Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

बदलेगा रामनगरी का स्वरुप: तेजी से हो रहा निर्माण कार्य, इतनी योजनाएं हुईं पूरी

भगवान राम की नगरी अयोध्या में इन दिनों विकास की गाथा लिखी जा रही है। वर्षों से राजनीति का केन्द्र बनी रही अयोध्या में कई विकास के काम पूरे हो चुके हैं और जो नहीं पूरे हुए हैं वह भी जल्द ही पूरे करा लिए जाएगें।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 12 Nov 2020 3:12 AM GMT

बदलेगा रामनगरी का स्वरुप: तेजी से हो रहा निर्माण कार्य, इतनी योजनाएं हुईं पूरी
X
बदलेगा रामनगरी का स्वरुप: तेजी से हो रहा निर्माण कार्य, इतनी योजनाएं हुईं पूरी
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

श्रीधर अग्निहोत्री

लखनऊ: भगवान राम की नगरी अयोध्या में इन दिनों विकास की गाथा लिखी जा रही है। वर्षों से राजनीति का केन्द्र बनी रही अयोध्या में कई विकास के काम पूरे हो चुके हैं और जो नहीं पूरे हुए हैं वह भी जल्द ही पूरे करा लिए जाएगें। राम की पैडी, भजन संध्या स्थल तथा दिगम्बर अखाड़े में मल्टीपरपज हाॅल का काम पूरा हो चुका है। इसके अलावा दशरथ महल, सत्संग भवन, यात्री सहायता केन्द्र तथा रैन बसेरे का 80 प्रतिशत कार्य पूर्ण हो गया है। यह सारे काम रामायण सर्किट थीम के अन्र्तगत किए जा रहे हैं। इन परियोजनाओं के पूरा होने से अयोध्या धाम श्रद्धालुओं और पर्यटकों के लिए आकर्षण के बड़े केन्द्र के रूप में उभरेगा। श्रद्धालुओं और पर्यटकों को यहां सभी आवश्यक सुविधाएं सुलभ होंगी।

ये योजनाएं हुईं पूरी

अयोध्या में भजन संध्या स्थल, दशरथ महल, सत्संग भवन, यात्री सहायता केन्द्र, रैन बसेरा, क्वीन हो मेमोरियल पार्क, रामकथा पार्क के विस्तारीकरण का कार्य चल रहा है। भजन संध्या स्थल का कार्य लगभग पूर्ण हो गया है। इस परियोजना की लागत 1902 लाख रुपए हैं। 242 लाख रुपए से अधिक की लागत से बनने वाले दशरथ महल, सत्संग भवन, यात्री सहायता केन्द्र तथा रैन बसेरे का 80 प्रतिशत कार्य पूर्ण हो गया है।

ये भी पढ़ें: 12 नवंबर राशिफल: दिवाली से 2 दिन पहले कैसा रहेगा दिन, जानें राशियों का हाल

इस साल के अंत तक पूरे हो जायेंगे ये कार्य

यह कार्य 31 दिसम्बर तक पूर्ण हो जाएगा। क्वीन हो मेमोरियल पार्क का 50 प्रतिशत कार्य पूर्ण हो गया है। इस परियोजना की लागत 2192 लाख रुपए है। अयोध्या में राजर्षि दशरथ स्वशासी चिकित्सा महाविद्यालय के निर्माणाधीन भवन का कार्य भी तेजी से आगे बढ़ रहा है। 19,576 लाख रुपए लागत की इस परियोजना की वर्तमान भौतिक प्रगति 79 प्रतिशत है। अयोध्या में ड्राइविंग ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट का निर्माण भी कराया जा रहा है। 524 लाख रुपए लागत की इस परियोजना के कार्य पूर्ण होने की अनुमानित तिथि 31 दिसम्बर है।

रामायण सर्किट थीम के अन्तर्गत इन कार्यों में रामकथा गैलरी निर्माण, राम की पैड़ी का कार्य, नया बस डिपो निर्माण, अयोध्या बाईपास के निकट मल्टी लेवल कार पार्किंग का निर्माण, पंचकोशी परिक्रमा मार्ग पर यात्री छादक का निर्माण, दिगम्बर अखाड़े में मल्टीपरपज हाॅल का निर्माण, सिटी वाइड इन्टरवेंशन कार्य, अयोध्या स्ट्रीट रिजुवेशन के अन्तर्गत फुटपाथ के नवीनीकरण का कार्य, अयोध्या मुख्य मार्ग हनुमानगढ़ी कनक भवन पैदल यात्री मार्ग का नवीनीकरण प्रमुख हैं। इनमें से दिगम्बर अखाड़े में मल्टीपरपज हाॅल तथा राम की पैड़ी का कार्य पूर्ण हो गया है।

ये भी पढ़ें: सऊदी अरब में बड़ा हमला! जान बचाने के लिए मची भगदड़, फ्रांस ने दिया ये बयान

अयोध्या धाम में अन्तर्राष्ट्रीय रामलीला केन्द्र अयोध्या तथा सांस्कृतिक मंच ऑडिटोरियम का निर्माण लक्ष्मण किला घाट विकास एवं गुप्तार घाट विकास एवं निर्माण कार्य परियोजना पूर्ण कर ली गयी हैं। अयोध्या में प्रेस क्लब का निर्माण कार्य गतिशील है।

अमृत योजना के तहत 5,457 लाख रुपए लागत की नगर निगम अयोध्या पेयजल योजना फेज-3 एवं 3,789 लाख रुपए लागत की अयोध्या सीवरेज योजना फेज-2 का कार्य प्रगति पर है। इसके अलावा, अयोध्या तक आने वाले रेलवे ट्रैक की डबलिंग, रेलवे स्टेशन का विस्तार एवं सौन्दर्यीकरण का कार्य प्रस्तावित है।

Newstrack

Newstrack

Next Story