×

तो ये हैं उन्नाव केस का मुकदमा लड़ने वाले हिम्मती वकील, ऐसी है इनकी कहानी

"लोग बताते हैं कि विधायक कुलदीप सेंगर के खिलाफ जब कोई भी केस लड़ने को तैयार नहीं था, उस वक्त महेंद्र सिंह रेप पीड़िता का केस लड़ने के लिए तैयार हुए थे। इस समय महेंद्र अस्पताल में जिंदगी और मौत की लड़ाई लड़ रहे है।

Vidushi Mishra

Vidushi MishraBy Vidushi Mishra

Published on 30 July 2019 12:08 PM GMT

तो ये हैं उन्नाव केस का मुकदमा लड़ने वाले हिम्मती वकील, ऐसी है इनकी कहानी
X
तो ये हैं उन्नाव केस का मुकदमा लड़ने वाले हिम्मती वकील, ऐसी है इनकी कहानी
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ : उन्नाव रेप केस पीड़िता अपने चाचा महेश सिंह से मिलने परिवार वालों और एक वकील के साथ रायबरेली जा रही थी। रायबरेली में ट्रक से हुई टक्कर में सभी गम्भीर रूप से घायल हो गए थे। इस हादसे में पीड़िता की चाची और उनके एक अन्य रिश्तेदार की मौत हो गई, जबकि पीड़िता और उनके वकील की हालत अभी भी नाजुक बताई जा रही है।

यह भी देखें... उन्नाव रेप पीड़िता सड़क हादसे में बड़ा ख़ुलासा, सपा नेता से जुड़े हैं घटना के तार

चाचा से मिलाने ले जा रहे थे

लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेज के मुताबिक, वकील महेंद्र सिंह के दोनों पैरों में फ्रैक्चर हुआ है। उनकी पसलियों और मुंह में गंभीर चोटें आई हैं। महेंद्र सिंह पीड़िता और उसके परिवार को जेल में बंद उनके चाचा महेश सिंह से मिलाने जा रहें थें। वकील महेंद्र सिंह उन्नाव के इस रेपकेस में पीड़ित पक्ष की तरफ से केस लग रहे थे।

मीडिया रिपोर्टस् के मुताबिक, महेंद्र सिंह के दोस्त से बातचीत में उन्होंने बताया कि उनका नाम नीरज सिंह है। वे महेंद्र के बहुत करीबी दोस्त है। महेंद्र एक बहुत ही सच्चे व्यक्ति है। बिना किसी के डर के कोई भी केस लड़ने को तैयार हो जाते हैं। महेंद्र हर समय सबकी मदद करने के लिए तैयार रहते है चाहे उन्हें कोई रात के 2 बजे भी बुलाए, तब भी वे तैयार रहते हैं।

यह भी देखें... उन्नाव रेप केसः सड़क हादसे की सीबीआई जांच की सिफारिश

कोई केस लड़ने को तैयार नहीं...

नीरज ने बताया कि ""लोग बताते हैं कि विधायक कुलदीप सेंगर के खिलाफ जब कोई भी केस लड़ने को तैयार नहीं था, उस वक्त महेंद्र सिंह रेप पीड़िता का केस लड़ने के लिए तैयार हुए थे। इस समय महेंद्र अस्पताल में जिंदगी और मौत की लड़ाई लड़ रहे है। उनकी किसी से कोई दुश्मनी नहीं थी। हम उनके साथ हमेशा थे और रहेंगे ताकि उन्हें इस मामले में न्याय मिल सके।"

नीरज ने कहा कि महेंद्र की हालत इतनी गम्भीर है कि उन्हें इलाज के लिए दिल्ली भी नहीं ले जाया जा सकता है। अस्पताल के डॉक्टरों के मुताबिक, इस समय महेंद्र इस हालत में नहीं हैं कि उन्हें दिल्ली ले जाया जा सके। उनकी पसलियों में चोट आई है। महेंद्र अपनी ही गाड़ी से परिवार को रायबरेली ले जा रहे थे और खुद ही गाड़ी ड्राइव कर रहे थे।

यह भी देखें... उन्नाव एक्सक्लूसिव: पीड़िता को कार से निकालने का वीडियो आया सामने

नीरज से एक दिन पहले मिले थे

नीरज ने बताया कि महेंद्र ने कभी भी धमकियों के बारे में नहीं बताया। एक्सीडेंट से एक रात पहले ही मैं उनके साथ था, लेकिन उन्होंने जेल मिलने जा रहे है इस कार्यक्रम के बारें में भी नहीं बताया था। सब कुछ बिल्कुल सामान्य था।

महेंद्र के परिवार में जानकारी देते नीरज सिंह

नीरज कहते हैं कि मैं महेंद्र और उनके परिवार को पिछले 20 सालों से जानता हूँ। उनके घर के बगल में ही मेरा घर है। महेंद्र की पत्नी और पिता किसी से भी बात करने की स्थिति में नहीं हैं। बस अपने बेटे के जल्दी ठीक हो जाने की कामना कर रहें हैं। और तो और दस साल से मैं महेंद्र के साथ वकालत कर रहा हूँ।

यह भी देखें... उन्नाव केस: पीड़ित इस लड़ाई में अकेली नहीं, पूरा देश उसके साथ : स्वाति मालीवाल

नीरज ने इस मामले आगे कहा कि "इस मामले की जांच सीबीआई को दे दी है। अब सीबीआई की जांच में ही कुछ सामने आएगा। लेकिन ये मामला बहुत हाई प्रोफ़ाइल था। ऐसे में संभव है कि किसी ने साजिश करके ये काम करवाया हो। पुलिस ने पहले कुछ और बताया था। इसके बाद ट्रक के नंबर प्लेट पर कालिख लगी होने और ट्रक के गलत दिशा से आने की बात भी सामने आई है।

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story