Top

सावधान दंगाइयों: ऐसा करना पड़ेगा बहुत भारी, सरकार ने किया ऐलान

नागरिकता कानून के खिलाफ पिछले शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद हुई हिंसा को देखते हुए इस बार प्रशासन पूरी तरह सतर्क है। आज शुक्रवार को मस्जिदों में जुमे की नमाज़ पढ़ी जाएगी। ऐसे में उत्तर प्रदेश में सख्ती बढ़ाई गई है।

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 27 Dec 2019 5:48 AM GMT

सावधान दंगाइयों: ऐसा करना पड़ेगा बहुत भारी, सरकार ने किया ऐलान
X
सावधान दंगाइयों: ऐसा करना पड़ेगा बहुत भारी, सरकार ने किया ऐलान
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: नागरिकता कानून के खिलाफ पिछले शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद हुई हिंसा को देखते हुए इस बार प्रशासन पूरी तरह सतर्क है। आज शुक्रवार को मस्जिदों में जुमे की नमाज़ पढ़ी जाएगी। ऐसे में उत्तर प्रदेश में सख्ती बढ़ाई गई है, साथ ही यूपी के कई शहरों में इंटरनेट को बंद रखा गया है। यूपी के कई शहरों में हाई अलर्ट जारी है। जगह-जगह पर पुलिस की टीम सड़कों पर फ्लैग मार्च कर, स्थिति पर नजर रख रही है। बता दें कि पहले से ही यूपी में धारा 144 लगी हुई है।

प्रदर्शनकारियों से वसूला जाएगा इतना जुर्माना

इस बीच प्रशासन ने बताया है कि, हिंसा के दौरान अगर प्रदर्शनकारी पुलिस की जीप में आग लगाते हैं तो उनसे 7.50 लाख रुपये जुर्माने के तौर पर वसूले जाएंगे। वहीं अगर प्रदर्शनकारी पुलिस मोटरसाइकिल को क्षति पहुंचाते हैं तो प्रशासन ने उस पर भी जुर्माना लगाया है।

यह भी पढें: हिंदू होने की वजह से मुझसे बात नहीं करते थे खिलाड़ी :दानिश कनेरिया

इसके अलावा वायरलेस सेट, लाउड स्पीकर, हूटर तोड़ने पर प्रदर्शनकारियों से 31,500 रुपये जुर्माने के तौर पर लिया जाएगा। वहीं अगर उपद्रवी पुलिस बैरिकेडिंग को तोड़ते हैं या फिर उसे नुकसान पहुंचाते हैं तो उन्हें जुर्माने के तौर पर 3.5 लाख रुपये देने होंगे।

28 लोगों को भेजा गया रिकवरी नोटिस

इस बीच पिछले जुमे की नमाज के बाद हुई हिंसा के कारण हुए नुकसान के बाद प्रशासन ने आरोपियों को रिकवरी का नोटिस भेजना शुरु कर दिया है। पुलिस ने रामपुर के 28 आरोपियों को रिकवरी का नोटिस भेजा है। प्रशासन की ओर से इन आरोपियों को भेजे गए रिकवरी नोटिस से लगभग 14.86 लाख रुपये का जुर्माना वसूला जाएगा।

बता दें कि उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ के बयान के बाद प्रशासन ने ये कदम उठाया है। सीएम योगी ने अपने बयान में कहा था कि, हिंसा में शामिल लोगों की संपत्ति तो जब्त करके नुकसान की भरपाई की जाएगी।

यह भी पढें: सरयू राय का आरोप, CM सोरेन के कार्यभार संभालने से पहले जलाई जा रही फाइलें

जुमे की नमाज को लेकर यूपी में हाई अलर्ट, कई जिलों में इंटरनेट सेवा बंद

SIT जांच के निर्देश

बता दें कि उत्तर प्रदेश में हुई हिंसा में अब तक कुल 1,113 लोगों की गिरफ्तारी की जा चुकी है। साथ ही 5,500 से ज्यादा लोगों को हिरासत में लिया गया।। वहीं डीजीपी ओपी सिंह ने हिंसक प्रदर्शनों की SIT जांच के निर्देश दिए हैं। हर जिले में एडिशनल एसपी स्तर का अधिकारी SIT प्रमुख होगा। साथ ही जिलों में एडिशनल एसपी क्राईम की अध्यक्षता में SIT बनाने के निर्देश हैं। जिन जिलों में एएसपी क्राईम का पद नहीं होगा, वहां पर एएसपी सिटी SIT प्रमुख होंगे।

इन शहरों ने इंटरनेट बंद

सुरक्षा व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए यूपी के कई शहरों में इंटरनेट भी बंद रखा गया है। इन शहरों में बंद है इंटरनेट- सहारनपुर (कल शाम तक), बुलंदशहर (कल सुबह 5 बजे तक), आगरा (शाम 6 बजे तक), बिजनौर, गाजियाबाद (रात 10 बजे तक), देवबंद, मथुरा (शाम 6 बजे तक), शामली (शाम 6 बजे तक), संभल (आज इंटरनेट बंद) , मुजफ्फरनगर, मेरठ (रात 8 बजे तक), फिरोजाबाद (शाम 6 बजे तक), कानपुर (रात 9 बजे तक), अलीगढ़ , सीतापुर (अगले आदेश तक)।

साथ ही संवेदनशील इलाकों में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाई जा रही है। जगह-जगह पुलिस द्वारा फ्लैग मार्च किया जा रहा है। ज़िलों के वरिष्ठ अधिकारी मौलानाओं और मुस्लिम संगठनों के नेताओं से मुलाक़ात कर शांत रहने की अपील कर रहे हैं।

यह भी पढें: राबड़ी देवी ने ऐश्वर्या का सामान घर से निकाल फेंका, पिता ने लेने से किया इंकार

Shreya

Shreya

Next Story