वाराणसी का बुरा हाल: स्ट्रेचर पर शव लेकर चल पड़े परिजन, मचा हाहाकार

कोरोना के कहर से बनारस का स्वास्थ्य विभाग कराह रहा है, इसकी एक बानगी कबीरचौरा इलाके में देखने को मिली जहाँ मरने वाले लोगों को अस्पताल प्रशासन एक एम्बुलेंस तक मुहैया नहीं करा पा रहा है।

वाराणसी: कोरोना के कहर से बनारस का स्वास्थ्य विभाग कराह रहा है, इसकी एक बानगी कबीरचौरा इलाके में देखने को मिली जहाँ मरने वाले लोगों को अस्पताल प्रशासन एक एम्बुलेंस तक मुहैया नहीं करा पा रहा है। ऐसे में परिजन शव को स्ट्रेचर पर लेकर सड़कों पर निकल पड़े। घटना का वीडियो वायरल हुआ तो हडकंप मच गया।

ये भी पढ़ें:भूमि पूजन का न्योता: प्रदेश के संतों को दिया जा रहा निमंत्रण, सज गई रामनगरी

एम्बुलेंस के लिये किया इन्तजार

वाराणसी के छोटी पियरी निवासी एक महिला शुक्रवार रात करीब 9.40 बजे शिव प्रसाद गुप्त मंडलीय अस्पताल में आई थी। महिला को सर्दी जुकाम और बुखार था। डॉक्टर ने उन्हें वार्ड नंबर चार में भर्ती किया था। इस दौरान महिला की अचानक तबियत बिगड़ने लगी । परिवार के लोग जब तक कुछ समझ पाते महिला की मौत हो गई। परिवार के लोगों का कहना है कि वे लोग घंटों एम्बुलेंस का इंतजार करते रहे लेकिन कोई नहीं आया। इस कारण वे लोग स्ट्रेचर से ही शव को लेकर घर चल दिए। स्ट्रेचर के साथ एक महिला थी जो पूरे रास्ते रोते बिलखती जा रही है। इसका वीडियो हरिश्चन्द्र कॉलेज के पुस्तकालय मंत्री पवन यादव ने वीडियो बना के सोशल मीडिया पर अपने पेज पर डाल दिया जो देखते ही देखते वायरल हो गया।

अस्पताल प्रशासन ने मानी गलती

इस मामले में मंडलीय अस्पताल के मंडलीय अस्पताल के प्रमुख चिकित्सा अधिकारी ने चुप्पी साध रखी है। वहीं कुछ अन्य अधिकारियों ने घटना को स्वीकार किया। अस्पताल के डॉक्टर प्रसुन्न कुमार के मुताबिक एम्बुलेंस आने में 15-20 मिनट का समय था। इस दौरान वे लोग स्ट्रेचर सहित मरीज को लेकर चले गए। हम लोगों को जब स्ट्रेचर नहीं मिलने की जानकारी हुई तो कोतवाली थाने में एक मेमो दिया गया। वहीं कोतवाली में मेमो देने की बात से परिवार भी भयभीत है और कैमरे पर कुछ कहने से बच रहा है।

ये भी पढ़ें:अमिताभ की आई रिपोर्ट: अब ऐसी है बिग बी की हालत, डॉक्टर ने दी जानकारी

सीएम परख चुके हैं स्वास्थ्य विभाग का हाल

पीएम नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में स्वास्थ्य विभाग का हाल जानने के लिए पिछले रविवार को ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने मंडल स्तरीय एक समीक्षा बैठक की थी, जिसमें कोरोना मरीजों को लेकर उन्होंने अधिकारियों को खास हिदायत दी थी। लेकिन ऐसा लगता है की अधिकारियों की सेहत पर सीएम के निर्देशों का असर नहीं है।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App