×

अयोध्या में राम मंदिर विवाद का निस्तारण जल्द हो : इकबाल अंसारी

राम जन्मभूमि बाबरी मस्जिद विवाद को आपसी समझौते के जरिए हल करने की सुप्रीम कोर्ट की कोशिश फेल होने के बाद अयोध्या में बाबरी मस्जिद राम मंदिर पक्षकारों ने बयान दिया है।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 2 Aug 2019 1:13 PM GMT

अयोध्या में राम मंदिर विवाद का निस्तारण जल्द हो : इकबाल अंसारी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

अयोध्या: राम जन्मभूमि बाबरी मस्जिद विवाद को आपसी समझौते के जरिए हल करने की सुप्रीम कोर्ट की कोशिश फेल होने के बाद अयोध्या में बाबरी मस्जिद राम मंदिर पक्षकारों ने बयान दिया है।

इस मुकदमे से जुड़े अहम पक्षकार निर्मोही अखाड़ा अयोध्या शाखा के महंत दिनेंद्र दास ने कहा कि हमें बस कोर्ट के फैसले का इंतजार है। हम पहले भी कह रहे थे कि जब सभी प्रमाण उपलब्ध हैं तथ्य न्यायालय के समक्ष हैं।

ऐसे में विलंब का कोई प्रश्न नहीं है सबूतों गवाहों और तथ्यों के आधार पर न्यायालय अपना निर्णय दे। जिसे हम सभी स्वीकार करेंगे उस स्थान पर भगवान राम का मंदिर था।

ये भी पढ़ें...जुआरी पति ने पत्नी को दांव पर लगाया, हारने पर दोस्तों ने किया गैंगरेप

न्यायालय के फैसले का इंतजार

यह स्पष्ट हो चुका है और अब न्यायालय का फैसला आने में भी देरी नहीं है। अब हमें सिर्फ न्यायालय के फैसले का इंतजार है, न्यायालय अब जल्द से जल्द इस अपना फैसला सुनाए।

वहीं बाबरी मस्जिद ( मामले के मुद्दई इकबाल अंसारी ने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि सुप्रीम कोर्ट अब नियमित रूप से इस मुकदमे की सुनवाई करने जा रहा है यह अच्छी बात है।

हम चाहते हैं कि इस विवाद का जल्द से जल्द निस्तारण हो। आज का दिन इस मुकदमे के लिए बहुत अहम है। आज सुप्रीम कोर्ट ने यह तय कर लिया है कि अब 6 अगस्त से इस मुकदमे की नियमित सुनवाई होगा। हम पहले भी यही कहते रहे हैं इसकी नियमित सुनवाई की जाए और इस मुकदमे का फैसला जल्द आना चाहिए।

न्यायालय सबूत और गवाहों के आधार पर निर्णय करता है और यह सब न्यायालय के समक्ष उपलब्ध है अब फैसला आना चाहिए। अभी तक इस मामले को लेकर पूरे देश भर में लोग राजनीति करते रहे। इसी वजह से यह विवाद हल नहीं हो सका। अगर इसमें राजनीति ना हुई होती तो अब तक इस विवाद का हल हो जाता।

ये भी पढ़ें...जगनमोहन 1 अगस्त से येरुशलम की यात्रा पर, सुरक्षा पर खर्च होंगे इतने लाख रुपये

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story