लॉकडाउन से इस सेक्टर को तगड़ा झटका, 80 हजार लोगों की नौकरी खतरे में

कोरोना वायरस के मद्देनजर लागू लॉकडाउन से भारत की अर्थ व्यवस्था चरमरा गयी है। ऐसे में नौकरीपेशा लोगों को तगड़ा झटका लगा है। एक सर्वे के मुताबिक भारत में करीब 80 हजार लोगों की नौकरी लॉकडाउन के कारण खतरे में हैं।

नई दिल्लीः कोरोना वायरस के मद्देनजर लागू लॉकडाउन से भारत की अर्थ व्यवस्था चरमरा गयी है। ऐसे में नौकरीपेशा लोगों को तगड़ा झटका लगा है। एक सर्वे के मुताबिक भारत में करीब 80 हजार लोगों की नौकरी लॉकडाउन के कारण खतरे में हैं।

उद्योग संगठन रिटेलर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (RAI) ने किया सर्वे

दरअसल, उद्योग संगठन रिटेलर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (RAI) ने लॉकडाउन के कारण भारत के उद्योग व व्यापार पर पड़ने वाले असर पर सर्वे किया है। यह सर्वे 768 खुदरा कारोबारियों के बीच किया गया जिनमें 3,92,963 लोगों को रोजगार मिला हुआ है।

ये भी पढ़ेंः जानिए क्या है कोरोना सैंपल कलेक्शन बूथ: यूपी में हुई शुरुआत, ऐसे करेगा काम

जा सकती हैं 80 हजार लोगों की नौकरी

इस सर्वे के मुताबिक, छोटे खुदरा व्यापारी अपनी संस्था/ संगठन में काम करने वालों में से 30 प्रतिशत की छंटनी कर सकते हैं। वहीं मध्यम आकार के खुदरा कारोबारी 12 प्रतिशत और बड़े खुदरा व्यपारी 5 प्रतिशत कर्मचारियों को नौकरी से निकाल सकते हैं। ऐसे में कुल मिलाकर सर्वे में शामिल खुदरा कारोबारियों ने कहा कि वे कार्यबल में 20 प्रतिशत की कटौती कर सकते हैं।

ये भी पढ़ेंःमहामारी से निपटने के लिए सीएम ने की 50-50 लाख के बीमा की घोषणा

78 हजार से ज्यादा कर्मचारी होंगे प्रभावित

इस कटौती से लगभग 78 हजार से ज्यादा कर्मचारी प्रभावित होंगे। बता दें कि छोटे खुदरा व्यापारियों के अंतर्गत 100 से कम कर्मचारी का काम करते हैं तो वहीं मध्यम वर्गीय कारोबारियों के साथ 100 से 1,000 लोग और बड़े खुदरा कारोबारियों में 1,000 से अधिक लोग काम करते हैं।

ये भी पढ़ेंः RBI ने उठाया ये जरुरी कदम: कोरोना वायरस को लेकर किया फैसला

गौरतलब है कि 25 मार्च से जारी ‘लॉकडाउन’ के कारण खाने-पीने का सामान बेचने वाले को छोड़कर 95 प्रतिशत से अधिक दुकानें बंद पड़ी हैं।ऐसे में उनकी आय का जरिया खत्म हो गया है। ऐसे में कई खुदरा व्यापारियों ने अपने यहां काम करने वाले कर्मचारियों की तनखाह करने के साथ ही नौकरी से निकालने का भी इरादा बना लिया है।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।