×

शौचालय में रसोई: अधिकारियों ने घर के मुखिया को दी जेल भेजने की धमकी

बीते दिनों शौचालय में रसोईघर बनाने का मामला सामने आने से जिला प्रशासन में हड़कंप का माहौल है। मीडिया में खबर आते ही आनन-फानन में आलाधिकारी उस ग्रामीण राम प्रकाश के घर पर पहुंच गए जो शौचालय में किचन बनाकर खाना बना रहा था।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 19 Jan 2020 1:01 PM GMT

शौचालय में रसोई: अधिकारियों ने घर के मुखिया को दी जेल भेजने की धमकी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

बाराबंकी: बीते दिनों शौचालय में रसोईघर बनाने का मामला सामने आने से जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया है। मीडिया में खबर आते ही आनन-फानन में आलाधिकारी उस ग्रामीण राम प्रकाश के घर पर पहुंच गए जो शौचालय में किचन बनाकर खाना बना रहा था।

ग्रामीण राम प्रकाश ने बताया कि अधिकारी मेरे पास आए और जेल में बंद करने की धमकी देने लगे। उन्होंने हमसे सादे कागज पर भी साइन कराया। उसी के बाद से मैं और मेरा पूरा परिवार काफी डरा हुआ है। यहां तक कि मेरे बच्चे भी कहने लगे हैं कि पापा यहां से भाग चलो।

दरअसल बीते दिनों देवा थाना क्षेत्र के अकनपुर गांव में एक हैरान करने वाला मामला सामने आया था। जहां शौचालय का रसोई के तौर पर उपयोग किया जा रहा था। जब इनसे इसका कारण पूछा गया तो इनका कहना था कि हमें अभी तक हमें आवास नहीं मिला है।

जिसके चलते झोपड़ी में हम अपनी जीवन काट रहे हैं। मजबूरी में हम शौचालय को रसोईंघर बनाकर यहां खाना बना रहे हैं। खबर मीडिया में आई तो जिला प्रशासन के पैरों तले जमीन खिसक गई। सभी अधिकारी अपनी गलती पर लीपापोती करने में जुट गए।

https://newstrack.com/wp-content/uploads/2020/01/visual-11.mp4

ये भी पढ़ें...परीक्षा पर चर्चा: बाराबंकी के होनहार पीएम मोदी से पूछेंगे सफलता का रास्ता

अधिकारियों ने घर आकर धमकाया

इसी बीच कई अधिकारी उस ग्रामीण राम प्रकाश के घर पहुंचे, जो शौचालय में रसोईंघर बनाए हुआ था। राम प्रकाश का आरोप है कि अधिकारी मेरे पास आए और कहा कि तुम आवास पाने के लिये नाटक कर रहे हो। वह हमें जेल में बंद करने की धमकी देने लगे। जिसके बाद हम सभी कफी डरे हैं।

ग्रामीण राम प्रकाश का अभी भी कहना है कि जिस आवास की बात जिले के आलाधिकारी कर रहे हैं वह उसका पैतृक आवास है। लेकिन उसे किसी भी सरकारी योजना के अंतर्गत कोई भी आवास आज तक नहीं मिला है।

ग्रामीण राम प्रकाश ने बताया कि अधिकारी मेरे पास आए और जेल में बंद करने की धमकी देने लगे। उसी के बाद से मैं और मेरा पूरा परिवार काफी डरा हुआ है। यहां तक कि मेरे बच्चे भी कहने लगे हैं कि पापा यहां से भाग चलो। ग्रामीण ने बताया कि अधिकारियों ने हमसे सादे कागज पर भी साइन कराया।

https://newstrack.com/wp-content/uploads/2020/01/visual-10.mp4

ये भी पढ़ें...बाराबंकी: बारिश का कहर, दिवार गिरने से दो मासूमों की मौत

वहीं गांव के प्रधान का कहना है कि हमने ग्रामीण राम प्रकाश को 10 साल पहले आवास दिलवाया था। उसके पास छह बीघा जमीन और मोटरसाइकिल भी है। प्रधान का कहना है कि हमने खुद इनसे शौचालय में खाना बनाने से मना किया, लेकिन यह लोग मान नहीं रहे थे।

प्रधान ने बताया कि यह लोग अभी तक शौच के लिये बाहर जा रहे थे, लेकिन जब से प्रशासन के लोग आए हैं, यह लोग शौच के लिये शौचालय में ही जा रहे हैं।

ये भी पढ़ें...बाराबंकी: चोरी के आरोप में दबंगों ने युवक को दी रूह कंपा देने वाली ये खौफनाक सजा

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story