प्रापर्टी हड़पने के लिए ताऊ ने की भतीजे के साथ ये घिनौनी हरकत, दंग रह जाएंगे

उत्तर प्रदेश के कानपुर में ताऊ ने जमीन हड़पने के लिए ऐसी हरकत जिसे सुनकर सभी हैरान हैं। खेत और प्लाट पर कब्जा करने के लिए ताऊ ने सगे भतीजे की धोखे से नसबंदी करा दी जिससे भतीजे का परिवार आगे न बढ़ सके और पूरी प्रापर्टी पर कब्जा किया जा सके।

कानपुर: उत्तर प्रदेश के कानपुर में ताऊ ने जमीन हड़पने के लिए ऐसी हरकत जिसे सुनकर सभी हैरान हैं। खेत और प्लाट पर कब्जा करने के लिए ताऊ ने सगे भतीजे की धोखे से नसबंदी करा दी जिससे भतीजे का परिवार आगे न बढ़ सके और पूरी प्रापर्टी पर कब्जा किया जा सके। जब युवक और उसके परिवार को इसकी जानकारी हुई सभी सदमें में आ गए। पीड़ित युवक और उसकी बुजुर्ग मां पुलिस से न्याय की गुहार लगा रहे हैं।

कल्याणपुर थाना क्षेत्र स्थित रावतपुर गांव में रहने वाली माधुरी देवी एकलौते बेटे आंनद के साथ रहती हैं। बड़ी बेटी की शादी कर चुकी हैं। वहीं उनके पति की 10 साल पहले मौत हो चुकी थी। माधुरी देवी के 4 बीघे खेत और लगभग 83 गज का प्लाट है। उनकी प्रापर्टी पर जेठ शिवनाथ और उनके बेटे टीटू की नजर थी।

यह भी पढ़ें…LoC से बड़ी खबर: पाकिस्तान ने भेजे 100 स्पेशल कमांडो, भारत टक्कर देने को तैयार

आनंद माधुरी का एकलौता बेटा है जिसकी उम्र 22 साल है। उसकी शादी नहीं हुई थी। आनंद मजदूरी कर के परिवार का खर्च चलाता था। आनंद के ताऊ शिवनाथ ने षडयंत्र रचा कि यदि आनंद की नसबंदी करा दी जाए तो उसका परिवार आगे नहीं बढ़ेंगा और उसकी प्रापर्टी पर कब्जा कर लेंगे।

आनंद ने बताया कि बीते 13 अगस्त की शाम को छपेड़ा पुलिया पर मेरे चचेरे भाई टीटू अपने साथियों के साथ मुझे जेएल रोहतगी अस्पताल ले गए थे। इनके साथ मेरे ताऊ शिवनाथ भी मौजूद थे। मुझसे जबरन सादे पन्ने पर अंगूठा लगवाया था और इसके बाद मुझे डाॅक्टरों ने इंजेक्शन लगा दिया। इसके बाद मैं बेहोश हो गया और सुबह होश आया था।

यह भी पढ़ें…रिजर्व बैंक से सरकार को मिले पैसे का क्या है मतलब?

इसके बाद मै घर आ गया जब अगले दिन मेरे पेट में दर्द हुआ तो मां के साथ हैलट अस्पताल पहुंचा। जब डाॅक्टरों ने मेडिकल परीक्षण किया तो पता चला कि नसबंदी कर दी गई है। माधुरी देवी ने बताया कि मेरे बेटे की धोखे से नसबंदी करा दी गई। अब मेरा परिवार कैसे बढ़ेंगा पुलिस के पास जाते है तो भगा देते हैं।

मेरे जेठ ने प्रापर्टी के लिए बेटे की जिंदगी बर्बाद कर दी। हमारा तो अब जीना भी बेकार है। हमारा प्रापर्टी को लेकर जेठ से विवाद चल रहा था। हम अपनी फरियाद लेकर कल्याणपुर थाने गए, वहां से हमें स्वरूप थाने भेजा गया इसके बाद काकादेव थाने गए, लेकिन हमारी कहीं सुनवाई नहीं हुई। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि हमें न्याय नहीं मिला तो मिट्टी का तेल डालकर आत्महत्या कर लेंगे।

यह भी पढ़ें…स्मृति ईरानी के अमेठी दौरे का कार्यक्रम, मिलेंगी ये बड़ी सौगातें

सीओ कल्याणपुर अजय कुमार के मुताबिक माधुरी नाम की महिला ने जनशिकायत प्रकोष्ठ में शिकायत की है। उसकी जांच की जा रही है इसमें जो भी दोषी होगा उसके विरूद्ध कार्यवाई की जाएगी।