आगरा: बार काउंसिल की अध्यक्ष दरवेश यादव की हत्या, हाईकोर्ट ने दिया ये निर्देश

ताजनगरी में दिन दहाड़े दिल दहलाने वाली वारदात हुई है। यहां के दीवानी परिसर में यूपी बार काउंसिल अध्‍यक्ष दरवेश यादव की गोली मारकर हत्या कर दी गई है। दरवेश को तीन गोली मारी गईं।

Published by Anoop Ojha Published: June 12, 2019 | 4:17 pm
Modified: June 12, 2019 | 10:15 pm

आगरा: ताजनगरी में दिन दहाड़े दिल दहलाने वाली वारदात हुई है। यहां के दीवानी परिसर में यूपी बार काउंसिल अध्‍यक्ष दरवेश यादव की गोली मारकर हत्या कर दी गई है। दरवेश को तीन गोली मारी गईं।आगरा बार काउंसिल की अध्यक्ष दरवेश यादव की साथी वकील ने गोली मारकर हत्या कर दी।

यह भी पढ़ें…..UP बार काउंसिल अध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पास, दरवेश ने रचा इतिहास

दरअसल बुधवार दोपहर करीब तीन बजे यूपी बार काउंसिल की अध्‍यक्ष दरवेश यादव और अधिवक्‍ता मनीष शर्मा के बीच किसी बात को लेकर विवाद हो गया। विवाद इतना बढ़ा कि अधिवक्ता मनीष शर्मा ने दरवेश यादव को लगातार तीन गोली मारीं। गोली चलने से दीवानी परिसर में अफरा तफरी फैल गई।

यह भी पढ़ें…..राम जन्मभूमि परिसर विस्फोट मामला : 18 जून को नैनी जेल में फैसला सुनाएगी कोर्ट

दरवेश सिंह को गंभीर हालत में पुष्पांजलि हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। वहीं, एडवोकेट मनीष शर्मा भी अस्पताल में भर्ती हैं। दरवेश सिंह को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया है।

नौ जून को चुनी गई यूपी बार काउंसिल की पहली महिला अध्यक्ष
प्रयागराज में 9 जून 2019 को बार कौंसिल भवन में चुनाव हुआ। अध्यक्ष पद पर आगरा की एडवोकेट दरवेश और हरिशंकर सिंह को 12-12 बराबर वोट मिले। बराबर मत के आधार पर दोनों को छह-छह माह के लिए चयनित किया गया। परंपरा व सहमति के आधार पर दरवेश सिंह पहले छह माह और हरिशंकर सिंह शेष छह माह अध्यक्ष रहेंगे।

यह भी पढ़ें…..नीरव मोदी को लगा बड़ा झटका, चौथी बार जमानत याचिका हुई खारिज

2017 में रह चुकी हैं कार्यकारी अध्यक्ष
मूल रूप से एटा निवासी दरवेश सिंह ने आगरा कॉलेज से एलएलबी एलएलएम किया। वर्ष 2004 से दीवानी में प्रैक्टिस कर रही हैं। दरवेश सिंह 2017 में बार काउंसिल ऑफ यूपी की कार्यकारी अध्यक्ष रह चुकी है। इसके बाद साल 2018 में बार काउंसिल के चुनाव में दरवेश सिंह दूसरी बार सदस्य चुनी गईं।

मूल रूप से एटा निवासी दरवेश सिंह ने आगरा कॉलेज से एलएलबी एलएलएम किया। वर्ष 2004 से दीवानी में प्रैक्टिस कर रही हैं। दरवेश सिंह 2017 में बार काउंसिल ऑफ यूपी की कार्यकारी अध्यक्ष रह चुकी है। इसके बाद साल 2018 में बार काउंसिल के चुनाव में दरवेश सिंह दूसरी बार सदस्य चुनी गईं।

 

हत्या के विरोध में गुरुवार को नहीं होगा कामकाज

उत्तर प्रदेश बार काउंसिल की नवनिर्वाचित अध्यक्षा दर्वेश यादव की आगरा सिविल केार्ट परिसर में मंगलवार को हुई हत्या के विरोध में हाई केार्ट की अवध बार असोसियेशन के वकील गुरूवार को अदालतों में न्यायिक कामकाज नहीं करेंगे।

दरअसल इस समय हाई केार्ट में ग्रीष्मावाकाश चल रहा है और केवल अर्जेंट मामले ही सुने जा रहेें हैं। बार के अध्यक्ष आनन्द मणि त्रिपाठी की अध्यक्षता में बुधवार को बार में एक आपातकालीन बैठक हुई, जिसमें आगरा सिविल कोर्ट में हुई घटना की कड़ी निंदा की गयी और मुख्यमंत्री से घटना की विशेष जांच कराने की मांग की उठायी गयी है। अवध बार ने मांग की है कि सरकार केा वकीलों की सुरक्षा सुनिश्चित करानी चाहिए।

हाईकोर्ट ने दिया प्रदेश सरकार को निर्देश

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने आज शाम यूपी बार काउन्सिल के अध्यक्ष की आज आगरा सिविल कोर्ट में हत्या कर देने की घटना को अफसोस जनक बताते हुए हाईकोर्ट प्रयागराज व इसकी लखनऊ बेंच समेत प्रदेश के सभी जिला अदालतों में वकीलों व न्यायिक प्रक्रिया से जुड़े लोगों के लिए तत्काल प्रभावी कदम उठाने का प्रदेश सरकार को निर्देश दिया है ।

आगरा में हुईं इस दुखद घटना पर चिंता व्यक्त करते हुए हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार जनरल ने एक पत्र जारी कर कहा कि हाईकोर्ट अदालतों की सुरक्षा से सम्बंधित वह सारे कदम उठाएगा जिससे न्यायिक प्रक्रिया से जुड़े लोगों को कोई परेशानी न हो।

चेयरमैन दरवेश यादव की हत्या पर हाईकोर्ट ने बार काउन्सिल को शोक संदेश भी भेजा है।