ट्रक से कुचलकर दो छात्राओं की हुई दर्दनाक मौत, पाबंदी के बाद भी खुला था स्कूल

उत्तर-प्रदेश के बलिया जिले मे सरकार की पाबंदी के बावजूद स्कूल खोलने का खामियाजा दो परिवारों को भुगतना पड़ा है।घर से स्कूल जा रही दो छात्राओं को बुधवार की…

Published by Deepak Raj Published: March 18, 2020 | 10:11 pm
Modified: March 18, 2020 | 10:12 pm

बलिया। उत्तर-प्रदेश के बलिया जिले मे सरकार की पाबंदी के बावजूद स्कूल खोलने का खामियाजा दो परिवारों को भुगतना पड़ा है।घर से स्कूल जा रही दो छात्राओं को बुधवार की सुबह सड़क हादसे में ट्रक से कुचलकर दर्दनाक मौत हो गयी। इस हृदय विदारक दुर्घटना से नाराज ग्रामीणों ने बिल्थरारोड-नगरा मार्ग को जाम कर दिया।

ये भी पढ़ें-योगी सरकार को कोर्ट ने दी बड़ी राहत: दंगाइयों के पोस्टर हटाने की मिली मोहलत

 

काफी प्रयास के बाद भी जब लोग सड़क से हटने को राजी नहीं हुए तो पुलिस को हल्का बल प्रयोग करना पड़ा। दोनों लड़कियों की शव को कब्जे में लेकर पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिये बलिया भेज दिया है। बताया जाता है कि बिल्थरारोड के समीप उभांव थाना क्षेत्र के फरसाटार गांव के समीप बुधवार की सुबह स्कूल जा रही छात्रा सोनम (12 वर्ष) व अंशु (12 वर्ष) को तेज रफ्तार ट्रक ने कुचल दिया। इससे दोनों की मौके पर ही मौत हो गईं।

 

पुलिस ने दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। घटना से आक्रोशित जनता ने सड़क जाम कर यातायात ठप कर दिया। जनता मृतक के परिजनों को आर्थिक सहायता देने व विद्यालय खोलने वालों पर कार्रवाई की मांग कर रही थी। मौके पर पहुंचे प्रशासनिक अधिकारियों से वार्ता के दौरान अचानक कुछ उत्तेजित ग्रामीणों ने पथराव शुरू कर दिया।

ये भी पढ़ें-शिक्षा के क्षेत्र में योगी सरकार का कमाल, 1.80 लाख बच्चों का हुआ एडमिशन

इसके बाद पुलिस ने लाठी भांजकर जाम करने वालों को खदेड़ दिया। पथराव में एक दारोगा, चार सिपाही समेत 20 लोग घायल हो गए। पुलिस ने मौके से 40 साइकिल व बाइक बरामद की है। इस घटना के बाद से मौके पर तनाव बना हुआ है। ऐहतियातन पुलिस गश्त बढ़ा दी गई है।

तेज रफ्तार की ट्रक दोनों को रौंदते हुए तेजी से भाग निकली

फरसाटार गांव की छात्रा सोनम व अंशु मदर जमिला गर्ल्स इंटर में कक्षा छह की छात्रा थीं। दोनों सुबह घर से स्कूल के लिए निकलीं। सड़क पर आते ही तेज रफ्तार की ट्रक दोनों को रौंदते हुए तेजी से भाग निकली। इस हादसे दोनों की मौके पर ही मौत हो गई। यह देख आस-पास के लोग पहुंच गए।

 

 

घटना से परिजनों में कोहराम मच गया। पुलिस ने मौके पर पहुंच कर दोनों के शव को तत्काल पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।
घटना से आक्रोशित ग्रामीणों व परिजनों ने सरकार की ओर से स्कूल बंद रखने के निर्देश के बावजूद खोले जाने, लापरवाह ट्रक के खिलाफ कार्रवाई व मुआवजे की मांग को लेकर घटनास्थल पर ही चक्का जाम कर दिया।

ये भी पढ़ें-नागरिकों के कॉल रिकॉर्ड मांग रही सरकार, कांग्रेस ने पूछे ये बड़े सवाल

बिल्थरारोड-नगरा मार्ग पर प्रदर्शन करते हुए ग्रामीणों ने आवागमन पूरी तरह ठप कर दिया। बड़ी संख्या में महिलाएं भी घटना के खिलाफ सड़क पर बैठ गई और देखते ही देखते आस-पास के तीन गांवों के लोग उमड़ पड़े। जाम के कारण वाहनों की लंबी कतार लग गई।

 

एसडीएम राजेश कुमार यादव, सीओ रसड़ा केपी सिंह, सिकंदरपुर सीओ पवन कुमार के अलावा उभांव, नगरा, भीमपुरा, रसड़ा समेत बड़ी संख्या में महिला पुलिस बल मौके पर पहुंच गईं। एसडीएम आक्रोशित जनता को कार्रवाई का आश्वासन देकर जाम हटाने के लिए मान मनौव्वल करने लगे। इस बीच कुछ लोगों ने भीड़ को उकसाना शुरू कर दिया।

प्रशासन ने हल्का बल प्रयोग करने का प्रयास किया

स्थिति को भांपकर प्रशासन ने हल्का बल प्रयोग करना चाहा तो भीड़ और उग्रहोकर पुलिस पर पथराव करने लगी। इससे मौके पर भगदड़ मच गई। इसके बाद पुलिस प्रशासन ने भी बवालियों से सख्ती से निपटा और लाठी भांजते हुए बवालियों को खदेड़ दिया। इस दौरान करीब आधा घंटा तक भगदड़ की स्थिति बनी रही।

 

पथराव में तीन सिपाही व करीब डेढ़ दर्जन ग्रामीण जख्मी हो गए। पुलिस ने मौके से 25 साइकिल व 15 बाइक को कब्जे में ले लिया।चार बवालियों को पूछताछ के लिए मौके से पुलिस ने हिरासत में लिया है। बाद में पुलिस ने सड़क दुर्घटना के बाद भाग रहे ट्रक को भी नाकेबंदी कर पकड़ लिया। घटना के बाद गांव के आस-पास तनाव की स्थिति बनी हुई है।

पथराव व लाठीचार्ज में हुए ये घायल

ट्रक से कुचलकर दो छात्राओं की मौत के बाद चक्काजाम के दौरान पुलिस पर हुए पथराव में उभांव थाना के दरोगाश्रीराम सिंह यादव, सिपाही अजय यादव, हरिओम साहनी, धनंजय मांझी व दीपनारायण को गंभीर चोटें आई हैं।

वहीं पुलिस के लाठीचार्ज व भगदड़ में मृत छात्रा सोनम की मां मंजू देवी (45) निवासी छिटकियां, दुलारी देवी (45), राधिका देवी (40), मालती देवी (45), पतिराजी देवी (45), बेबी कुमारी (18), रमाशंकर (55), सोमारिया देवी (50), किरण देवी (25), सोमारी देवी (55), धर्मावती देवी (55), मुकुरधन प्रसाद (57), छांगुर प्रसाद (60) व सचिन (17) आदि घायल हो गईं हैं। सभी घायलों को पैक्सफेड के पूर्व चेयरमैन व बसपा नेता छट्ठू राम ने सीयर सीएचसी में उपचार हेतु भर्ती करवाया।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App