UP में तैयारियां तेज: जल्द ही शुरू होंगी खेल गतिविधियां, मंत्री ने दी ये जानकारी

कोरोना संकट के चलते बंद पड़ी खेल गतिविधियां फिर से शुरू की जाएंगी। इसके लिए राज्य सरकार ने तैयारियां शुरू कर दी हैं।

Published by Ashiki Patel Published: September 2, 2020 | 10:04 pm
upendra tivari

युवा कल्याण एवं खेल राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) उपेन्द्र तिवारी (File Photo)

श्रीधर अग्नोहोत्री

लखनऊ: कोरोना संकट के चलते बंद पड़ी खेल गतिविधियां फिर से शुरू की जाएंगी। इसके लिए राज्य सरकार ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। जल्द ही ‘एक जिला-एक खेल’’ परिकल्पना को साकार करने के लिए रणनीति तैयारी शुरू कर दी है।

ये भी पढ़ें: सीमा पर तनाव: चीन-भारत के बीच ब्रिगेडियर स्तर की बैठक खत्म, निकला ये नतीजा

उत्तर प्रदेश के युवा कल्याण एवं खेल राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) उपेन्द्र तिवारी ने कहा कि कोविड-19 महामारी की स्थिति सामान्य होने पर आगामी एक अक्टूबर से खेल प्रशिक्षण शिविर शुरू कराये जायें। चूंकि पूर्व में प्रशिक्षण कार्यक्रम अप्रैल से प्रारम्भ होकर 31 जनवरी तक चलता रहा है, लेकिन कोरोना महामारी के कारण प्रशिक्षण कार्यक्रम स्थगित है। इसलिए प्रशिक्षण कार्यक्रम की अवधि को बढ़ाकर माह मार्च तक किया जाय।

तिवारी ने कहा कि प्रशिक्षण कार्यक्रम प्रारम्भ न होने कारण प्रशिक्षकों को भी मानदेय नहीं मिल पा रहा है। प्रशिक्षण की अवधि बढ़ाये जाने से प्रशिक्षकों को पूरे प्रशिक्षण अवधि का मानदेय प्राप्त होगा। उन्होंने प्रशिक्षण के इच्छुक अभ्यर्थियों को खेलो इण्डिया एप पर रेजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य होगा। प्रशिक्षण कार्यक्रम के दौरान कोरोना महामारी के लिए जारी केन्द्र एवं राज्य सरकार की गाइड लाइन का पूरी तरह पालन सुनिश्चित किया जाय। उन्होंने कहा कि खेल विभाग द्वारा प्रशिक्षण के लिए जो भी सेवाएं लेनी है, वह शासनादेश के अनुरूप जेम पोर्टल से ली जाय।

ये भी पढ़ें: कानपुर लव जिहाद: हुआ बड़ा खुलासा, सामने आया इनका नाम

इंस्टीट्यूशन को और अधिक बेहतर बनाया जाय

तिवारी ने कहा कि खेल विभाग द्वारा संचालित इंस्टीट्यूशन को और अधिक बेहतर बनाया जाय। ‘‘एक जिला-एक खेल’’ परिकल्पना को साकार करने के लिए रणनीति बनाकर तेजी से कार्य किया जाय। उन्होंने कहा कि प्रदेश में जहां-जहां स्टेडियम के निर्माण का कार्य चल रहा है, उसको तय समय-सीमा के अन्दर पूरा कराया जाय। विभागीय अधिकारी सभी निर्माण कार्यों का स्थलीय निरीक्षण करें। वह स्वयं भी औचक निरीक्षण करेंगे। यदि कोई लापरवाही पायी जाती है, तो संबंधित के विरूद्ध कठोर कार्रवाई की जायेगी।

तिवारी ने कहा कि नगरीय क्षेत्रों में स्थापित स्टेडियम तथा ग्रमीण अंचल के मिनी स्टेडियम का उच्चीकरण किये जाने हेतु विस्तृत कार्य योजना बनाई जाय। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में अखाड़े एवं व्यायामशाला को काफी महत्ता रही है। पूरे प्रदेश के अखाड़ा एवं व्यायामशाला की जमीन को चिहिन्त किया जाय।

ये भी पढ़ें: Bigg Boss: शो में नजर आएंगी विवादों से घिरी राधे मां! देखें कंटेस्टेंट की लिस्ट

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App