×

CAA-NRC प्रोटेस्ट: संविधान को नहीं मानती सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र की महिलाएं

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी बुधवार को रायबरेली पहुंची तो उससे ठीक पहले यहां की हिंदू-मुस्लिम महिलाएं सीएए और एनआरसी के विरोध में धरने पर बैठ गईं।

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 24 Jan 2020 6:48 AM GMT

CAA-NRC प्रोटेस्ट: संविधान को नहीं मानती सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र की महिलाएं
X
CAA-NRC प्रोटेस्ट: संविधान को नहीं मानती सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र की महिलाएं
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

रायबरेली: कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी बुधवार को रायबरेली पहुंची तो उससे ठीक पहले यहां की हिंदू-मुस्लिम महिलाएं सीएए और एनआरसी के विरोध में धरने पर बैठ गईं। गुरुवार दोपहर उन्होंने रायबरेली छोड़ा तो शाम के बाद प्रशासन धरना खत्म कराने पहुंचा और महिलाओं ने धरना समाप्त कर दिया। इस बीच प्रशानिक अपील के समय महिलाओं का जो वीडियो सामने आया वो काफी निंदनीय है। सीओ विनीत सिंह ने जब महिलाओं से कहा कि आप संविधान को मानते हैं तो तेज आवाज में महिलाओं ने कहा की नहीं।

यह भी पढ़ें: जनसंख्या नियंत्रण करने की तैयारी, अब केवल हम दो, हमारे दो

पुलिस ने की अपील, कोर्ट ने दिया समय तो आपको भी देना चाहिए

सनद हो कि शहर के टाउन हाल में सीएए और एनआरसी के विरुद्ध महिलाओं का प्रदर्शन पूरे 24 घंटे चला। प्रशासन वार्ता कर हर संभव प्रदर्शन खत्म कराने में जुटा था। रात करीब 9:30 बजे डीएम सुभ्रा सक्सेना एसपी स्वप्निल ममगई दल बल के साथ मौके पर पहुंचे। सीओ विनीत सिंह को महिलाओं से बात करने की कमान सौंपी गई। सीओ,विनीत सिंह ने महिलाओं से कहा कि हाथ जोड़कर प्रार्थना है बात मानिए।

यह भी पढ़ें: खूंखार आतंकी को गोलियों से किया छलनी, खौफ में जैश-ए-मोहम्मद संगठन

उन्होंने ये भी कहा के चार कदम आगे जाने के लिए एक कदम पीछे लिया जाता है। लेकिन महिलाएं कुछ सुनने को तैयार नही थीं। उन्होंने फिर आगे कहा कि चार-पांच लोग मिलकर हमारे उच्चाधिकारियों से अपनी बात रखिए मैं मिलवाऊंगा। इस पर भी महिलाएं राजी नहीं हुई। तो सीओ,विनीत सिंह ने आगे कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने सरकार से जवाब मांगा है और चार सप्ताह का समय दिया है तो आपको भी देना चाहिए। अंत में महिलाओं ने किसी सूरत पुलिस की बात मानी ली और धरने से वापस गईं।

एसपी बोले- ये सब राजनैतिक लाभ लेने के लिए किया गया

एसपी स्वप्निल ममगई ने बताया कि लोकतांत्रिक ढ़ंग से बात रखने का अधिकार है। लेकिन महिलाएं बगैर किसी अनुमति के धरना दे रही थीं। लगातार इनसे वार्ता का दौर चल रहा था। कुछ लोगो ने राजनैतिक लाभ लेने के लिए ऐसा किया है। उनके नाम आ गए हैं, उन्हें नोटिस भेजी जाएगी। जरूरत पड़ी तो उन्हें गिरफ्तार भी किया जाएगा।

यह भी पढ़ें: खतरनाक कोरोना से 25 की मौत: निपटने के लिए चीन ने बनाया ये प्लान

Shreya

Shreya

Next Story