×

शर्मनाक: रिटायर्ड सिपाही को बेटे-बहू ने घर से निकाला, ASP से लगाई गुहार

जिले के कोतवाली देहात इलाके में एक रिटायर्ड सिपाही अपने बहू बेटी और पौत्र से परेशान होकर दर-दर भटक रहा है। रिटायर्ड सिपाही का आरोप है कि उसके बेटे बहू और पौत्र ने मारपीट कर घर से निकाल दिया है।

Newstrack

By Newstrack

Published on 7 Oct 2020 6:33 PM GMT

शर्मनाक: रिटायर्ड सिपाही को बेटे-बहू ने घर से निकाला, ASP से लगाई गुहार
X
रिटायर्ड सिपाही अपने बहू बेटी और पौत्र से परेशान होकर दर-दर भटक रहा है। आरोप है कि उसके बेटे बहू और पौत्र ने मारपीट कर घर से निकाल दिया है।
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

हरदोई: बेटे के जन्म के बाद एक पिता ने बड़े अरमान सजाए थे और सोचा था कि यही बेटा उसके बुढापे का सहारा बनेगा और उसका न सिर्फ नाम रोशन करेगा बल्कि उसे रोटी देगा लेकिन एक पिता के सारे अरमान पानी मे बह गए और उसी बेटे ने घर से मारकर भगा दिया।

जिले के कोतवाली देहात इलाके में एक रिटायर्ड सिपाही अपने बहू बेटी और पौत्र से परेशान होकर दर-दर भटक रहा है।रिटायर्ड सिपाही का आरोप है कि उसके बेटे बहू और पौत्र ने मारपीट कर घर से निकाल दिया है। 1 साल से वह मंदिर में अपना जीवन यापन कर रहा है। पूरे प्रकरण में अपर पुलिस अधीक्षक ने कोतवाली देहात के प्रभारी निरीक्षक को जांच कर कार्यवाही के निर्देश दिए हैं।

कोतवाली देहात इलाके के धियर महोलिया निवासी बलवंत राम सेवानिवृत्त सिपाही हैं। बलवंत राम बुधवार को एसपी कार्यालय पहुंचे और उन्होंने अपनी प्रताड़ना की कहानी पुलिस के आला अधिकारियों को सुनाई।बलवंत राम का कहना है कि उन्होंने अपनी पत्नी स्वर्गीय कौशल्या देवी के नाम पर एक प्लाट खरीदा था और उसी को बना कर रहे थे।

retired soldier

ये भी पढ़ें...फ्लाइट में महिला ने दिया बच्चे को जन्म, इंडिगो ने दिया ये खास तोहफा

उनका आरोप है कि उनके बेटे बृजेश उसकी पत्नी गुड्डी और उसका पुत्र मुकुल ने मारपीट कर उसे घर से निकाल दिया है और एक साल से वह मन्दिर में जीवन यापन कर रहे है।पीड़ित का यह भी कहना है कि उसके बेटे आदि ने उसके घर का सामान भी बेंच दिया है और वह एक साल से दर दर भटक रहा है।

ये भी पढ़ें...RJD के पूर्व नेता की हत्या का मामला गरमाया, CM को चिट्ठी लिख तेजस्वी ने की ये मांग

बेटे के लिए एक पिता ने तमाम अरमान सजाये थे पाल पोसकर बड़ा किया और विवाह करके एक खुशहाल जीवन दिया।पिता ने यह सपने में नही सोंचा होगा कि जिसके लिए उन्होंने अपनी सारी जिंदगी गंवाई है वही उन्हें रुसवा करेगा।एक साल से तमाम सामाजिक मर्यादाओं को तार तार कर चुके बेटे से फरियाद लगा रहा पिता आखिर थक गया तो पुलिस के पास पहुंच गया।

ये भी पढ़ें...बिहार चुनाव में कितना असरदार होगा लोजपा फैक्टर, किसे नुकसान पहुंचाएंगे चिराग

पीड़ित पिता ने रुंधे गले और आंसुओं से भरी आंखों से जब अपनी कहानी एएसपी अनिल कुमार को बताई तो हर कोई बेटे को कोसने लगा।इस प्रकरण पर एएसपी ने बताया कि प्रकरण में कोतवाली देहात के प्रभारी निरीक्षक को कार्यवाई के लिए निर्देशित किया गया है। कहा कि जल्द ही प्रकरण में कार्रवाई की जाएगी।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story