Top

यूपी में बाढ़ आने की संभावना, इन जिलों में जारी हुआ हाई-अलर्ट

उत्तर प्रदेश के 39 जिलों में मूसलाधार बारिश की चेतावनी दी गयी है। मौसम विभाग ने अलर्ट जारी किया है। पूर्वी और पश्चिमी यूपी के इन जिलों के जिलाधिकारी को संबोधित पत्र में टेलीविजन और रेडियो के माध्यम से लोगों को सचेत रहने की जानकारी प्रसारित करने के लिए कहा गया है।

Vidushi Mishra

Vidushi MishraBy Vidushi Mishra

Published on 12 July 2019 7:04 AM GMT

यूपी में बाढ़ आने की संभावना, इन जिलों में जारी हुआ हाई-अलर्ट
X
up barish
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली : उत्तर प्रदेश के 39 जिलों में मूसलाधार बारिश की चेतावनी दी गयी है। मौसम विभाग ने अलर्ट जारी किया है। पूर्वी और पश्चिमी यूपी के इन जिलों के जिलाधिकारी को संबोधित पत्र में टेलीविजन और रेडियो के माध्यम से लोगों को सचेत रहने की जानकारी प्रसारित करने के लिए कहा गया है।

यह भी देखें... विराट-अनुष्का के रिश्तों पर टीम इंडिया की हार का पड़ा ऐसा असर दोनों हुए अलग

मूसलाधार बारिश की चेतावनी

इसमें 10 जुलाई से 13 जुलाई तक मूसलाधार बारिश की चेतावनी दी गई है। भारत सरकार के पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय मौसम विभाग और राज्य मौसम पूर्वानुमान केंद्र की ओर से अलर्ट जारी किया गया।

इन जिलों में हैं अलर्ट

यूपी के गोरखपुर, कुशीनगर, देवरिया, संतकबीरनगर, महाराजगंज, सिद्धार्थनगर, बस्ती, अंबेडकरनगर, आजमगढ़, गाजीपुर, जौनपुर, प्रतापगढ़, संतरविदासनगर, सुल्तानपुर, सीतापुर, पीलीभीत, प्रयागराज, चंदौली, वाराणसी, कौशांबी, मऊनाथभंजन, फैजाबाद, रायबरेली, गोंडा, बलरामपुर, श्रावस्ती, बहराइच, खीरी, रामपुर, मुरादाबाद, बिजनौर, बांदा, चित्रकूट, फतेहपुर, हमीरपुर, जालौन और झांसी जिले में भारी से भारी बारिश की चेतावनी है।

यह भी देखें... विश्वकप 2019: इधर गिरा धोनी का विकेट, उधर सदमें से हो गई मौत

इस दौरान लोगों को सुरक्षित स्थान पर रहने के लिए कहा गया है। भारत सरकार के प्रति विज्ञान मंत्रालय और मौसम विभाग ने यूपी के रिलीफ कमिश्नर, ऑल इंडिया रेडियो, दूरदर्शन और रीजनल मौसम पूर्वानुमान केंद्र को सचेत रहने के लिए आगाह किया है।

पड़ोसी राष्ट्र नेपाल और उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों में पहाड़ों पर हो रही बारिश ने मैदानी इलाकों में भी असर दिखाया है। पिछले 4 दिनों से हो रही लगातार बारिश ने नदियों का जलस्तर भी बढ़ा दिया है। कई जिलों में बाढ़ की संभावनाओं को देखते हुए प्रशासनिक अधिकारी बैठक भी कर रहे हैं। शहर, गली-मोहल्लों में हर जगह जल-भराव और बाढ़ की स्थिति पैदा हो गई है।

चार दिन तक मूसलाधार बारिश की चेतावनी ने एक बार फिर लोगों की परेशानी बढ़ा दी है। भारी बारिश से जहां लोगों को घरों से बाहर निकलने में परेशानी होगी तो वहीं नौकरी, बिजनेस और स्कूल जाने वाले बच्चों के लिए भी ये बारिश परेशानी का कारण बन सकती है।

यह भी देखें... विधायक को तमंचे पे डिस्को पड़ गया भारी, हो गई कार्रवाई

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story