Top

लेखक जावेद अख्तर ने अयोध्या फैसले पर कह दी ये बड़ी बात...

अयोध्या राम जन्म भूमि-बाबरी मस्जिद विवाद पर शनिवार 9 नवंबर को देश की सर्वोच्च अदालत से आए फैसले का सभी ने स्वागत ने किया।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 11 Nov 2019 4:24 AM GMT

लेखक जावेद अख्तर ने अयोध्या फैसले पर कह दी ये बड़ी बात...
X
जावेद अख्तर बोलें-घिनौना लगता है रमजान और चुनाव के बारे में बहस होना
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: अयोध्या राम जन्म भूमि-बाबरी मस्जिद विवाद पर शनिवार 9 नवंबर को देश की सर्वोच्च अदालत से आए फैसले का सभी ने स्वागत ने किया। सर्वोच्च अदालत ने विवादित जगह रामलला को दे दी है। और मुस्लिम पक्ष को 5 एकड़ दूसरी जगह देने के लिए कहा है। अयोध्या फैसले पर फिल्म इंडस्ट्री के महान कलाकारों की प्रतिक्रिया आनी भी शुरू हो गई है।

ये भी देखें:गुरुनानक के 550वेें प्रकाश पर्व के मौके पर दिल्ली सरकार ने दिया ये बड़ा तोहफा

मशहूर गीतकार और लेखक जावेद अख्तर ने मस्जिद को मिली 5 एकड़ की जगह में हॉस्पिटल बनाने की सलाह दी है। जावेद अख्तर ने ट्वीट किया, ये बहुत अच्छा होगा अगर 5 एकड़ मिली जगह पर चेरिटेबल हॉस्पिटल बना दिया जाएगा और इसे सभी समुदाय के लोगों का समर्थन भी मिलेगा।

It would be really nice if those who get the 5 acres as compensation decide to make a big charitable hospital on that land sponsored and supported by the people all the communities ।

— Javed Akhtar (@Javedakhtarjadu) November 10, 2019

भाईजान के पापा सलीम खान बोले ये

बॉलीवुड के सुपरस्टार सलमान खान के पिता सलीम खान ने भी सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया है। सलीम खान ने कहा, 'अब अयोध्या विवाद के खत्म होने पर मुसलमानों को मोहब्बत और माफी इन दो सद्गुणों का पालन कर आगे बढ़ना चाहिए। मोहब्बत जाहिर करिए और माफ करिए। इस तरह के मामलों को रिवाइंड या रिकैप ना करें।।।बस यहां से आगे बढ़ें'

ये भी देखें:महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर सियासी हलचल तेज, शिवसेना ने मानी पवार की शर्त

एक इंटरव्यू में सलीम ने कहा, 'अयोध्या मामले पर फैसला आने के बाद जिस तरह लोगों ने शांति और सामंजस्य बिठाया है, वह काबिले-तारीफ है। इस बात को स्वीकार करें कि एक बहुत पुराने विवाद का सुलह कर लिया गया है। मैं तहे दिल से इस फैसले का स्वागत करता हूं।'

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story