×

लखनऊ: महिला आत्मरक्षा कार्यशाला का आयोजन, गंभीर मुद्दे पर डाला गया प्रकाश

फिक्की फ्लो लखनऊ चैप्टर ने आज महिला आत्मरक्षा पर एक कार्यशाला का आयोजन किया। यह आयोजन राज्य में महिलाओं के सशक्तीकरण के उद्देश्य से मिशन शक्ति के तहत फिक्की फ्लो सौभाग्य योजना का हिस्सा था।

Monika

MonikaBy Monika

Published on 17 Feb 2021 5:02 PM GMT

लखनऊ: महिला आत्मरक्षा कार्यशाला का आयोजन, गंभीर मुद्दे पर डाला गया प्रकाश
X
फिक्की फ्लो लखनऊ चैप्टर का आत्मरक्षा पर कार्यशाला का आयोजन आत्मरक्षा समय की जरूरत:पूजा गर्ग
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ: फिक्की फ्लो लखनऊ चैप्टर ने आज महिला आत्मरक्षा पर एक कार्यशाला का आयोजन किया। यह आयोजन राज्य में महिलाओं के सशक्तीकरण के उद्देश्य से मिशन शक्ति के तहत फिक्की फ्लो सौभाग्य योजना का हिस्सा था। फ्लो लखनऊ अपने घरों और कार्यस्थल पर महिलाओं को सशक्त बनाने के उद्देश्य से कई कार्यशालाओं का आयोजन कर रहा है।

यह कार्यक्रम एफएलओ लखनऊ की लाइव-लर्न-लाफ (एलएलएल) समिति द्वारा आयोजित किया गया था। इस श्रृंखला का उद्देश्य सदस्यों को हर बैठक में एक नए कौशल में सिद्धहस्त करना है।

महिला आत्मरक्षा

आत्मरक्षा के गंभीर मुद्दे पर प्रकाश डाला

इस कार्यक्रम में महिलाओं और बच्चों के लिए आत्मरक्षा के बहुत गंभीर मुद्दे पर प्रकाश डाला गया। संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट के अनुसार, 35 प्रतिशत से अधिक महिलाओं ने अपने जीवनकाल में किसी न किसी तरह की हिंसा या दुरुपयोग का सामना किया है। इस तथ्य और महिलाओं के खिलाफ अपराधों के बढ़ने को देखते हुए आत्मरक्षा समय की जरूरत है।

इस कार्यशाला ने फ्लो सदस्यों और उनकी बेटियों को सशक्त बनाने पर ध्यान केंद्रित किया और उन्हें ऐसी परिस्थितियों में अपना बचाव करने के लिए रेड बिग्रेड कि उषा विश्वकर्मा ने अपनी टीम के साथ प्रशिक्षण दिया उन्होंने इस स्नेचर, बैग छीना हमला करने वाले पिस्टल चाकू डंडा एवं छेड़छाड़ के माध्यम से हमला करने के बचाव के बारे में जानकारी दी।

महिला आत्मरक्षा

ये भी पढ़ें : यूपी में गेहूं खरीद के लिए 6000 क्रय केंद्र खोलने की तैयारी

रेड ब्रिगेड ने आत्मरक्षा कार्यक्रम शुरू किया

उषा विश्वकर्मा ने किया, जिन्होंने 2011 में 15 ब्रिगेड महिलाओं और लड़कियों के एक समूह के साथ, रेड ब्रिगेड लखनऊ की स्थापना की।

रेड ब्रिगेड ने निशस्त्र नाम का एक अनूठा आत्मरक्षा कार्यक्रम शुरू किया है जो विभिन्न तकनीकों, घटनाओं, स्थितियों और वास्तविक जीवन के अनुभवों का मिश्रण है।

अब तक, उषा विश्वकर्मा ने कई राज्यों, रेलवे, महानगरों, बैंकों, पुलिस, व्यावसायिक शैक्षणिक संस्थानों, एचपीसीएल, बजाज, हीरो, होंडा जैसे कुछ राज्यों के नाम पर 8 राज्यों और लगभग 50 प्रतिष्ठित संगठनों के साथ 1,57,000 से अधिक लड़कियों / महिलाओं को प्रशिक्षित किया है।

विकी फ्लोर लखनऊ चैप्टर की अध्यक्ष पूजा गर्ग ने बताया कि महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अपराधो को देखते हुए महिला आत्मरक्षा की जानकारी और उसे सीखना आज समय की जरूरत है। आत्मरक्षा आत्मनिर्भर बनने की दिशा में पहला कदम है। इस अवसर पर माधुरी हलवासिया, आरुषि टंडन, शमा गुप्ता,संवित गुरनानी, सीमू घई और स्वाति वर्मा सहित कई सदस्य व बच्चे उपस्थित थे।

श्रीधर अग्निहोत्री

ये भी पढ़ें : 150 साल पुराना फांसीघर, पहली बार किसी महिला को होगी फांसी, जानें क्या है जुर्म

Monika

Monika

Next Story