सरकारी घर में तहसीलदार की हुई पिटाई, BJP सांसद पर आरोप

यूपी के कन्नौज सदर तहसीलदार पर सरकारी आवास में हमला बोल दिया गया। उनके सिर, मुंह, हाथ और पैर में चोट आईं हैं। तहसीलदार ने भाजपा सांसद पर साथियों समेत हमला करने का आरोप लगाया है।

कन्नौज: यूपी के कन्नौज सदर तहसीलदार पर सरकारी आवास में हमला बोल दिया गया। उनके सिर, मुंह, हाथ और पैर में चोट आईं हैं। तहसीलदार ने भाजपा सांसद पर साथियों समेत हमला करने का आरोप लगाया है। मंगलवार को वारदात की सूचना पाकर डीएम राकेश कुमार और एसपी अमरेंद्र प्रसाद सिंह तहसील सदर पहुंचे। यहां तहसीलदार अरविंद कुमार के आवास का मौका मुआयना किया।

सभागार में अफसरों ने काफी देर तक मंथन किया। बाद में तहसीलदार भी पहुंचे। बातचीत का घटनाक्रम बन्द सभागार में चला। डीएम और एसपी के चले जाने के बाद तहसीलदार अरविंद कुमार ने मीडियाकर्मियों को बताया कि दोपहर 12:53 बजे सांसद सुब्रत का फोन आया था, कि उनकी दी हुई सूची के हिसाब से राशन नही बांटा जा रहा है। कई शिकायतें आ रही हैं। फोन पर ही उन्होंने आवास पर आने की धमकी दी।

बीजेपी सांसद सुब्रत पाठक

यह भी पढ़ें…लॉकडाउन से इस सेक्टर को तगड़ा झटका, 80 हजार लोगों की नौकरी खतरे में

आरोप है कि इसके बाद सांसद उनके सरकारी आवास पर आ धमाके। तहसीलदार ने बताया कि उनके दरवाजे में जोर जोर से धक्का मारा जाने लगा। घर मे उनकी पत्नी और आठ साल की बेटी भी है। इसी बीच आवाज सुनकर तहसीलदार ने लेखपाल रामवरन को फोन कर दिया कि कुछ लोग आवास पर आए हैं, देखो कौन लोग हैं। दरवाजे ज्यादा खटखटाने की आवाज सुनकर तहसीलदार ने कुंडी खोल दी। तहसीलदार ने बताया कि देखा तो सांसद उनकी कुर्सी पर बैठे थे। आरोप है कि गाली गलौच करने से मना किया तो सांसद ने हाथ छोड़ दिया। उसके बाद साथ मे आए 30-35 लोगों ने भी हमला बोल दिया।

तहसीलदार ने आरोप लगाया कि सांसद ने साथियों समेत हमला किया है। इससे उनके सिर, हाथ, मुंह और पैर में चोटे आई हैं। हमले की खबर के बाद कोतवाली पुलिस, एसडीएम सदर शैलेष कुमार के बाद एडीएम गजेंद्र कुमार समेत कई अधिकारी मौके पर पहुंचे। बाद में तहसीलदार का मेडिकल परीक्षण को जिला अस्पताल ले जाया गया। बताया गया है इस हमले में लेखपाल रामवरन और सर्वे लेखपाल अमित राय के भी डंडे और झापड़ लग गए। तहसीलदार ने अपने आवास से सांसद के वापस जाते हुए का फोटो भी होने का दावा किया है। साथ मे सुरक्षाकर्मी भी दिख रहा है।

यह भी पढ़ें…यहां पुलिसकर्मियों का होगा कोरोना टेस्ट, जानें क्या है चाय की दुकान से कनेक्शन 

उधर, सांसद सुब्रत पाठक ने बताया कि कुछ लोग आवास पर गए होंगे, पर वह नही थे। तहसीलदार और लेखपाल ने खुद डंडा उठाकर मारपीट की है, इसमे उनके पार्टी के मीडिया प्रभारी सचिन शर्मा और रंजीत कश्यप भी घायल हुए हैं। हाफ पैंट में तहसीलदार के सरकारी आवास से वापस जाते हुए फ़ोटो के सवाल पर कहा वो उनकी नही, किसी और की होगी, जो उनकी तरह हो सकता है। फ़ोटो तो कहीं की वायरल हो सकती है।

उधर देर शाम तक आला आलाधिकारियों के साथ बैठक होती रही। कोतवाली में किसी भी पीड़ित वारदात के बाबत तहरीर नही दी थी। एसडीएम शैलेश कुमार ने बताया कि तहसीलदार ही तहरीर देंगे। उधर, तहसीलदार के रिपोर्ट लिखाने के बाबत पक्ष जानने के लिए फोन किया तो उन्होंने नही उठाया।

रिपोर्ट: अजय मिश्रा