Top

सावन माह: अब तक का सबसे बड़ा पैदल मार्च, पुलिस की पैनी नज़र

सावन माह शुरू होने के बाद पुलिस ने पूरे जिले में पैनी नजर रखना शुरू कर दी है। अराजकत्तवों को पुलिस ने अपनी मौजूदगी दर्ज करा दी है। अब तक का सबसे बड़ा पैदल मार्च निकालकर पुलिस ने अपराधियों और अराजकत्तवों को कड़ा संदेश दिए है कि गड़बड़ी फैलाने वालों को किसी भी कीमत पर बख्शा नही जाएगा।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 19 July 2019 5:52 AM GMT

सावन माह: अब तक का सबसे बड़ा पैदल मार्च, पुलिस की पैनी नज़र
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

शाहजहांपुर: सावन माह शुरू होने के बाद पुलिस ने पूरे जिले में पैनी नजर रखना शुरू कर दी है। अराजकत्तवों को पुलिस ने अपनी मौजूदगी दर्ज करा दी है। अब तक का सबसे बड़ा पैदल मार्च निकालकर पुलिस ने अपराधियों और अराजकत्तवों को कड़ा संदेश दिए है कि गड़बड़ी फैलाने वालों को किसी भी कीमत पर बख्शा नही जाएगा। लड़के एसपी के नेतृत्व मे महिला और पुरुष कांस्टेबल मिलाकर करीब 700 पुलिसकर्मियों ने पूरे शहर में पैदल मार्च निकाला।

700 पुलिसकर्मियों ने सड़कों पर पैदल मार्च किया

दरअसल सावन माह शुरू होने के बाद कांवड़ियों को लेकर इस बार पुलिस प्रशासन काफी सतर्क दिखाई दे रहा है। आज करीब 7 बजे पुलिस लाईन में अचानक एसपी एस चिनप्पा डीएम इंद्र विक्रम सिंह पहुंचे। उसके बाद पुलिस लाईन के अलावा आसपास थाने की फोर्स को इकट्ठा होने का फरमान सुनाया गया। उसके बाद करीब 700 पुलिसकर्मियों ने एसपी के नेतृत्व में शहर की सड़कों पर पैदल मार्च किया। ये पैदल मार्च जनपद का सबसे बड़ा पैदल मार्च है।

ये भी देखें:आखिर ऐसा क्या हुआ जो एक बार फिर विराट कोहली गुजरेंगे ऑडिशन की गलियों से!

हालांकि अभी तक सावन माह के दौरान कांवड़ियों या फिर उनके साथ किसी तरह की अभद्रता या फिर किसी तरह का बलवा नही हुआ है। लेकिन पुलिस किसी भी कीमत पर लापरवाही बरतना नही चाहती है। यही कारण है कि जिले मे रहने वाले दबंग गुंडे अराजकत्तवों को कङा संदेश दिया है कि 24 घंटे पुलिस की पैनी नजर अराजकत्तवों पर रहेगी।

बाजार मे सभी दुकाने बंद

ये भी देखें:भाई पर बेनामी संपत्ति जब्त होने के बाद मायावती ने खोला बीजेपी के खिलाफ मोर्चा

हालांकि जब इतना बड़ा पैदल मार्च निकाला गया तब करीब सात बजे थे। लोग अपने अपने घरों में थे। बाजार मे सभी दुकाने बंद थी। रोड पर सन्नाट था। इस पैदल मार्च का मकसद था कि शहर मे घूमकर अपनी मोजूदगी दर्ज कराना। लेकिन जब पैदल मार्च ज्यादा लोगो ने देखा नही तो लोगो के दिलों मे खौफ कैसे रहे सकता है। यही पैदल मार्च अगर दिन मे निकाला जाता तो उसका एक अलग असर जनपद वासियों और अराजकत्तवों पर पङता।

ये भी देखें:पड़ोसी पाकिस्तान ने 8 लाख पोर्न साइट्स को किया ब्लॉक, हमारी सरकार कब जागेगी

एसपी एस चिनप्पा का कहना है कि सावन माह को लेकर पैदल मार्च निकाला गया है। जिसमें होमगार्ड से लेकर कांस्टेबल शामिल है। सुबह छात्र छात्राएं और टीचर स्कूल जाते है। उनको भी बताया गया कि किसी तरह की गड़बड़ी देखने पर फौरन पुलिस को सूचित करें।

ये भी देखें:वाराणसी पहुंची प्रियंका गांधी एयरपोर्ट से हुई रवाना ट्रामा सेंटर के लिए

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story