×

कुशीनगर: बुद्ध की धरती पर 23 जनवरी से मोरारी बापू की रामकथा, जानें क्या है तैयारी

प्रख्यात कथावाचक मोरारी बापू के रहने के लिए होटल रायल रेजीडेंसी में बनाई जा रही कुटिया के साथ ही दो स्विस कॉटेज भी बनाया जा रहा है।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 21 Jan 2021 4:02 AM GMT

कुशीनगर: बुद्ध की धरती पर 23 जनवरी से मोरारी बापू की रामकथा, जानें क्या है तैयारी
X
कुशीनगर: बुद्ध की धरती पर 23 जनवरी से मोरारी बापू की रामकथा, जानें क्या है तैयारी (PC: social media)
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

कुशीनगर: भगवान बुद्ध की परिनिर्वाण स्थली कुशीनगर में सुप्रसिद्ध कथा वाचक मोरारी बापू की रामकथा का आयोजन किया गया है। 23 से 31 जनवरी तक चलने वाले रामकथा को लेकर हाईटेक व्यवस्था की जा रही है। मोरारी बापू फाइव स्टार होटल परिसर में बनी कुटिया में रहेंगे। बापू की 854 वीं रामकथा को लेकर विशेष पंडाल बनाया गया है। जहां सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ख्याल रखा जाएगा।

ये भी पढ़ें:यूपी में फिर अपहरण: बच्चे को अगवाकर मांगी 40 लाख फिरौती, हत्या कर शव फेंका

प्रख्यात कथावाचक मोरारी बापू के रहने के लिए होटल रायल रेजीडेंसी में बनाई जा रही कुटिया के साथ ही दो स्विस कॉटेज भी बनाया जा रहा है। बापू जहां कथा सुनाएंगे वह पंडाल वातानुकूलित होगा। आयोजक मंडल श्रीराम कथा आयोजन यज्ञ समिति कुशीनगर के सदस्य तैयारियों को अंतिम रूप दे रहे हैं। कथा पांडाल में कोरोना गाइड लाइन का पालन करते हुए कुर्सियों के बीच दो गज की दूरी रखी गई है। इसमें कुल पांच सौ लोगों के बैठने की व्यवस्था होगी।

gorakhpur-matter gorakhpur-matter (PC: social media)

इको फैंडली पंडाल बनाया जा रहा परिसर

परिसर को प्राकृतिक एवं पर्यावरण की दृष्टि से सजाया संवारा जा रहा है। सुरक्षा को जिला प्रशासन एक तरफ पल-पल नजर रखे हुए है, तो वहीं प्राइवेट सुरक्षा एजेंसियों ने व्यवस्था आयोजन स्थल से लेकर बापू के रहने वाले स्थलों को अपने जद में ले रखा है। सैकड़ों सशस्त्र सुरक्षा गार्ड तथा पंडाल एवं बापू के विश्राम स्थल की सुरक्षा के साथ-साथ पूरे परिसर को अपने घेरे में ले लिया है।

भक्ति चैनल पर श्रीरामकथा का लाइव प्रसारण

मोरारी बापू की श्रीराम कथा कई भक्ति चैनल पर रामकथा का लाइव प्रसारण होगा। आयोजक टीम ने श्रद्धालुओं से एप व चैनल के माध्यम से कथा का रसपान करने की अपील की है। कार्यक्रम स्थल पर सीमित संख्या में देश के कोने-कोने से आ रहे श्रद्धालुओं के बैठने की व्यवस्था होने के कारण आयोजकों ने स्थानीय लोगों के लिए मोबाइल एप की लांच करने की बात कही है।

murari-babu murari-babu (PC: social media)

ये भी पढ़ें:Tips :आपकी बिंदिया चुरा लेगी साजन की निंदिया, जब लगाते वक्त रखेंगी इसका ध्यान

चुनिंदा श्रद्धालुओं के लिए बनाया गया प्रोटोकाल

कोविड-19 प्रोटोकाल के कारण आयोजकों को जिला प्रशासन ने सीमित संख्या में ही कुर्सियां लगाने की अनुमति दी है। शर्तों में सिटिंग प्लान में दो गज की दूरी व मास्क को अनिवार्य बनाया गया है। सुरक्षा व्यवस्था ऐसी की जा रही है कि बिना पास के कोई भी व्यक्ति प्रवेश नहीं कर सकेगा। इस कार्यक्रम में देश के सुदूर क्षेत्रों से लोग आ रहे हैं।

रिपोर्ट-पूर्णिमा श्रीवास्तव

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story