×

TRENDING TAGS :

Election Result 2024

Umesh Pal Murder से पहले वकील हनीफ ने असद के मोबाइल पर भेजी थी उमेश की तस्वीर, चैट वायरल

Umesh Pal Murder Case: उमेश पाल हत्याकांड में पुलिस को जांच में बड़ा खुलासा हुआ है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि अतीक अहमद के वकील सौलत हनीफ ने हत्या से चार दिन पहले उमेश पाल की तस्वीर माफिया के बेटे असद अहमद को भेजी थी।

Prashant Vinay Dixit
Published on: 21 April 2023 1:42 PM GMT (Updated on: 21 April 2023 1:46 PM GMT)
Umesh Pal Murder से पहले वकील हनीफ ने असद के मोबाइल पर भेजी थी उमेश की तस्वीर, चैट वायरल
X
असद अहमद और अतीक अहमद (फोटो: सोशल मीडिया)

Umesh Pal Murder Case: प्रयागराज के चर्चित उमेश पाल हत्याकांड में पुलिस को जांच में बड़ा खुलासा हुआ है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि अतीक अहमद के वकील सौलत हनीफ ने हत्या से चार दिन पहले उमेश पाल की तस्वीर माफिया के बेटे असद अहमद को भेजी थी। जिसके बाद असद अहमद ने वो तस्वीर शूटरों को भेज दी थी। आपको बता दें कि मुठभेड़ में मारे गए असद के फोन की जांच करने पर चैट से ये जानकारी सामने आने की बात कहीं गई है।

असद अहमद पर था यह आरोप

आपको बता दें कि अतीक अहमद के तीसरे नंबर के बेटे असद अहमद पर आरोप था कि वह उन शूटरों के साथ मौजूद था, जिन्होंने उमेश पाल पर फायरिंग की थी। इस घटना के सामने आए सीसीटीवी फुटेज के आधार पर असद के उमेश के नजदीक जाकर फायर करने की बात कहीं गई थी। उस वायरल सीसीटीवी फुटेज और असद की हनीफ के साथ वायरल चैट की न्यूजट्रैक पुष्टी नहीं करता है।

असद और गुलाम का एनकाउंटर

उमेश पाल की हत्या के बाद से असद अहमद फरार हो गया था। जिसके बाद पुलिस ने उस पर 5 लाख रुपये का इनाम घोषित किया था। जिसके बाद 13 अप्रैल को असद अहमद को झांसी में जवाबी कार्रवाई करते हुए यूपीएसटीएफ ने एनकाउंटर में मार गिराया था। जिसके साथ में पुलिस ने उमेश पाल की हत्या में शामिल अतीक अहमद के गुर्गें मोहम्मद गुलाम को भी एनकाउंटर में ढेर कर दिया था।

अतीक और अशरफ की हत्या

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में 15 अप्रैल को पूर्व सांसद और माफिया अतीक और उसके छोटे भाई अशरफ गोलियों से भूनकर हत्या कर दी गई थी। यह वारदात तब घटी जब पुलिस दोनों भाइयों को प्रयागराज के अस्पताल में शाम मेडिकल चेकअप के लिए ले जा रही थी। अतीक-अशरफ की हत्या उस दिन हुई, जिस दिन अतीक के तीसरे नंबर के बेटे असद को सुपुर्द-ए-खाक किया गया था।

Prashant Vinay Dixit

Prashant Vinay Dixit

Next Story