उन्नाव गैंगरेप: दफ़न हुई पीड़िता, परिजनों ने किया अंतिम संस्कार

आखिर उसने दम तोड़ दिया, डाक्टरों की तमाम कोशिशों के बावजूद उन्नाव गैंगरेप की पीड़िता का निधन दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में देर रात को हो गया।

Published by Roshni Khan Published: December 8, 2019 | 9:14 am
Modified: December 8, 2019 | 3:18 pm

उन्नाव/लखनऊ : आखिर उसने दम तोड़ दिया, डाक्टरों की तमाम कोशिशों के बावजूद उन्नाव गैंगरेप की पीड़िता का निधन दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में देर रात को हो गया। बता दें कि घटना के बाद पीड़िता को एयरलिफ्ट करके लखनऊ से दिल्ली लाया गया था। पीड़िता का शरीर 95 फीसदी जल चुका था। पीड़िता के निधन की पुष्टि सफदरजंग अस्पताल के प्रवक्ता द्वारा की गयी। उन्नाव समेत देश भर में गुस्से का कारण बनी इस घटना के चलते यूपी की योगी सरकार पर भी निशाना साधा जा रहा है।

ये भी देखें:निर्भया रेप-मर्डर केस: फांसी की तैयारी शुरू, राष्ट्रपति के पास पहुंची याचिका

मिली जानकारी के अनुसार, पीड़िता का शव पहुंचने के बाद क्षेत्र में हालात नाजुक बने हुए हैं। कानून व्यवस्था को देखते हुए सीतापुर, हरदोई और लखनऊ से पुलिस फोर्स को उन्नाव बुलाया गया है। इसके अलावा दो प्लाटून पीएसी को भी मौके पर बुलाया गया है। मीडिया को पीड़िता के घर से दूर रखे जाने की कोशिश चल रही है। पीड़िता के शव को फिलहाल घर के कच्चे बरामदे में रखा गया है। मिली जानकारी के अनुसार, जिला प्रशासन परिवार को समझा-बुझाकर देर रात को ही अंतिम संस्कार के लिए राजी करने की कोशिश में लगा है। वैसे तो पीड़िता के पिता का कहना है कि वह रविवार सुबह ही बेटी का अंतिम संस्कार करेंगे।

शुक्रवार रात हुई थी पीड़िता की मौत

हम आपको बता दें कि दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में 06 दिसंबर शुक्रवार रात दम तोड़ने वाली उन्नाव रेप पीड़िता के शव को पोस्टमॉर्टम के बाद 07 दिसंबर शनिवार सुबह उन्नाव स्थित घर के लिए रवाना कर दिया गया था। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में बताया गया था कि पीड़िता की मौत अत्यधिक जलने की वजह से हुई है। गैंगरेप पीड़िता को जेल से जमानत पर छूटे आरोपियों ने साथियों के साथ मिलकर जला दिया था। इससे वह 95 प्रतिशत तक झुलस गई थी।

यूपी सरकार ने किया मुआवजे का ऐलान

उत्तर प्रदेश सरकार ने पीड़िता के परिवार को 25 लाख रुपये का मुआवजा देने का ऐलान किया है। इसके अलावा प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत पीड़िता के परिवार को घर देने की भी घोषणा की गई है। इस मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में किए जाने की बात भी कही गई है।

ये भी देखें:मास्टर माइंड हाफिज सईद! टेरर फंडिंग केस में अभी तक नहीं हो सका आरोप तय

पीड़िता के घर

पहुंचे मंत्रियों का विरोध

इससे पहले पीड़िता की मौत के बाद सीएम योगी के निर्देश पर मंत्री कमल रानी वरुण और स्वामी प्रसाद मौर्य उन्नाव पहुंचे। उन्नाव में यूपी सरकार के मंत्रियों और सांसदों को कांग्रेस नेताओं ने काली पट्टियां दिखाईं। पुलिस के साथ भी प्रदर्शनकारियों की धक्कामुक्की हुई।

मुआवजे के ऐलान के बाद भी सीएम योगी से मिलना चाहते है परिजन

उन्नाव रेप पीड़िता की मौत के बाद योगी सरकार ने उसके परिवार को बतौर मुआवजा 25 लाख रुपये देने का ऐलान भले ही कर दिया है, लेकिन परिजन मुख्यमंत्री से मिलने पर अड़े हैं। परिवार का कहना है कि वो सीएम योगी के आने से पहले शव का अंतिम संस्कार नहीं करेंगे।

ले जाया जा रहा शव को अंतिम संस्कार के लिए

रेप पीड़िता का शव शनिवार रात उन्नाव पहुंचा, जहां परिवार की ओर से कहा गया कि उसके शव को जलाया नहीं जाएगा बल्कि दफनाया जाएगा। वहीं आज रविवार को रेप पीड़िता के शव को पुलिस के आश्वासन के बाद परिवार, अंतिम संस्कार के लिए ले जाया जा रहा है।

ये भी देखें:#Delhi fire incident | दिल्ली में आग का सबसे बड़ा हादसा, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी | Newstrack

बहन ने की सरकारी नौकरी की मांग

परिजनों का कहना है कि जब तक सीएम गांव में नहीं आएंगे, पीड़िता के शव का अंतिम संस्कार नहीं किया जाएगा। इससे पहले योगी सरकार ने पीड़ित परिवार को 25 लाख रुपये के मुआवजे का चेक सौंपा था। इस बीच रेप विक्टिम की बहन ने सरकारी नौकरी की मांग की है। पीड़िता की बहन ने कहा, ‘मैं मांग करती हूं कि मुझे सरकारी नौकरी मिलनी चाहिए।’

कब क्या हुआ

12 दिसंबर 2018 : लालगंज में युवती के साथ दुष्कर्म।

4 जनवरी 2019 : महिला आयोग की प्रदेश अध्यक्ष से शिकायत।

4 मार्च 2019 : महिला आयोग के आदेश पर बिहार थाने में एफआइआर।

5 मार्च 2019 : न्यायालय के आदेश पर लालगंज कोतवाली में एफआइआर।

1 जुलाई 2019 : आरोपित शुभम त्रिवेदी के खिलाफ एनबीडब्ल्यू जारी हुआ।

19 अगस्त 2019 : आरोपित शुभम त्रिवेदी के खिलाफ धारा 82 की कार्रवाई।

19 सितंबर 2019 : आरोपित शिवम त्रिवेदी ने न्यायालय में सरेंडर किया।

25 नवंबर 2019 : आरोपित शिवम त्रिवेदी को हाईकोर्ट से जमानत मिली।

30 नवंबर 2019 : आरोपित शिवम त्रिवेदी जमानत पर जेल से छूटा।

05 दिसंबर 2019 : उन्नाव में पीड़िता को जिंदा जला दिया गया।

06 दिसंबर 2019 : दिल्ली के सफदरगंज अस्पताल में पीड़िता की इलाज के दौरान मौत हो गई।

रेप पीड़िता के घर की कुछ तस्वीरें

रेप पीड़िता को दफ़न करने की प्रक्रिया की तस्वीरें

लखनऊ के पुलिस कमिश्नर मुकेश मेशराम ने कहा ये

लखनऊ के पुलिस कमिश्नर मुकेश मेशराम ने कहा, पीड़िता की बहन को 24 घंटे सुरक्षा देने का निर्णय लिया गया है। परिवार के अन्य सदस्यों को भी सुरक्षा दी जाएगी। परिवार ने पुलिस से सुरक्षा की गुहार लगाई थी।

लखनऊ के पुलिस कमिश्नर मुकेश मेशराम ने कहा, पीड़िता की बहन के लिए नौकरी का प्रबंध किया जाएगा। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत पीड़ित परिवार को दो मकान आवंटित किए जाएंगे। दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

पुलिस कमिश्नर ने कहा, पीड़ित परिवार को 25 लाख रुपये दिए गए हैं। पीड़ित लड़की की बहन को सरकारी नौकरी दी जाएगी। आवास योजना के तहत परिवार को मकान दिया जाएगा और मौजूदा मकान को पक्का किया जाएगा। लड़की की बहन को पुलिस सुरक्षा दी जाएगी। घर पर भी सुरक्षाकर्मी तैनात किए जाएंगे।