×

विकास को दिया नया आयाम, बलिया के कर्मठ अधिकारी को लोगों ने ऐसे किया याद

 डीआईजी ने कहा कि निवर्तमान सीडीओ डॉ विपिन की कार्यशैली का कायल हूँ। उनका प्यार ही मुझे आज़मगढ़ से यहां खींच ले आया। डीआईजी ने उनको यहां के प्रशासनिक महकमे का हनुमान बताया। 

suman

sumanBy suman

Published on 5 March 2021 1:35 PM GMT

विकास को दिया नया आयाम, बलिया के कर्मठ अधिकारी को लोगों ने ऐसे किया याद
X
वैश्विक महामारी कोरोना से लड़ाई से लेकर जिले के विकास को एक नया आयाम देने के मामले में भारतीय प्रशासनिक सेवा के उदीयमान अधिकारी डॉ विपिन जैन को बलियावासी भुला नही पाएंगे
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

बलिया: वैश्विक महामारी कोरोना से लड़ाई से लेकर जिले के विकास को एक नया आयाम देने के मामले में भारतीय प्रशासनिक सेवा के उदीयमान अधिकारी डॉ विपिन जैन को बलियावासी भुला नही पाएंगे । एक ईमानदार व कर्मठ अधिकारी के रूप में वह हमेशा याद किये जायेंगे ।

अधिकारी का सफरनामा

चिकित्सक व पुलिस अधिकारी से भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी का सफरनामा तय करने वाले निवर्तमान मुख्य विकास अधिकारी डॉ विपिन जैन को उनके स्थानांतरित होने पर बलिया के लोगों ने भावभीनी विदाई दी ।

यह पढ़ें...दनादन बरसीं लाठियां: लहूलुहान हुए 7 से ज्यादा लोग, अब सामने आई ये सच्चाई

कोरोना से लड़ाई

बलिया के लोगों ने डॉ जैन को उप जिलाधिकारी , संयुक्त मजिस्ट्रेट व मुख्य विकास अधिकारी के रूप में कार्य करते देखा । वैश्विक महामारी कोरोना से लड़ाई में वह अग्रिम पंक्ति में सेनापति के रूप में रहे । स्वयं इस महामारी की चपेट में आये , लेकिन कभी भी कदम डगमगाये नही । बलिया का विकास भवन घपले घोटाले को लेकर कुख्यात है ।

प्रतिनिधियों के दबाव से बेपरवाह

जन प्रतिनिधियों के दबाव से बेपरवाह डॉ जैन ने अपने अल्प कार्यकाल में जिले के विकास को एक नया स्वरूप देने की भरसक कोशिश की । उनके व्यक्तित्व का सकारात्मक पहलू अनेक महत्वपूर्ण योजनाओं को साकार करने में हमेशा सामने आया । जिला मुख्यालय पर सीडीओ आवास एवं जिला जज के आवास के बीच खाली पड़ी जमीन थी।

गंदगी का अंबार

आमतौर पर उसमें गंदगी का अंबार था। लेकिन, उस बेकार पड़ी जमीन को सीडीओ डॉ विपिन जैन ने काफी कम खर्च में एक सुंदर पार्क का रूप दे दिया। लोहे की जाली से बाउंड्री और अंदर चारों तरफ फुल-पौधे लगवाया। खुद अपनी देखरेख में वॉल पेंटिंग कर लोगों को योगा अपनाकर स्वस्थ रहने का संदेश दिया।

यही नहीं, उसके बगल में जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय के गेट के पास जमीन भी बिना काम की पड़ी थी। उस पर कुछ लोग का अस्थाई कब्जा भी था। उसको भी खाली कराकर एक छोटा सा सुंदर पार्क बनाने की पहल की। अब इसका भी काम लगभग 80 फीसदी पूरा हो चुका है। इस प्रकार आईएएस विपिन जैन यहां से जाते-जाते बेकार पड़ी दो जमीनों पर सुंदर पार्क का रूप देते गए।

ballia

प्रशासनिक महकमे के हनुमान रहे डॉ जैन - डी आई जी

सीडीओ डॉ विपिन जैन के ट्रान्सफर के बाद गुरुवार की देर शाम उनका सम्मान समारोह ऑफिसर्स क्लब में बहुत भव्य तरीके से हुआ। इसमें डीआईजी आज़मगढ़ सुभाष चंद दूबे, डीएम अदिति सिंह, एसपी डॉ विपिन ताडा समेत जिले भर के अधिकारी शामिल हुए। जिले के अधिकारियों ने उनके साथ के बिताए पल को साझा करते हुए उनके दिखाए रास्ते पर चलने की बात कही। खासकर कोविड-19 पीरियड में उनके सराहनीय नेतृत्व व कार्य को सबने याद किया।

डीआईजी ने कहा कि निवर्तमान सीडीओ डॉ विपिन की कार्यशैली का कायल हूँ। उनका प्यार ही मुझे आज़मगढ़ से यहां खींच ले आया। डीआईजी ने उनको यहां के प्रशासनिक महकमे का हनुमान बताया।

अधिकारियों के रहे प्रेरणा स्रोत - जिलाधिकारी

जिलाधिकारी अदिति सिंह ने कहा कि डॉ जैन को कोई भी कार्य सौंपा तो कभी दोबारा नहीं कहना पड़ा। अन्य अधिकारियों के लिए यह प्रेरणास्रोत थे। सबको साथ में लेकर बेहतर प्रशासन चलाने की खूबी इनमें है। एसपी ने कहा कि पंचायत चुनाव में इनका अनुभव काफी काम आता, इसलिए मुझे इनकी कमी जरूर खलेगी।

यह पढ़ें...सुशांत की मौत से बेपर्दा होता गया बॉलीवुड, इन मामलों में पहले से ही पड़ चुका है पर्दा

बलिया से मिला स्नेह-प्रेम हमेशा रहेगा याद

निवर्तमान सीडीओ डॉ जैन ने कहा कि इतने प्रेम-स्नेह की कल्पना भी नहीं की थी, जो मुझे बलिया में मिला। बाहर में बलिया पोस्टिंग को लेकर लोगों के मन में तमाम भ्रम है, लेकिन ऐसा यहां कुछ नहीं है। यहां के लोग बहुत अच्छे हैं। यहां से मिला प्रेम-स्नेह मुझे हमेशा याद रहेगा। अधिकारियों की टीम अच्छी बनी और अच्छा काम भी देखने को मिला।

2 साल 4 महीने 26 दिन के कार्यकाल के बाद भी यहां के लोगों का प्रेम देख ऐसा तनिक भी महसूस नहीं हो रहा है कि मेरा ट्रांसफर हो गया है। बलिया से काफी कुछ सीखने को मिला, जो पूरे जीवन काम आएगा। समारोह में एएसपी संजय कुमार, सभी एसडीएम, समाज कल्याण अधिकारी अभय सिंह, ईओ दिनेश विश्वकर्मा, ईओ रेवती मृदुल सिंह समेत जिले के सभी अफसर मौजूद थे।

अनूप कुमार हेमकर

suman

suman

Next Story