भूखा मरेगा पाकिस्तान! इन देशों के सामने झोली फैलाने को तैयार

पाकिस्तान में अब दाने-दाने को लाले पड़ गये है। खबर है कि मंदी की मार झेल रहे पाकिस्तान में खाद्य उत्पादों की कीमतों में भारी उछाल दर्ज किया गया है। बता दें कि इनमें सबसे ऊपर टमाटर है, जो बाजार में 300 रुपये किलो बिक रहा है।

नई दिल्ली: पाकिस्तान में अब दाने-दाने को लाले पड़ गये है। खबर है कि मंदी की मार झेल रहे पाकिस्तान में खाद्य उत्पादों की कीमतों में भारी उछाल दर्ज किया गया है। बता दें कि इनमें सबसे ऊपर टमाटर है, जो बाजार में 300 रुपये किलो बिक रहा है।

पाकिस्तान सांख्यिकी ब्यूरो…

हालांकि पाकिस्तान सांख्यिकी ब्यूरो के अनुसार पाकिस्तान की इमरान सरकार ने टमाटर की अधिकतम कीमत 180 रुपये प्रति किलो तय की है।

यह भी पढ़ें.  10 करोड़ की होगी मौत! भारत-पाकिस्तान में अगर हुआ ऐसा, बहुत घातक होंगे अंजाम

आपको बता दें कि पाकिस्तान के थोक मंडी से लेकर खुदरा मंडी के हालात और बिगड़ते जा रहे हैं। स्थिती तो ये हो गई है कि पाकिस्तान को टमाटर मंगवाने के लिए दूसरे देशों की मदद के लिए सोच रहा है।

आर्टिकल 370 के पाकिस्तान…

पाकिस्तान की यह हालत भारत की वजह से हुई है। केन्द्र की मोदी सरकार द्वारा 5 अगस्त 2019 को जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाया गया। उसके बाद से ही भारत, पाकिस्तान से कारोबार पूरी तरह से बंद कर दिया है। बताया जाता है कि इसके बाद टमाटर के दामों में इजाफा हो गया।

यह भी पढ़ें.  रामलला कमाते हैं दिन के ₹1000, सरकार बढ़ा सकती है सैलरी

पाकिसतान में लगातार बढ़ रही महंगाई…

भारत ने पाकिस्तान की कायराना हरकत के को करारा जवाब कई तरह से दिया है। इसमें एक था पाकिस्तान को मोस्ट फेवर्ड नेशन की लिस्ट से बाहर करना, इसके तहत कई चीजों का आयात-निर्यात बंद कर दिया गया। आपको बता दें कि भारत की रणनीति में टमाटरों की सप्लाई को रोकना था।

बता दें कि इसके बाद से पाकिस्तान प्याज-टमाटर और दूसरी खाने-पीने की चीजों के दाम लगातार बढ़ते गए। इसके बाद पाकिस्तानी सरकार ने कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के खिलाफ भारत से कारोबार रोक दिया। इसके बाद वहां मंदी की मार से जूझ रहे लोग 300 रुपये किलो टमाटर खरीदने को मजबूर हैं।

यह भी पढ़ें.  जहरीली हवा में जी रहे आप, बचने के लिए करें ये उपाय 

सड़क के रास्ते इंपोर्ट-एक्सपोर्ट…

जानकारी के लिए बता दें कि दोनों देशों के बीच सड़क के रास्ते से सब्जियों समेत करीब 138 वस्तुओं का इंपोर्ट-एक्सपोर्ट होता रहा है, इसमें चीनी, चाय, ऑयल केक, पेट्रोलियम ऑयल और कच्ची कपास, सूती धागे, टायर, रबड़, डाई, केमिकल जैसे 14 प्रोडक्ट के अलावा सब्जियों में टमाटर और मिर्च भी हैं, अटारी-बाघा मार्ग से यहां से रोज 75 से 100 ट्रक टमाटर जाता था, जिस पर अब पूरी तरह से रोक लगी हुई है।

दूसरे देशों से मांग रहा सहायता…

माना जा रहा है कि टमाटर की कीमतों में आग लगने के बाद आम लोगों में भड़का गुस्सा कम करने के लिए इमरान सरकार एक नई कोशिस में है। स्थिती तो ये हो गई है कि पाकिस्तान को टमाटर मंगवाने के लिए ईरान की मदद के लिए सोच रहा है।

राष्‍ट्रीय खाद्य सुरक्षा मंत्रालय ने कहा…

राष्‍ट्रीय खाद्य सुरक्षा मंत्रालय के सचिव मुहम्‍मद हाशिम पोपालजई ने कहा कि हम ईरान से टमाटर के आयात पर मंजूरी देने की सोच रहे हैं।

यह भी पढ़ें. एटम बम मतलब “परमाणु बम”, तो ऐसे दुनिया हो जायेगी खाक!

हालांकि पहले निर्यातकों के साथ बैठक में इस प्रस्‍ताव पर सोचा जाएगा, बता दें कि ईरान टमाटर उत्पादक देशों में छठे नंबर पर आता है। साल 2017 में ईरान में लगभग 62 लाख टन टमाटर का उत्पादन हुआ था. वहीं पाकिस्तान टमाटर उपजाने में 36वें नंबर पर आता है। खास बात यह है कि यहां बलूचिस्तान में काफी टमाटर उपजाए जाते हैं लेकिन इस साल असमय बारिश के कारण फसल खराब हो गई।