गिरफ्तार हुआ बाहुबली विधायक, यूपी पुलिस कर रही आगे की जांच

यूपी के भदोही की ज्ञानपुर विधानसभा सीट से बाहुबली विधायक विजय मिश्रा को मध्य प्रदेश पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

गिरफ्तार हुआ बाहुबली विधायक, यूपी पुलिस कर रही आगे की जांच

गिरफ्तार हुआ बाहुबली विधायक, यूपी पुलिस कर रही आगे की जांच

लखनऊ: यूपी के भदोही की ज्ञानपुर विधानसभा सीट से बाहुबली विधायक विजय मिश्रा को मध्य प्रदेश पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। विधायक के आगर जिले के तनोड़िया से गिरफ्तार होने की सूचना है। बताया जा रहा है कि विधायक को देर रात गिरफ्तार किया गया है। पुलिस उन्हें पूछताछ के लिए आगर लेकर आ रही है। माना जा रहा है कि यहां से उन्हें यूपी पुलिस को सौंप दिया जाएगा। मिश्रा पर कई आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं। कल विधायक वीडियो जारी करके हत्या की आशंका जताई थी।

ये भी पढ़ें:नौकरियां ही नौकरियां: डिफेंस कॉरिडोर से लाखों को रोजगार, जल्द होगी शुरूआत

गिरफ्तार हुआ बाहुबली विधायक, यूपी पुलिस कर रही आगे की जांच

विजय मिश्रा, निषाद पार्टी के टिकट पर विधानसभा चुनाव जीते थे

विजय मिश्रा, निषाद पार्टी के टिकट पर विधानसभा चुनाव जीते थे, बाद में उन्होंने पार्टी छोड़ दी थी। विजय मिश्रा ने गुरुवार को वीडियो जारी करके अपनी हत्या की आशंका जताते हुए कहा था कि ब्राह्मण होने के नाते उन्हें परेशान किया जा रहा है और पुलिस कभी भी उनका एनकाउंटर कर सकती है। विजय मिश्रा ने कहा कि मेरी पत्नी रामलली और बेटे विष्णु को फर्जी मामले में फंसाया जा रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि ब्राह्मण होने के नाते उन्हें परेशान किया जा रहा है, क्योंकि वो ब्राह्मण होकर चार बार से विधायक हैं। विजय मिश्रा यह कहते दिख रहे हैं कि उनके साथ ये सब इसलिए हो रहा है ताकि बनारस या चंदौली का कोई माफिया यहां आकर चुनाव लड़ सके। बलिया के किसी बेटे को चुनाव लड़ने की बात भी कर रहे हैं, इसीलिए उनकी हत्या कराई जा सकती है।

एसपी के वीडियों में कहा

विजय मिश्रा का वीडियो जारी होने के बाद भदोही पुलिस द्वारा इसका खंडन करते हुए एसपी रामबदन सिंह ने भी वीडियो जारी किया। एसपी के वीडियों में कहा गया था कि विधायक विजय मिश्र ने असत्य तथ्यों को आधार बनाकर अपने आपराधिक कृत्यों से ध्यान भटकाने के लिए वीडियो बनाया गया है। यह जनता में भ्रम फैलाने के उद्देश्य से जारी किया गया। उनके खिलाफ 73 मुकदमे दर्ज हैं।

गिरफ्तार हुआ बाहुबली विधायक, यूपी पुलिस कर रही आगे की जांच

ये भी पढ़ें:आजादी की वर्षगांठ पर कोरोना की छायाः 74 साल बाद कुछ ऐसे हैं इंतजाम

बता दे कि विधायक के ही रिश्तेदार कृष्णमोहन तिवारी ने विधायक विजय मिश्र, उनकी पत्नी रामलली मिश्र और उनके पुत्र विष्णु मिश्र के खिलाफ मारपीट करने और उनकी संपत्ति हड़पने का आरोप लगाते हुए बीती 08 अगस्त को मुकदमा दर्ज कराया था।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App