×

नवरात्रि में मां शीतला के दर्शन से वंचित रहेगी पूर्वांचल की आवाम, ये है बड़ा कारण

पूर्वांचल की इस शक्ति पीठ मां शीतला देवी चौकियां धाम में नवरात्रि के अलावा प्रत्येक शुक्रवार को अपार श्रद्धालुओं की भीड़ मां के दर्शन पूजन के लिए इकट्ठा होती है। लेकिन अब मां के भक्त जनों को रोकने के लिए चौकियां धाम के पन्डा समाज ने कोरोना से बचने के लिए निर्णय लेते हुए मन्दिर के मुख्य द्वार को ही बन्द कर दिया है।

SK Gautam

SK GautamBy SK Gautam

Published on 21 March 2020 2:49 PM GMT

नवरात्रि में मां शीतला के दर्शन से वंचित रहेगी पूर्वांचल की आवाम, ये है बड़ा कारण
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

जौनपुर: कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के चलते अब जनपद में हर स्तर पर सुरक्षा के इन्तजाम किये जा रहे हैं। सरकारी कार्यालयों से लगायत माल एवं सभी सार्वजनिक स्थलो पर जन मानस को रोकने की व्यवस्था किया जा रहा है। यहां तक कि जिला प्रशासन ने धारा 144 लगा दिया है ताकि एक स्थान पर एक समय में पांच आदमी से अधिक इकट्ठा न हो सके।

इसी कोरोना वायरस के चलते जनपद मुख्यालय से तीन किमी. की दूरी पर स्थित चौकियां धाम में बिराजमान पूर्वांचल की आदि शक्ति माता शीतला देवी का दर्शन अब श्रद्धालु जन नहीं कर सकेंगे जब तक कोरोना के प्रकोप से निजात नहीं मिल सकेगी।

श्रद्धालुओं की भीड़ मां के दर्शन पूजन के लिए इकट्ठा होती

बता दें कि पूर्वांचल की इस शक्ति पीठ मां शीतला देवी चौकियां धाम में नवरात्रि के अलावा प्रत्येक शुक्रवार को अपार श्रद्धालुओं की भीड़ मां के दर्शन पूजन के लिए इकट्ठा होती है । लेकिन अब मां के भक्त जनों को रोकने के लिए चौकियां धाम के पन्डा समाज ने कोरोना से बचने के लिए निर्णय लेते हुए मन्दिर के मुख्य द्वार को ही बन्द कर दिया है।

ये भी देखें: लखनऊ में एक दिन पहले तैयार जनता, PM मोदी के आह्वान का ऐसे किया स्वागत

इस सन्दर्भ में मन्दिर के प्रबन्धक एवं पन्डा समाज के अगुआ अजय पन्डा ने जानकारी दिया है कि नवरात्रि सहित प्रतिदिन मां आरती एवं श्रिंगार और पूजन पूरे विधि विधान के साथ पन्डा समाज करने के पश्चात गर्भ गृह के मुख्य द्वार को बन्द कर दिया जायेगा और सभी का प्रवेश वर्जित रहेगा। यही व्यवस्था इस वर्ष चैत के नवरात्रि में बनी रहेगी। पन्डा समाज ने माता के भक्त जनों से अपील किया है कि वे शक्ति पीठ पर आने के बजाय अपने घरों पर ही माता की पूजा अर्चना करे। जब महामारी से राहत मिल जायेगी तब यहाँ आकर दर्शन कर सकते है।

झांकी दर्शन मन्दिर के बाहर से ही किया जा सकेगा

बता दें कि मन्दिर पर दर्शनार्थियों की भीड़ रोकने के लिए जिला प्रशासन ने गम्भीरता के साथ पन्डा समाज के साथ बैठक किया और निर्देश दिया कि पन्डा समाज प्रशासन का सहयोग करे। पन्डा समाज का यह भी मानना है कि माता का झांकी दर्शन मन्दिर के बाहर से किया जा सकता है लेकिन कोरोना वायरस के चलते इस पर भी रोक लगा दिया गया है।

ये भी देखें: युवाओं पर नहीं है कोरोना का असर! इस एक मौत से खुला राज

इसके अलावा जिला प्रशासन ने भीड़ को रोकने के लिए आज 21 मार्च से 15 अप्रैल तक पूरे जनपद में धारा 144 लगा दिया गया है। साथ ही सरकारी तौर पर पूरे जनपद में बृहद प्रचारित कराया जा रहा है कि जनपद वासी भीड़ भाड़ वाले इलाकों में जाने से परहेज करे।

SK Gautam

SK Gautam

Next Story