यूपी बोर्ड: पहले होगी थर्मल स्क्रीनिंग, परीक्षक फिर जांचेंगे कॉपियां

माध्यमिक शिक्षा परिषद प्रयागराज बोर्ड की कॉपियां पांच मई से जांचने का काम शुरू हो जाएगा। मूल्यांकन केंद्र पर स्वास्थ्यर्किमयों की ओर से पहले परीक्षकों की थर्मल स्क्रीनिंग होगी, उसके बाद ही वह केंद्र के अंदर प्रवेश कर सकेंगे।

कन्नौज: माध्यमिक शिक्षा परिषद प्रयागराज बोर्ड की कॉपियां पांच मई से जांचने का काम शुरू हो जाएगा। मूल्यांकन केंद्र पर स्वास्थ्यर्किमयों की ओर से पहले परीक्षकों की थर्मल स्क्रीनिंग होगी, उसके बाद ही वह केंद्र के अंदर प्रवेश कर सकेंगे। प्रमुख सचिव का आदेश मिल जाने के बाद डीआईओएस ने दोनों कॉलेजों के प्रधानाचार्यों की बैठक में रणनीति बनाई।

शनिवार को डीआईओएस राजेंद्र बाबू ने बताया कि जिले में भी इंटरमीडिएट की केके इंटर कॉलेज व एसबीएस इंटर कॉलेज में हाईस्कूल की कॉपियां जांचने का केंद्र बना है। 16 मार्च से मूल्यांकन का काम शुरू हो गया था।

कोरोना वायरस की महामारी से बचने के लिए मूल्यांकन की दो-तीन दिन में बंद करनी पड़ी। डीआईओएस बताया कि रविवार को केके इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य बीके श्रीवास्तव व एसबीएस इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य एमसी पाल के साथ मीटिंग की है।

इसमें मूल्यांकन की तैयारियों को लेकर चर्चा की गई। डीआईओएस ने बताया कि केंद्रों को सेनेटाइज कराने, मास्क, ग्लव्स, थर्मल स्क्रीनिंग आदि के लिए नगर पालिका परिषद ईओ एसके गौतम और सीएमओ डॉ. कृष्ण स्वरूप को पत्र लिखा है। जो भी परीक्षक आएंगे, वह सभी नियमों का पालन करेंगे जो लॉकडाउन में चल रहा है। फिजिकल डिस्टेंसिंग का भी पालन करना होगा।

यूपी बोर्ड तक पहुंचा कोरोना का कहर, अब टीचर्स ऐसे चेक करेंगे परीक्षा की कापियां

मूल्यांकन केंद्र के 100 मीटर के दायरे में धारा 144

प्रमुख सचिव आराधना शुक्ला ने भेजे पत्र में कहा है कि मूल्यांकन केंद्र के 100 मीटर के दायरे में धारा 144 लगेगी। बिजली, पानी, पंखा, रोशनी व शौचालय की बेहतर व्यवस्था करने को कहा गया है। मूल्यांकन केंद्रों पर पुलिस बल तैनात रहेगा।

एलआईयू का भी सहयोग लिया जाएगा। सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में मूल्यांकन कार्य होगा। प्रमुख सचिव ने कॉपियों के बंडलों को सेनेटाइज कराने का आदेश दिया है, साथ ही सावधानी बरतने को भी कहा है, जिससे कॉपियों को नुकसान न पहुंचे। उन्होंने परीक्षकों से अपने-अपने मोबाइल में आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करने को भी कहा है।

बड़ी खबर: इंतजार खत्म, इस तारीख से शुरू होगा यूपी बोर्ड की कापियों का मूल्यांकन

परीक्षक को इतनी कॉपियां देने का है नियम

सहायक परीक्षक को मूल्यांकन के लिए 40-50 उत्तरपुस्तिकाएं ही मिलेंगी। डिप्टी हेड एग्जामनर को बोर्ड परीक्षा की 20 कॉपियां ही दी जाएंगी। मूल्यांकन के दौरान नंबरों का मिलान भी किया जाएगा।

मार्च में मूल्यांकन के दौरान इतने लगे थे परीक्षक

केके इंटर कॉलेज में मूल्यांकन के लिए 65 डिप्टी हेड व 586 सहायक परीक्षक लगाए गए थे। एसबीएस कॉलेज में 109 डिप्टी हेड परीक्षक व 1097 परीक्षक लगाए गए थे।

रिपोर्ट- अजय मिश्र