पीएम मोदी गिरे गंगा किनारे: अचानक दौड़ा सुरक्षाकर्मी, फिर हुआ ये..

जानकारी के अनुसार ये हादसा उस वक्त हुआ जब पीएम मोदी बोट से गंगा के सफाई का अवलोकन कर रहे थे। हालांकि गिरते वक्त पीएम मोदी संभल चुके थे। गिरते ही उन्हें सुरक्षाकर्मी पकड़कर उठा लिए। जानकारी के अनुसार उन्हें चोट नहीं आई है।

कानपुर: कानपुर दौरे पर पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गंगा किनारे गंगा बैराज की सीढ़ियों पर चढ़ते समय फिसलकर गिर गए। जानकारी के अनुसार ये हादसा उस वक्त हुआ जब पीएम मोदी बोट से गंगा के सफाई का अवलोकन कर रहे थे। हालांकि गिरते वक्त पीएम मोदी संभल चुके थे। गिरते ही उन्हें सुरक्षाकर्मी पकड़कर उठा लिए। जानकारी के अनुसार उन्हें चोट नहीं आई है।

पीएम मोदी गिरे गंगा किनारे: अचानक दौड़ा सुरक्षाकर्मी, फिर हुआ ये | Newstrack

पीएम मोदी गिरे गंगा किनारे: अचानक दौड़ा सुरक्षाकर्मी, फिर हुआ ये #PMModi #NarendraModiFallout #PMModi #NarendraModi

Newstrack ಅವರಿಂದ ಈ ದಿನದಂದು ಪೋಸ್ಟ್ ಮಾಡಲಾಗಿದೆ ಶನಿವಾರ, ಡಿಸೆಂಬರ್ 14, 2019

नेशनल गंगा काउंसिल की पहली बैठक में शामिल होने पहुंचे थे पीएम

बता दें कि नेशनल गंगा काउंसिल की पहली बैठक में शामिल होने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को कानपुर पहुंचे थे बैठक के बाद उन्होंने अटलघाट का निरीक्षण किया। पीएम मोदी खुली मोटरबोट पर बैठकर मां गंगा की अविरलता को परखा।

इस बैठक में उनके साथ उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री, तो वहीं बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत के अलावा गंगा किनारे स्थित सभी पांच राज्यों के कई मंत्री, मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव समेत प्रमुख लोग शामिल हुए।

ये भी पढ़ें—अब कापेंगे बलात्कारी: निर्भया दोषियों को इस तरह होगी फांसी, जाने पूरी प्रक्रिया

कार्यक्रम स्थल पर 12 आईपीएस और एसपी तैनात रहे। सुरक्षा के लिए 21 अपर पुलिस अधीक्षक, 85 डिप्टी एसपी, 75 इंस्पेक्टर, 600 सबइंस्पेक्टर, तीन हजार सिपाही, 600 ट्राफिक सिपाही, 13 कंपनी पीएसी, 6 कंपनी आरपीएफ, 4 ड्रोन कैमरे, 20 नाव को लगाया गया था।

इस नाले का पीएम मोदी ने किया निरीक्षण

पीएम मोदी ने जिस नाले का निरीक्षण किया वह कानपुर का सीसामऊ नाला एशिया का बससे बड़ा नाला है। सीसामऊ नाला 128 साल पुराना नाला है जिसका निर्माण अंग्रेजो ने शहर की गंदगी को बाहर निकाले के लिए कराया था। सीसामऊ नाले से प्रतिदिन 14 करोड़ लीटर प्रदूषित पानी गंगा में गिरता था जिसकी वजह से गंगा प्रदूषित होती थी। सीसामऊ नाले का निर्माण 1992 में हुआ था। लगभग 40 मोहल्लों का पानी सीसामऊ नाले से होकर गंगा में जाता था।

ये भी पढ़ें—राहुल गांधी के बयान पर बीजेपी का ताबड़तोड हमला, गिरिराज सिंह बोले, उधार का…

बता दें कि पीएम मोदी के गिरने का ये वीडियो अब सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। लोग इस पर तरह तरह के कमेंट भी कर रहे हैं।