लॉकडाउन को लेकर केशव प्रसाद मौर्य ने कह दी ये बात

इस समय कोरोना वायरस की महामारी को लेकर हर कोई चौकन्ना है। सरकार के मंत्री, आला अफसर हर तरह से सबकी मदद कर रहे हैं। रविवार को उत्तर प्रदेश…

लखनऊः इस समय कोरोना वायरस की महामारी को लेकर हर कोई चौकन्ना है। सरकार के मंत्री, आला अफसर हर तरह से सबकी मदद कर रहे हैं। रविवार को उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि कोरोना वायरस ने दुनिया को कैद कर दिया है। यह ज्ञान ,विज्ञान, गरीब, संपन्न, कमजोर, ताकतवर हर किसी को चुनौती दे रहा है। यह न तो राष्ट्र की सीमाओं में बंधा है, न ही कोई क्षेत्र या मौसम देखता है। हम सबको हर हाल में सोशल डिस्टेंसिंग बनाकर ही रखना है। किसी भी रोग को पहले ही समझ लेना चाहिए। नहीं तो बाद में रोग असाध्य हो जाता है।

ये पढ़ें- लॉकडाउन: बसों-ट्रकों में उमड़ी भीड़, साधन न मिलने पर पैदल चल पड़े लोग

‘कोरोना के खिलाफ लड़ाई जंग जीवन और मृत्यु के बीच जैसी’

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि पलायन कर रहे भाइयों-बहनों से अपील की है कि वे ध्यान रखें कि जहां पर हैं, वहीं रहें क्योंकि कोई भी दिल्ली से या अन्य स्थान से सीधे अपने घर नहीं पहुंचेगा। उसे 14 दिन तक सरकारी कैंप में ही रहना पड़ेगा। लोग अफवाहों पर बिल्कुल ध्यान न दें। फिर उन्होंने कहा कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई जीवन और मृत्यु के बीच की लड़ाई है और हमें इसे जीतना है।

ये पढ़ें- PM केयर्स फंड में इस तरह दें अपना योगदान, जानें क्या है तरीका| PM Relief Fund

‘सरकार द्वारा किए प्रयासों सबका सहयोग जरूरी’

उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के विरुद्ध महायुद्ध में लॉकडाउन रूपी लक्ष्मण रेखा को कतई नहीं लांघना है। घर पर रहकर ही स्वयं व परिवार को सुरक्षित बचाना है। इस संबंध में सरकार पूरी प्रतिबद्धता के साथ कार्य कर रही है और अधिकारियों व कर्मचारियों की टीमें भी पूरी मुस्तैदी से लगी हुई हैं।उन्होंने आम जनमानस से भी अपील की है कि वो सरकार द्वारा किए जा रहे प्रयासों में सहयोग प्रदान करें। खाद्यान्न और दूध का वितरण किया जा रहा है।

ये पढ़ें- जर्मनी से बुरी खबर: कोरोना संकट से परेशान, वित्त मंत्री थॉमस शेफर ने कर ली खुदकुशी

‘बाहर से आने वाले रहेंगे सबसे अलग’

उन्होंने बताया कि कोविड-19 महामारी को दृष्टिगत रखते हुुए लॉकडाउन के दौरान अन्य राज्यों में कार्य करने वाले प्रदेश के निवासी मूल जनपदों को पहुंच रहे हैं। उन्हें सबसे अलग रखने के निर्देश दिए गए हैं। इन व्यक्तियों को सीधे उनके घर ले जाने के बजाय धर्मशाला/हॉस्टलों आदि में क्वारेंटाइन करने की व्यवस्था की जा रही है।

ये भी पढ़ें- Y factor With Yogesh Mishra | कोरोना कुछ सवाल, आपके जवाब कर देंगे तस्वीर का रुख साफ | Episode 82

सरकार ने किया बड़ा एलान: मजदूरों के लिए सीएम केजरीवाल ने लिया ये फैसला

बेशर्म चीन: मदद की जगह कर रहा ये गंदा काम, देशों को बेच रहा मेडिकल उपकरण   

कोरोना से लड़ाई में आगे आए जुकरबर्ग, किया ये ऐलान

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App