Top

सीतापुर: अतिथि थानेदार बनाने में भी सामंती सोच, वाह रे कप्तान साहब

अंग्रेजों के जमाने की और आजाद भारत की पुलिस में कोई खास अंतर नहीं दिखता। सामंती सोच तब भी थी, आज भी है। खासकर जिस सूबे की सरकार में भी यही सोच हो और जिले का पुलिस कप्तान ठाकुर जाति का हो तो फिर वहां दलितों पिछड़ों को कौन पूछेगा।

Monika

MonikaBy Monika

Published on 7 March 2021 5:54 PM GMT

सीतापुर: अतिथि थानेदार बनाने में भी सामंती सोच, वाह रे कप्तान साहब
X
एसपी ने सवर्ण परिवार की छात्राओं को बनाया अतिथि थानेदार
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

सीतापुर: अंग्रेजों के जमाने की और आजाद भारत की पुलिस में कोई खास अंतर नहीं दिखता। सामंती सोच तब भी थी, आज भी है। खासकर जिस सूबे की सरकार में भी यही सोच हो और जिले का पुलिस कप्तान ठाकुर जाति का हो तो फिर वहां दलितों पिछड़ों को कौन पूछेगा। जी हां, ऐसा ही कुछ महिला दिवस की पूर्व संध्या पर जिले की पुलिस ने कर दिखाया।

अतिथि थानेदार

मिशन शक्ति अभियान

दरअसल, एसपी आर.पी. सिंह ने "मिशन शक्ति" अभियान के द्वित्तीय चरण के अन्तर्गत मेधावी छात्राओं को थानों के प्रभारी के रूप में नियुक्त करने हेतु निर्देशित किया गया था। जिसके तहत थानेदारों ने ज्यादातर सवर्ण परिवार की छात्राओं को ही इस काम के लिए चुना। यह महज एक संयोग रहा अथवा जानबूझ कर ऐसा किया गया यह तो ज़िम्मेदार साहबान ही जाने लेकिन पुलिस की ओर से जारी किया गया प्रेसनोट यह बताता है कि जिन दलितों को न्याय मुश्किल से मिलता है उनके परिवारों की बच्ची को थानेदार बनने का मौका जानबूझ कर नहीं दिया गया। थानावार अतिथि थानेदारों के नाम पढ़िए और समझिए...

लहरपुर में प्रियंका ने संभाला मोर्चा

थाना लहरपुर अन्तर्गत सुश्री प्रियंका पुत्री श्री दिनेश कुमार निवासी साहपुर थाना लहरपुर, वर्तमान छात्रा मॉडर्न पब्लिक इंटर कॉलेज लहरपुर सीतापुर को प्रभारी निरीक्षक लहरपुर द्वारा थाना प्रभारी नियुक्त किया गया। कार्यकारी थाना प्रभारी द्वारा सर्वप्रथम थाने का कार्यभार ग्रहण करते हुए सबका परिचय प्राप्त किया गया। तत्पश्चात थाने पर दैनिक कार्यों के साथ-साथ जन समस्या निवारण एवं क्षेत्र भ्रमण करते हुए शहर बाजार चौराहा कस्बा लहरपुर पर बिना हेलमेट मोटरसाइकिल चलाने वाले वाहन चालकों की चेकिंग कराते हुए एमवी एक्ट के अंतर्गत चालान कराया गया।

अटरिया में श्रद्धा बाजपेई को जिम्मेदारी

थाना अटरिया में ज्ञानदीप डिग्री कॉलेज पांडे पुरवा की बीए द्वितीय वर्ष की छात्रा श्रद्धा बाजपेई पुत्री श्री अरुण कुमार बाजपेई निवासी अटरिया को कार्यकारी थाना प्रभारी के रूप में नियुक्त किया गया। जिनके द्वारा आने वाली शिकायतों को ध्यानपूर्वक सुना गया एवं पुलिस द्वारा की जाने वाली कार्यवाही की भी विस्तार में जानकारी ली।

कमलापुर में श्रुति तिवारी

थाना कमलापुर में आरुषि पुत्री आयुष तिवारी निवासी कमलापुर जनपद सीतापुर, राजा बहादुर इंटर कॉलेज की कक्षा 11 की छात्रा है, को थाना प्रभारी बनाते हुए कर्तव्यों की जानकारी दी। साथ ही साथ महिला हेल्प डेस्क की कार्यप्रणाली को समझा।

पिसावां में रागनी अवस्थी

थाना पिसांवा में कुमारी रागिनी अवस्थी पुत्री श्री राजेश अवस्थी निवासी ग्राम गुरसण्डा थाना पिसावा सीतापुर को थाना प्रभारी के रूप में नियुक्त किया गया। कार्यकारी थाना प्रभारी द्वारा बताया गया कि पुलिस निरन्तर सेवारत रहकर समाज की भलाई के लिए कार्य करती है, परन्तु पुलिस द्वारा की जाने वाली मेहनत की जानकारी आम जनता तक नही हो पाने के कारण समाज में अधूरी जानकारी होती है।

मानपुर में स्वीटी सिंह थानेदार

थाना मानपुर में कार्यकारी थाना प्रभारी स्वीटी सिंह को और सीनियर सब इंस्पेक्टर कृतिका देवी को बनाया गया। इस दौरान उन्होने थाने पर आने वाली शिकायतों को सुना, हेल्प डेस्क एवम् कार्यालय में हो रहे कार्यों को समझा।

सदरपुर में त्रिपाठी को मिला अवसर

थाना सदरपुर पर मिशन शक्ति कार्यक्रम के अंतर्गत छात्रा साक्षी त्रिपाठी छात्रा संजू प्रजापति इंटर कॉलेज सेमरी सदरपुर सीतापुर को थाना प्रभारी बनाया गया जिनके द्वारा थाने पर दैनिक कार्यों के साथ-साथ जन समस्या निवारण एवं क्षेत्र भ्रमण करते हुए शहर बाजार चौराहा कस्बा सदरपुर में बिना हेलमेट मोटरसाइकिल चलाने वाले वाहन चालकों की चेकिंग कराते हुए एमबी एक्ट के अंतर्गत चालान कराया गया

सिधौली में परी मिश्रा को मिला मौका

प्रभारी निरीक्षक सिधौली द्वारा थाना सिधौली का चार्ज सैक्रेड हार्ट की कक्षा 9 की छात्रा परी मिश्रा पुत्री रजनीश मिश्रा नि0 मो0 गांधीनगर कस्बा सिधौली को दिया गया। इस दौरान उनके द्वारा महिला जनशिकायतों को सुना गया, महिला हेल्प डेस्क का निरीक्षण किया गया, थाना कार्यालय के रजिस्टर के रखरखाव, कम्प्यूटर कक्ष में प्रथम सूचना रिपोर्ट पंजीकरण की प्रकिया को समझा गया। मालखाना, हवालात का निरीक्षक किया गया एवम् क्षेत्र में भ्रमण कर वाहनों आदि की चेकिंग की गयी।

ये भी पढ़ें : गाजीपुर की बहू दीक्षा राय LLB के प्रथम वर्ष में बनीं गोल्ड मेडलिस्ट

यहां प्रानशी बाजपेयी बनी थानेदार

थाना रामपुरकलां में प्रांशी बाजपेई पुत्री अरविंद कुमार बाजपेई नि0ग्राम मोनोना ,श्री किरण स्मृति आदर्श इंटर कॉलेज गोलिया चौराहा ग्राम मलेथू की छात्रा को थाना प्रभारी बनाया गया। जिनके द्वारा थाना कार्यालय, महिला हेल्प डेस्क, मालखाना, हवालात निरीक्षण किया गया।

तंबौर में सृजिका बाजपेयी

थाना तंबौर में सृजिका बाजपेई पुत्री नीरज बाजपेई वर्तमान नि0 कायस्थन टोला एवम् छात्रा गांजर इंटर कालेज को कार्यकारी थाना प्रभारी नियुक्त कर थाने पर आने वाली शिकायतों को सुना गया एवम् उनके निस्तारण हेतु संबंधित को निर्देशित किया गया।

ये भी पढ़ें : पूर्व राष्ट्रपति डॉ कलाम के बड़े भाई का निधन, 104 साल की उम्र में ली अंतिम सांस

महमूदाबाद में भूमिका सिंह

थाना महमूदाबाद में सीता इंटर कालेज की 12वीं की छात्रा भूमिका सिंह को कार्यकारी थाना प्रभारी नियुक्त किया गया। इस दौरान इनके द्वारा जन शिकायतों की सुनवाई, वाहन चेकिंग, गश्त, भ्रमण आदि पुलिस कार्यवाहियों में प्रतिभाग किया गया।

पुलिस अफसरों का मानना है कि बालिकाओं को थाना प्रभारी के रूप में नियुक्त किये जाने से बालिकाओं एवं महिलाओं में एक अच्छा संदेश गया है। कार्यकारी थाना प्रभारियों के रूप में नियुक्त होने वाली सभी बालिकाएँ इस दौरान काफी उत्साहित रही। सभी द्वारा ऐसा बताया गया कि इस अद्भुत क्षण से वह अपने आप को काफी गौरवान्वित महसूस कर रही थी।

बहरहाल, ज्यादातर थानेदार ब्राम्हण जाति की बनाई गईं हैं। ये भी हो सकता है कि एसपी खुद ठाकुर हैं तो उन्होंने ब्राम्हण बालिकाओं को मौका देकर यह दिखाया कि वे जातिवादी नहीं हैं लेकिन सवाल ये है कि अगर यह मौका दलित शोषित परिवार अथवा उत्पीड़न की शिकार बालिकाओं को मौका दिया जाता तो शायद उनमें समाज और पुलिस के प्रति विश्वाश बढ़ता। पर यहां तो रस्म निभाई गई है।

रिपोर्ट- पुतान सिंह

Monika

Monika

Next Story