67 दिन बाद शुरू हुई रोडवेज बस सेवा, लेकिन यात्रा से पहले जान लें ये शर्त

केंद्र सरकार द्वारा लॉकडाउन में 1 जून को राहत देते हुए समाप्त कर दिया गया। अब इसे अनलॉक 1 के नाम से शुरू किया गया है।

Published by Ashiki Patel Published: June 1, 2020 | 12:13 pm
Modified: June 1, 2020 | 12:19 pm

औरैया: केंद्र सरकार द्वारा लॉकडाउन में 1 जून से राहत देते हुए समाप्त कर दिया गया। अब इसे अनलॉक 1 के नाम से शुरू किया गया है। सरकार द्वारा कई क्षेत्रों में लगी हुई पाबंदी हटा दी गई है। अब जिंदगी दोबारा रफ्तार पकड़ने के प्रयास में जुट गई है।

ये भी पढ़ें: नियम का उलंघन: प्रधानमंत्री ने अपने बनाए कानून तोड़े, लगा इतने हज़ार रुपये का दंड

बताते चलें कि 25 मार्च से केंद्र सरकार द्वारा कोरोना महामारी को देखते हुए लॉकडाउन लागू कर दिया गया था। जिसके चलते प्रदेश की अर्थव्यवस्था पूरी तरह से लड़खड़ा गई थी। अब 1 जून से यह सेवाएं समाप्त कर दी गई और जिंदगी को पटरी पर लाने के लिए नए सिरे से कवायद शुरू कर दी है। प्रदेश सरकार द्वारा 1 जून से रोडवेज बसों का संचालन शुरू कर दिया गया है। बीते 67 दिनों से रोडवेज बस सेवाएं पूरी तरह से प्रतिबंधित थी और कोई भी कहीं नहीं जा पा रहा था। जिसके कारण लोगों में परेशानी बढ़ती जा रही थी। 1 जून से शुरू हुए रोडवेज के संचालन ने लोगों को राहत की सांस लेने दी और फंसे हुए लोग अपने गंतव्य की ओर खुशी-खुशी रवाना होने लगे।

कोच जनपद जालौन निवासी युवक द्वारा बताया गया कि वह 20 मार्च को नोएडा से छुट्टी लेकर अपने घर आवश्यक कार्य से आया हुआ था। मगर जब वह वापस जाने के लिए तैयार हुआ तो कोरोना संक्रमण के चलते लाकडाउन लागू हो गया। इसलिए अब वह ढाई महीने बाद अपनी ड्यूटी पर दोबारा जा रहा है। बताया कि उसके कंपनी से कई बार उसके पास सूचना आ चुकी है मगर बसों का संचालन ना होने के कारण वह फस गया था।

ये भी पढ़ें: दुनियाभर में मशहूर है उत्तराखंड की ये मिठाई, यहां की शोभा बढ़ाते हैं मंदिर

रोडवेज बस के चालक व परिचालक ने बताया कि वह लोग करीब ढाई माह बाद अपनी ड्यूटी पर जा रहे हैं। बताया की यात्रियों को सीट बाई सीट बैठाए जाने की व्यवस्था की गई है। 52 सीटर बस में सिर्फ 30 से 35 सवारियां ही ले जाने की परमिशन उन्हें मिली है जिसका पालन कर रहे हैं।

बसों को सैनिटाइज करा किया गया रवाना

इस संबंध में एआरएम आर एस चौधरी ने जानकारी देते हुए बताया की प्रदेश सरकार द्वारा रोडवेज बसों के संचालन को शुरू कराए जाने को हरी झंडी दे दी गई थी। उनके पास जैसे ही आदेश आया तो उन्होंने तत्काल रोडवेज परिसर की साफ-सफाई कराई और सभी बसों को सैनिटाइज कराया। उन्होंने बताया कि बसों के चालक एवं परिचालक को सैनिटाइजर मास्क व ग्लव्स दिए गए हैं। जिससे कि वह अपनी सुरक्षा स्वयं कर सकें। इसके अलावा बताया कि बिना मास्क के किसी भी सवारी को बस के अंदर प्रवेश नहीं कराया जाएगा और बसों पर चढ़ने से पूर्व यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग भी कराई जाएगी। जिससे कि कोई भी मरीज बस में न चल सके।

रिपोर्ट: प्रवेश चतुर्वेदी औरैया

ये भी पढ़ें: अभिषेक बच्चन ने खोला बड़ा राज, फिल्मों में आने से पहले करते थे ऐसा काम

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App