर अपना काम कर रहे है लेकिन बहुत सारे लोग उसको समझ रहे है अब उनकी दुकाने इसमें भी बंद हो जाएगीं ।