जानिए कौन बनेगा उत्तर प्रदेश का मुख्य सचिव?

इन दिनों सत्ता के गलियारों में एक ही सवाल गूंज रहा है कि कौन बनेगा यूपी का मुख्य सचिव ? वर्तमान मुख्य सचिव अनूप चंद पाण्डे का कार्यकाल आगामी 31 अगस्त को खत्म हो रहा है। उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव अनूप चन्द्र पांडेय को छह महीने का सेवा विस्तार पहले ही दिया जा चुका है।

श्रीधर अग्निहोत्री

लखनऊ: इन दिनों सत्ता के गलियारों में एक ही सवाल गूंज रहा है कि कौन बनेगा यूपी का मुख्य सचिव ? वर्तमान मुख्य सचिव अनूप चंद पाण्डे का कार्यकाल आगामी 31 अगस्त को खत्म हो रहा है। उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव अनूप चन्द्र पांडेय को छह महीने का सेवा विस्तार पहले ही दिया जा चुका है। 1984 बैच के अधिकारी अनूप चंद पांडेय को इस साल 28 फरवरी को सेवानिवृत्त होना था लेकिन लोकसभा चुनाव होने के कारण उन्हे छह महीने का सेवा विस्तार दिया गया था, जो 31 अगस्त को पूरा हो रहा है।

अब अगर नए मुख्य सचिव की बात की जाए तो इस रेस में 1983 बैच के संजीव सरन का नाम आता है। वह हाल ही में 30 जुलाई को यूपी राज्य सडक परिवहन निगम में अध्यक्ष पद पर तैनात किए गए हैं। लेकिन उनकी कार्यप्रणाली के बारे मे सुप्रीम कोर्ट पहले ही सवाल खडे कर चुका है। उनका रिटायरमेंट नवम्बर 2019 में होना है।

यह भी पढ़ें…दिल्ली: एम्स में लगी भीषण आग, बीजेपी नेता अरुण जेटली हैं भर्ती

अन्य सीनियर अधिकारियों में 1983 बैच के आईएएस अधिकारी राजीव कुमार आते हैं जो कि नोएडा भूमि आवंटन मामले में इस समय जेल में है। जबकि राहुल भटनागर पूर्व में अखिलेश यादव सरकार में यूपी में मुख्य सचिव रह चुके हैं। इसलिए उनको अब दोबारा यूपी का मुख्य सचिव नही बनाया जाएगा।

यह भी पढ़ें…बेहद नाजुक हालत में अरुण जेटली, देखने के लिए लगने लगा तांता

अगर किसी आईएएस अधिकारी को सुपरसीड करके मुख्य सचिव बनाया जाता है तो 1984 बैच के दुर्गा शंकर मिश्र का नाम सबसे ऊपर आता है। इस समय वह केन्द्र में आवास एवं शहरी मामलों मंत्रालय में सचिव के पद पर तैनात है। इसी बैच के संजय अग्रवाल भी केन्द्र में कृषि मंत्रालय में सचिव पद पर कार्यरत है। मुख्य सचिव की रेस में उनका नाम बेहद महत्वपूर्ण माना जा रहा है।

यह भी पढ़ें…हर-हर मोदी से गूंज उठा भूटान, कुछ इस तरह हुआ पीएम का स्वागत

जबकि 1985 बैच के अन्य वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों में राजेन्द्र तिवारी को हाल ही में यूपी में कृषि उत्पादन आयुक्त एवं अपर मुख्य सचिव बनाए जाने के साथ ही उच्च शिक्षा की भी जिम्मेदारी दी गयी है। 1985 बैच के आईएएस अधिकारियों की बात की जाए तो मुख्य सचिव की रेस में अनीता भटनागर जैन जो इस समय अपर मुख्य सचिव खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन के पद पर तैनात हैं। परन्तु वह इसी साल नवम्बर में रिटायर हो रही हैं। इसलिए मुख्य सचिव बनने में उनके लिए यह बात बाधा बन सकती है।