अस्पताल के डायरेक्टर ने जहर खाकर दी जान, ड्राइवर से कही ये बात, मचा हड़कंप

मेरठ शहर के आनंद अस्पताल के निदेशक हरिओम आनंद ने कथित रुप से जहर खाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस के अनुसार थाना नौचंदी के शास्त्रीनगर स्थित…

मेरठ: मेरठ शहर के आनंद अस्पताल के निदेशक हरिओम आनंद ने कथित रुप से जहर खाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस के अनुसार थाना नौचंदी के शास्त्रीनगर स्थित एच ब्लाक निवासी हरिओम आनंद ने गढ़ रोड के मुरालीपुर स्थित अपने फार्म हाउस पर सल्फास खा लिया था। एसएसपी अजय साहनी का कहना है कि पुलिस मामले की जांच में जुटी है। उधर, थाना मेडिकल पुलिस प्रभारी कुलवीर सिंह ने प्रथम दृष्टया जांच के आधार पर बताया है कि हरिओम आनंद ने जहर खाकर आत्महत्या की है। आत्महत्या के पीछे क्या वजह है, इस बारे में उनका कहना था कि अभी जांच चल रही है। उसके बाद ही कुछ कहा जा सकेगा।

ये भी पढ़ें: हम है तब तक भारत की ज़मी को कोई को भी नहीं सकता…

यह है मामला…

उधर, घटना के बारे में जो जानकारी मिली है उसके अनुसार गढ़ रोड स्थित आनंद अस्पताल के प्रबंध निदेशक हरिओम शनिवार को अपने चालक फारूख के साथ कार में सवार होकर एक बजे गढ़ रोड स्थित मुरलीपुर में अपने फार्म हाउस पर गए थे। पुलिस के मुताबिक, वहीं पर हरिओम आनंद ने सल्फास खा लिया। उनके हाथ से सल्फास की डिब्बी मिली है, जिसमें कुछ गोलियां बची हुई है।

ये भी पढ़ें: विमान हादसा टला: रनवे पर टिड्डियों का आतंक, प्लेन की लैंडिंग से पहले हुआ ये…

पुलिस के अनुसार हरिओम आनंद ने अपने चालक फारूख को बताया कि उन्होंने जहर खा लिया है। अब वह नहीं बच पाएंगे। तभी चालक उन्हें कार में बैठाकर फार्म हाउस से सीधे आनंद अस्पताल में भर्ती कराया जहां शाम करीब पांच बजे हरिओम आनंद को चिकित्सकों ने मृ़त घोषित कर दिया। पुलिस घटना के बारे में हरिओम आनंद के करीबियों के साथ ही परिवार के लोगों से भी पूछताछ कर रही है।

ये भी पढ़ें: सावधान पेंशनधारक: इस दिन से कटेंगे आपके पैसे, जाने लें इसके बारें पूरी जानकारी

हालांकि अभी तक घटना की वजह के बारे में परिवार के सदस्यों व पुलिस ने तो कुछ नही बताया है, लेकिन चर्चा है कि हरिओम पर करीब 400 करोड़ रुपए का कर्ज था। अस्पताल के वित्तीय संकट और विवादों के कारण एक बार पहले भी हरिओम आनंद आत्महत्या का प्रयास कर चुके हैं।

रिपोर्ट: सुशील कुमार, मेरठ

ये भी पढ़ें: पाकिस्तान की साजिश फेल: 3 आतंकी गिरफ्तार, निशाने पर थी दिल्ली और ये बड़ नेता