Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

यूपी में बड़ा खुलासा: बिजली को लेकर करोड़ों लोगों ने किया ये काम, तो क्या होगा एक्शन

यूपी पावर कॉर्पोरेशन के आंकड़ों के मुताबिक 38 प्रतिशत उपभोक्ता ऐसे हैं जिनके यहां जबसे बिजली कनेक्शन लगा है तबसे उन्होंने बिजली का बिल नहीं दिया है।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 23 Oct 2020 9:01 AM GMT

यूपी में बड़ा खुलासा: बिजली को लेकर करोड़ों लोगों ने किया ये काम, तो क्या होगा एक्शन
X
यूपी में बड़ा खुलासा: बिजली को लेकर करोड़ों लोगों ने किया ये काम, तो क्या होगा एक्शन (Photo by social media)
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में बिजली के एक करोड़ से ज्यादा उपभोक्ताओं ने अपना बिल कभी भी नहीं अदा किया है। यूपीपीसीएल चेयरमैन अरविंद कुमार ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि 2.83 करोड़ उपभोक्ताओं में से 1.09 करोड़ ने कभी भी अपना बिजली का बिल नहीं भरा। इनमें से भी 96 प्रतिशत ग्रामीण इलाकों से हैं। खबर है कि इन उपभोक्ताओं पर 68,000 करोड़ रुपयें का बिजली बिल बकाया है।

ये भी पढ़ें:संसद के अंदर 52 साल बाद इस कैंटीन पर लगी रोक, सांसदों को यहां नहीं मिलेगा खाना

बिजली का बिल नहीं दिया है

यूपी पावर कॉर्पोरेशन के आंकड़ों के मुताबिक 38 प्रतिशत उपभोक्ता ऐसे हैं जिनके यहां जबसे बिजली कनेक्शन लगा है तबसे उन्होंने बिजली का बिल नहीं दिया है। साथ ही जिन 1 करोड़ से भी ज्यादा उपभोक्ताओं ने बिल नहीं दिया है उनमे से से 43 लाख उपभोक्ता अकेले पूर्वांचल डिस्कॉम से हैं। जबकि पूर्वाचंल डिस्काम के कुल उपभोक्ता 83 लाख है। कार्पोरेशन के आंकड़ों के अनुसार, पूर्वांचल में करीब पौन चार लाख ऐसे उपभोक्ता हैं जिनका बिजली बिल का बकाया 01 लाख रुपये से ज्यादा है। कार्पोरेशन प्रबंधन का कहना है कि इन आंकड़ों से साफ है कि पूर्वाचंल विद्युत वितरण निगम की स्थिति क्या है।

ये भी पढ़ें:योगी देंगे नियुक्ति पत्र: सहायक अध्यापकों में खुशी की लहर, ऑनलाइन होगा सारा काम

उप्र. विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति के संयोजक शैलेन्द्र दुबे कहते है

इस संबंध में उप्र. विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति के संयोजक शैलेन्द्र दुबे कहते है कि कार्पोरेशन चेयरमैन का ट्वीट काफी हास्यास्पद है। दुबे का कहना है कि इन बकाया बिजली बिलों के लिए केवल बिजली कर्मचारी और जूनियर इंजीनियर या इंजीनियर ही नहीं जिम्मेदार है बल्कि कार्पोरेशन प्रबंधन में बैठे लोग भी बराबर के जिम्मेदार है। दुबे का कहना है कि बिजलीकर्मियों के दबाव में भले ही पूर्वाचंल विद्युत वितरण निगम का निजीकरण नहीं हो पाया हो लेकिन पावर कार्पोरेशन प्रबंधन को अभी भी इस बात का मलाल है। इस बात का पता यूपीपीसीएल के चेयरमैन द्वारा किए गए ट्वीट से चलता है।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story