अयोध्या में बाबरी नाम की कोई चीज नहीं, अगर होती तो राम मंदिर नहीं बनता: कटियार

अयोध्या में बाबरी नाम की कोई चीज नहीं है। अगर होती तो यहां पर राम मंदिर नहीं बनता। ये बातें बीजेपी के फायर ब्रांड नेता विनय कटियार ने कही हैं। उन्होंने सीबीआई कोर्ट में पेशी के लिए जाते वक्त मीडिया से बात की।

अयोध्या: अयोध्या में बाबरी नाम की कोई चीज नहीं है। अगर होती तो यहां पर राम मंदिर नहीं बनता। ये बातें बीजेपी के फायर ब्रांड नेता विनय कटियार ने कही हैं। उन्होंने सीबीआई कोर्ट में पेशी के लिए जाते वक्त मीडिया से बात की।

इस दौरान कहा कि रामजन्मभूमि रामलला की है। साढ़े तीन लाख हिंदुओं ने इसके लिए बलिदान दिया है। इसे बाबरी नहीं कहा जा सकता। इसे राम जन्मभूमि बोलिए।

विनय कटियार यहीं नहीं रुके बल्कि आगे कहा कि कोर्ट ने हमारे पक्ष में निर्णय दिया है। कोर्ट के निर्णय का सभी को स्वागत करना चाहिए, ये फैसला शिरोधार्य है। अब बस केवल एक चीज बाकी है।

मथुरा और काशी की तरफ देखें लेकिन कब देखा जायेगा? यह भगवान मालिक है। जमीन के समतलीकरण के दरमियान सबूत निकल रहे हैं। ये सबूत रो-रोकर कह रहे हैं वे राम मंदिर के अवशेष हैं।

अयोध्या से बड़ी खबर: पूरे शहर को किया जा रहा सैनिटाइज, लगातार अलर्ट पर प्रशासन

अब आरोपियों की होगी गवाही

गौरतलब है कि अयोध्या बाबरी मस्जिद विध्वंश मामले में में सीबीआई के सामने गवाहों के गवाही का क्रम अब पूरा हो गया हैं। अब इस मामले के आरोपियो की गवाही लेकर उनका पक्ष जाना जाएगा।

विशेष न्यायाधीश एसके यादव ने अभियोजन की गवाही पूरी होने के बाद आरोपियों की गवाही (313 दंड प्रक्रिया संहिता) दर्ज करने के लिए लालकृष्ण आडवाणी, मुरलीमनोहर जोशी, उमा भारती और कल्याण सिंह समेत सभी आरोपियों को तलब किया है। कोर्ट ने आरोपियों की गवाही दर्ज करने के लिए 28 मई की तारीख मुकर्रर की है।

दहशत में अयोध्याः कोरोना संदिग्ध की मौत से लगा बढ़ा झटका