वाराणसी, प्रयागराज, आगरा, मेरठ, गोरखपुर व झांसी में जल्द दौड़ेगी मेट्रो रेल

सूबे के मुखिया सीएम योगी ने कहा कि शहरों में रहने वाली जनता को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए नगरों का सतत एवं समग्र विकास आवश्यक है। उन्होंने नगरीय परिवहन संसाधनों के बेहतर विकास पर बल दिया है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी देश की शहरी आबादी को बेहतर परिवहन सुविधा एवं प्रदूषण रहित वातावरण उपलब्ध कराने के लिए लगातार कार्य कर रहे हैं।

लखनऊ: सूबे के मुखिया सीएम योगी ने कहा कि शहरों में रहने वाली जनता को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए नगरों का सतत एवं समग्र विकास आवश्यक है। उन्होंने नगरीय परिवहन संसाधनों के बेहतर विकास पर बल दिया है।

उन्होंने कहा कि पीएम मोदी देश की शहरी आबादी को बेहतर परिवहन सुविधा एवं प्रदूषण रहित वातावरण उपलब्ध कराने के लिए लगातार कार्य कर रहे हैं।

बता दें कि सीएम योगी आज यहां इन्दिरा गांधी प्रतिष्ठान में ‘12वीं अर्बन मोबिलिटी इण्डिया (यू0एम0आई0) कॉन्फ्रेंस एवं एक्सपो’ के उद्घाटन सत्र को सम्बोधित कर रहे थे।

यह भी पढ़ें. रामलला कमाते हैं दिन के ₹1000, सरकार बढ़ा सकती है सैलरी

यह भी पढ़ें.  10 करोड़ की होगी मौत! भारत-पाकिस्तान में अगर हुआ ऐसा, बहुत घातक होंगे अंजाम

इस दौरान उन्होंने कहा कि शहरी जीवन को बेहतर बनाने की दिशा में यह कॉन्फ्रेंस महत्वपूर्ण साबित होगी। उत्तर प्रदेश के लिए इस प्रकार के आयोजन और अधिक महत्व रखते हैं, क्योंकि राज्य के शहरी निकायों में प्रदेश की 23 प्रतिशत आबादी निवास करती है। उनको बेहतर सुविधाएं दिलाना वर्तमान राज्य सरकार की प्राथमिकताओं में शामिल है।

यह भी पढ़ें.  भूखा मरेगा पाकिस्तान! इन देशों के सामने झोली फैलाने को तैयार

उन्होंने कहा कि प्रदेश में 17 नगर निगम हैं, जिनमें 10 नगर निगम केन्द्र सरकार द्वारा स्मार्ट सिटी के रूप में चयनित हैं। शेष सात नगर निगम को प्रदेश सरकार अपने संसाधनों से बेहतर बनाने की दिशा में कार्य कर रही है।
इसके साथ ही सीएम योगी ने कहा कि सरकार मेट्रो को बढ़ावा देने का कार्य कर रही है। आज मेट्रो रेल शहरी जीवन की लाइफ-लाइन बन गयी है। लखनऊ मेट्रो रेल परियोजना के उत्तर-दक्षिण कॉरिडोर को रिकॉर्ड समय में पूरा किया गया।

प्रदेश के 06 अन्य शहरों में दौड़ेगी मेट्रो…

आज ही कानपुर मेट्रो रेल परियोजना का शिलान्यास भी किया जा रहा है। प्रदेश के 06 अन्य शहरों में भी मेट्रो रेल परियोजना या मेट्रो लाइट की शुरुआत की जाएगी।  इनमें आगरा, मेरठ, प्रयागराज, वाराणसी, गोरखपुर व झांसी शहर शामिल हैं। इन सभी की डी0पी0आर0 तैयार की जा रही है। शीघ्र ही यहां पर मेट्रो का काम दिखायी देने लगेगा।

उन्होंने वैज्ञानिकों से आह्वान किया कि परिवहन के लिए ऐसी तकनीक विकसित करें, जो प्रदूषण रहित और सर्वसुलभ हो। राज्य सरकार द्वारा ‘उत्तर प्रदेश इलेक्ट्रिक व्हीकल्स मैन्युफैक्चरिंग एण्ड मोबिलिटी पॉलिसी-2019’ तैयार की गयी है, जिससे आमजन को बेहतर परिवहन सुविधाएं मिल सकें।

देश में विद्युत चालित वाहनों के सबसे अधिक उपभोक्ता उत्तर प्रदेश में हैं। आज आवश्यकता इस बात की है कि लोगों को इलेक्ट्रिक व्हीकल्स के लाभ के विषय में अवगत कराया जाए।