×

प्रमुख सचिव बीएल मीणा के खिलाफ लामबंद हुए कर्मचारी, बड़ी रणनीति की तैयारी

शालीनता जब अपनी सीमा क्रास करती है, तभी विवाद का जन्म होता है। इसी तरह का विवाद अब राजधानी लखनऊ के समाज कल्याण विभाग में खड़ा हो गया है।

raghvendra
Updated on: 4 March 2021 2:16 PM GMT
प्रमुख सचिव बीएल मीणा के खिलाफ लामबंद हुए कर्मचारी, बड़ी रणनीति की तैयारी
X
फोटो— सोशल मीडिया
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

लखनऊ। शालीनता जब अपनी सीमा क्रास करती है, तभी विवाद का जन्म होता है। इसी तरह का विवाद अब राजधानी लखनऊ के समाज कल्याण विभाग में खड़ा हो गया है। बताया जा रहा है कि प्रमुख सचिव बीएल मीणा के दुर्व्यवहार और उत्पीड़न से यहां तैनात अधिकारी और कर्मचारी सभी त्रस्त हो गए हैं। आलम यह है कि प्रमुख सचिव बीएल मीणा के दुर्व्यवहार के चलते निदेशक समाज कल्याण बालकृष्ण त्रिपाठी को दिल का दौरा पड़ गया। इस घटना के बाद अधिकरियों और कर्मचारियों में प्रमुख सचिव के खिलाफ गुस्सा फूट गया और सभी ने समाज कल्याण विभाग के भवन में ताला लगाकर प्रदर्शन किया। हालांकि थोड़ी देर बाद सब शांत हो गए और प्रमुख सचिव बीएल मीणा के खिलाफ लंबा मोर्चा खोलने की रणनीति में लग गए हैं।

अभद्र आचरण से सभी परेशान

गौरतलब है कि प्रमुख सचिव बीएल मीणा के बर्ताव से समाज कल्याण विभाग में तैनात सभी अधिकारी और कर्मचारी आहत हैं। आज की घटना के बाद अब प्रमुख सचिव के खिलाफ सभी ने लामबंद होना शुरू कर दिया है। निदेश समाज कल्याण को हार्ट अटैक आने की सूचना पर सभी कर्मचारी ने काम बंद कर समाज कल्याण विभाग के गेट पर ताला जड़कर सड़क पर आ गए। कुछ देर प्रमुख सचिव बीएल मीणा के खिलाफ प्रदर्शन करने के बाद सभी ने आगे लंबी लड़ाई लड़ने की योजना में जुट गए हैं। कर्मचारी में गुस्सा इस बात का भी है कि प्रमुख सचिव बीएल मीणा के अभद्र आचरण की जानकारी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और मुख्य सचिव को भी है। बावजूद इसके उन पर कोई अंकुश नहीं लगाया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें: शामली: तीन कोरोना पॉजिटिव लोगों पर दर्ज हुआ मुकदमा, जानिए क्या है मामला

विभागीय सूत्रों की मानें तो कर्मचारी अब मीणा के खिलाफ आरपार की लड़ाई लड़ने के मूड में हैं। बताया जा रहा है कि कर्मचारी जल्द ही उनके खिलाफ हड़ताल शुरू करने वाले हैं। बताते चलें इससे पहले भी समाज कल्याण के प्रमुख सचिव ने एक बैठक बुलाई थी। इस बैठक में निदेशक समाज कल्याण समिति के कई अधिकारी भी शामिल थे। बैठक में प्रमुख सचिव बीएल मीणा निदेशक समाज कल्याण पर इतना भड़क गए कि उन्होंने अधिकारियों के बीच उनके खिलाफ अभद्र भाषा का प्रयोग करते हुए बदसलूकी की।

इसे भी पढ़ें: अजीत हत्या कांड: बाहुबली धनंजय सिंह पर 25 हजार का इनाम, संपत्तियां होंगी जब्त

raghvendra

raghvendra

राघवेंद्र प्रसाद मिश्र जो पत्रकारिता में डिप्लोमा करने के बाद एक छोटे से संस्थान से अपने कॅरियर की शुरुआत की और बाद में रायपुर से प्रकाशित दैनिक हरिभूमि व भाष्कर जैसे अखबारों में काम करने का मौका मिला। राघवेंद्र को रिपोर्टिंग व एडिटिंग का 10 साल का अनुभव है। इस दौरान इनकी कई स्टोरी व लेख छोटे बड़े अखबार व पोर्टलों में छपी, जिसकी काफी चर्चा भी हुई।

Next Story