Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

शाहजहांपुर: करंट की चपेट में आने से छात्र झुलसा, अस्पताल में भर्ती

आर्मी की तैयारी के लिए दौड़ लगा रहा 11वीं का छात्र करंट की चपेट मे आ गया। जिससे वह गंभीर रूप से झुलस गया। परिजनों का आरोप है कि गांव मे बिजली की लाईन खींची जा रही है। लेकिन कर्मचारी तार खुले छोङकर चले जाते हैं।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 30 March 2019 8:07 AM GMT

शाहजहांपुर: करंट की चपेट में आने से छात्र झुलसा, अस्पताल में भर्ती
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

शाहजहांपुर: आर्मी की तैयारी के लिए दौड़ लगा रहा 11वीं का छात्र करंट की चपेट मे आ गया। जिससे वह गंभीर रूप से झुलस गया। परिजनों का आरोप है कि गांव मे बिजली की लाईन खींची जा रही है। लेकिन कर्मचारी तार खुले छोङकर चले जाते हैं। आज जमीन पर पड़े तारों मे करंट आ रहा था। जिससे छात्र चपेट मे आ गया। फिलहाल छात्र को जिला अस्पताल मे भर्ती करा दिया गया है। जहां उसका इलाज किया जा रहा है।

घटना थाना मदनापुर के नगला बनु निवासी रामशुभा का 15 साल का बेटा प्रदीप सिंह शुक्रवार की रात गांव मे दौङ लगा रहा था। प्रदीप 11वीं क्लास मे पङता है। गांव की रोड के किनारे 11 हजार लाईन का तार जमीन पर पङा था। तभी दौड़ लगाते वक्त छात्र बिजली के तारों की चपेट मे गया। जिससे वह गंभीर रूप से झुलस गया।

ये भी पढ़ें...शाहजहांपुर: शर्त लगाकर तालाब में कूदे दो लड़के, एक की मौत

मौके पर मौजूद लोगो ने जैसे तैसे छात्र को बचा लिया। उसके बाद परिजनों को सूचना दी। परिजनों ने छात्र को जिला अस्पताल मे भर्ती कराया। जहां उसका इलाज किया जा रहा है। डाक्टर की माने तो छात्र की हालत गंभीर है।

झुलसे छात्र के पिता राम शुभा ने बताया कि उसकी पांच बेटी और बेटा प्रदीप है। वह खुद ट्रक चलाता है। बेटा बचपन से जिद करता था कि वह आर्मी मे भर्ती होकर देश की सेवा करेगा। इसलिए वह रोज गांव की सङको पर दौङ लगाता है। रात भी वह दौङ लगा रहा था। तभी वह बिजली के तारों की चपेट मे आ गया। आरोप है कि गांव मे पिछले दो महा से 11 हजार की बिजली की लाईन खींची जा रही है।

रोज बिजली विभाग के कर्मचारी खुले तार सङक पर छोङकर चले जाते है। उन तारों को हटाया नही जाता है। आरोप है कि बिजली विभाग के कर्मचारियों की लापरवाही के चलते ही आज बेटा जिंदगी और मौत के बीच जूझ रहा है।

ईएमओ डाक्टर वीके गंगवार का कहना है कि प्रदीप नाम के छात्र को भर्ती किया गया है। वह बिजली के तारों की चपेट मे आकर झुलस गया है। हालत गंभीर बनी हुइ है। इलाज किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें...शाहजहांपुर: डीएम और एसपी ने चलाया चेकिंग अभियान, एक दर्जन वाहनों के काटे चालान

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story