आजादी की वर्षगांठ पर कोरोना की छायाः 74 साल बाद कुछ ऐसे हैं इंतजाम

 कल 15 अगस्त देश आजादी का जश्न मना रहे हैं।  74 साल में देश के लोगों ने काफी कुछ देखा। कई तरह की चुनौतियों का सामना किया, लेकिन स्वतंत्रता दिवस के कार्यक्रम की चमक कभी फीकी नहीं हुई।

Published by suman Published: August 14, 2020 | 11:33 am
Independence celebration

कोरोना संकट में इस बार अलग होगा लाल किले पर आजादी का जश्न

नई दिल्ली: कल 15 अगस्त देश आजादी का जश्न मनाएगा। कोरोना संकट के बीच इस बार  74 साल में  पहली बार सबकुछ अलग दिखेगा। लेकिन फिर भी स्वतंत्रता दिवस को लेकर जोश कम  नहीं पड़ा है।इस बार लाल किले से प्रधानमंत्री  तिरंगा फहराएंगे।

जिसे देखने के लिए कभी जनता का हुजूम उमड़ पड़ता था वहां पहली बार स्वतंत्रता दिवस समारोह का आयोजन कुछ अलग होगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब लाल किले से देश को संबोधित करेंगे,  वहां जो भी शामिल होंगे  वो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए दूर-दूर बैठे होंगे।

 

यह पढ़ें…विधानसभा का बदला रूख: सचिन पायलट नहीं होंगे CM के बगल में, यहां होगी कुर्सी

 

पीपीई किट पहनकर जवान तैनात

देश में कोरोना वायरस के मामलों में लगातार वृद्धि हो रही है। इसकी वजह से सभी तरह के सार्वजनिक कार्यक्रमों पर रोक लगी हुई है। वहीं, स्वतंत्रता दिवस को लेकर तैयारियां जोरों पर हैं। इस बार लाल किले की प्राचीर से जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के नाम संबोधन देंगे तब वहां कम ही मेहमान नजर आएंगे।

कोरोना के कारण इस बार स्वतंत्रता दिवस समारोह में कई तरह के बदलाव किए गए हैं। कम मेहमानों को बुलाया गया और पीपीई किट पहनकर जवान तैनात रहेंगे।

 

Independence celebration
फाइल

 

6 फीट की दूरी

इस बार समारोह में सिर्फ नेशनल कैडेट कोर (एनसीसी) के 500 बच्चे शामिल होंगे। इन बच्चों में भी हर एक में 6 फीट की दूरी रहेगी। हर साल करीब 3,500 स्कूली बच्चे मौजूद रहते थे। उन्हें प्रधानमंत्री से हाथ मिलाने का मौका भी मिलता था।

यह पढ़ें….मायावती की मूर्तियां: वीडियो वायरल होने पर भड़कीं, दी ये सफाई

ओपन पास जारी नहीं

इस बार समारोह के लिए ओपन पास जारी नहीं किए जा रहे हैं। किले के भी दोनों तरफ सिर्फ 150 मेहमान होंगे। पहले हर साल ऐसे मेहमानों की संख्या 300 से 500 होती थी। कुल मेहमानों की संख्या 2000 के आसपास रखी गई है।

प्रधानमंत्री  को जवानगार्ड ऑफ ऑनर देंगे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को थल सेना, वायुसेना और नौसेना के जवानगार्ड ऑफ ऑनर देंगे।  कोरोना प्रोटोकॉल की वजह से ये जवान चार पंक्तियों में खड़े होंगे और सोशल डिस्टेंसिंग नियमों को बनाए रखेंगे। इनमें करीब 22 जवान और अफसर होंगे।  वहीं, राष्ट्रीय सैल्यूट में 32 जवान और अफसर होंगे, साथ में दिल्ली पुलिस के जवान भी होंगे।

 

यह पढ़ें…दहला फिलीस्तीनः कर रहा UAE-इजरायल की ऐतिहासिक डील रद करने की मांग

दो गज की दूरी सुनिश्चित

इस बार समारोह में कोरोना वॉरियर्स भी शामिल होंगी।खबर है कि कोरोना से ठीक हो चुके कुछ लोगों को भी बुलाया जा सकता है। कोरोना के खतरे को देखते हुए इस बार पूरे इलाके को अच्छी तरह सैनिटाइज किया जा रहा है। इस दौरान जगह-जगह हैंड सैनिटाइजर रखे जाएंगे। सभी के लिए मास्क पहनकर आना जरूरी होगा। बैठने की अलग व्यवस्था होगी और दो गज की दूरी सुनिश्चित की जाएगी।

 

Independence celebration
फाइल

सैन्य महिला अफसर का कोरोना टेस्ट

साथ ही लाल किले पर ध्वाजारोहण की रस्सी हैंडल करने वाली सैन्य महिला अफसर का कोरोना टेस्ट कराया है। पीएम नरेंद्र मोदी की सुरक्षा को देखते हुए महिला सैन्य अफसर का कोरोना टेस्ट कराया गया है। इस तरह से बहुत सारे एहतियात को ध्यान में रखकर कार्यक्रम का आयोजन हो रहा है।

बता दे कि देश में कोरोना संक्रमण के मामले हर दिन बढ़ते जा रहे है। 23 लाख से उपर संक्रमित लोगों की संख्या पहुंच गई है।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App