मुज़फ्फरनगर: लव जिहाद पर बोले सुरेश खन्ना, जल्द पूरे देश में लागू करेंगे कानून

कैबिनेट मंत्री सुरेश खन्ना ने आज मुजफ्फरनगर पहुंचकर लव जिहाद पर बोलते हुए कहा कि बहुत जल्दी लव जिहाद को लेकर एक सख्त कानून बनने जा रहा है, जिसे कैबिनेट में मंजूरी दे दी गई है।

suresh khanna

मुज़फ्फरनगर: लव जिहाद पर बोले सुरेश खन्ना, जल्द पूरे देश में लागू करेंगे कानून

मुजफ्फरनगर: उत्तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री सुरेश खन्ना ने आज मुजफ्फरनगर पहुंचकर लव जिहाद पर बोलते हुए कहा कि बहुत जल्दी लव जिहाद को लेकर एक सख्त कानून बनने जा रहा है, जिसे कैबिनेट में मंजूरी दे दी गई है। यह बहुत गलत है कि माथे पर टीका लगाकर हाथ में कलावा बांधकर हिंदू भाइयों की भोली-भाली बेटियों को बहला-फुसलाकर उन्हें प्रेम जाल में फंसाया जाता है और फिर धर्म परिवर्तन करा जाता है।

ये भी पढ़ें: रायबरेली: पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, मुठभेड़ में पकड़ा गया शातिर बदमाश

जल्द ही पूरे भारत में लागू करेंगे लव जिहाद कानून

उन्होंने कहा कि कई बार इस तरह के मामले भी सामने आए हैं जब धर्म परिवर्तन के बाद महिलाओं की हत्या कर दी जाती है। इसलिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लव जिहाद को लेकर कानून बनाए जाने की पैरवी की। आज इसे कैबिनेट ने मंजूरी दे दी जल्दी हम यूपी में नहीं पूरे भारत में इसे लागू करेंगे।

बहला-फुसला कर धर्म परिवर्तन कराया जाता है…

बता दें कि बुधवार सुबह यूपी सरकार में कैबिनेट मंत्री सुरेश खन्ना मुजफ्फरनगर पहुंचे थे जहां उन्होंने भारतीय जनता पार्टी कार्यालय पर एक पत्रकार वार्ता में हाल ही में हुए उपचुनाव को लेकर भाजपा की जीत की बधाई देते हुए लव जिहाद पर कानून बनाए जाने की वकालत भी की। इस कार्यक्रम में सुरेश खन्ना के साथ-साथ खतौली विधानसभा के विधायक विक्रम सैनी निधि लव जिहाद कानून बनाए जाने की वकालत करते हुए कहा कि हमारी बहन बेटियों को बहला-फुसला कर उन्हें प्रेम जाल में फंसाया जाता है और फिर उनका धर्म परिवर्तन कराया जाता है।

ये भी पढ़ें: रक्षामंत्री राजनाथ सिंह बोले- भाईचारे की मिसाल थे कल्बे सादिक

उन्होंने कहा कि बहुत जल्दी ही लव जिहाद को लेकर यूपी सरकार कानून बनाने जा रही है जो बहुत सख्त कानून होगा और हिंदू बहन बेटियों को बहला-फुसलाकर धर्म परिवर्तन कराने वालों के खिलाफ सख्त कानून बनेगा हम सब ने इस कानून को बनाए जाने की कैबिनेट में पेशकश की थी जिसे मंजूरी दे दी गई है।

रिपोर्ट: अमित कुमार

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App