Top

योगी सरकार का फरमान, शांति-व्यवस्था प्रभावित करने वालों से ऐसे निपटेगी प्रशासन

शासन द्वारा आगामी 21 फरवरी को महाशिवरात्रि पर्व तथा कावड़ यात्रा को देखते हुये पर्याप्त पुलिस प्रबंध करने तथा सर्तकता बरतने करने को कहा गया है।

Deepak Raj

Deepak RajBy Deepak Raj

Published on 18 Feb 2020 4:43 PM GMT

योगी सरकार का फरमान, शांति-व्यवस्था प्रभावित करने वालों से ऐसे निपटेगी प्रशासन
X
यूपी: एक्शन में योगी सरकार, घोटालों पर हो रही है सबसे बड़ी कार्रवाई
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: शासन द्वारा आगामी 21 फरवरी को महाशिवरात्रि पर्व तथा कावड़ यात्रा को देखते हुये पर्याप्त पुलिस प्रबंध करने तथा सर्तकता बरतने करने को कहा गया है। परम्परागत कावड़ यात्रा के सम्बन्ध में भी संबंधित जनपदों में शांति व्यवस्था बनाये रखने के लिये समुचित आवष्यक प्रबंध करने को कहा है।

ये भी पढ़ें- युवाओं और महिलाओं पर फोकस है योगी सरकार का बजट

इस बारे में शासन द्वारा प्रदेश के पुलिस महानिदेशक सहित सभी जिलाधिकारियों पुलिस प्रमुखों, मण्डलायुक्तों, जोनल आईजी, रेन्ज डीआईजी, रेलवे एवं रोडवेज आदि को कहा गया है। जिला प्रशासन से अपेक्षा की गयी है कि शांति एवं व्यवस्था को प्रभावित करने वाले असामाजिक तत्वों पर कड़ी नजर रखी जाये तथा उनके विरूद्ध विधिक प्रावधानों के तहत निरोधात्मक कार्यवाही की जाये।

भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर सतर्क दृष्टि रखने क निर्देश

साम्प्रदायिक रूप से संवेदनशील क्षेत्रों में पर्याप्त पुलिस बल तैनात किये जाने तथा धार्मिक स्थलों अथवा भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर सतर्क दृष्टि रखने एवं कड़ी चैकसी बरतने के निर्देश दिये गये है ताकि किसी को भी शांति व्यवस्था भंग करने का मौका न मिले।

ये भी पढ़ें-जम्मू कश्मीर पर सरकार का प्लान, लगाया ऐसा कानून कि टूटेगी आतंकियों की ‘कमर’

साथ ही सार्वजनिक स्थलों, रेलवे एवं बस स्टेशनों तथा अन्य सभी संवेदनशील स्थलों पर सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है। यह भी कहा गया है कि ट्रेन, बस व अन्य यातायात के साधनों की समुचित प्रभावी चेकिंग करायी जाये तथा संदिग्ध व्यक्तियों पर कड़ी नजर रखी जाये।

शांति समिति की बैठकें आयोजित करने के लिए कहा गया है

असामाजिक एवं शरारती तत्वों को चिन्हित कर उनके विरूद्ध नियमानुसार प्रभावी निरोधात्मक कार्यवाही की जाये। अफवाहें फैलाने वाले तत्वों पर कड़ी नजर रखी जाय। यातायात के सुगम एवं सुचारू रूप से संचालन हेतु भी समुचित प्रबन्ध करने तथा शांति समिति की बैठकें आयोजित करने के लिए कहा गया है।

शांति व्यवस्था भंग करने तथा साम्प्रदायिक सद्भाव को प्रभावित करने वाले व्यक्तियों से सख्ती से निपटा जाये तथा हर हाल में शांति व्यवस्था बनाये रखी जाये।

Deepak Raj

Deepak Raj

Next Story