लॉकडाउन में फंसा था युवक, तीन हफ्ते से नहीं गया था घर, फांसी लगाकर दे दी जान

लॉकडाउन के कारण बरेली के सुभाषनगर पुलिया के पास क्लासिक गेस्ट हाउस में लखनऊ के एक युवक ने फांसी लगाकर जान दे दी। युवक सुभाषनगर क्षेत्र स्थित क्लासिक गेस्ट हाउस में तीन सप्ताह से रुका हुआ था।

लखनऊ: लॉकडाउन के कारण बरेली के सुभाषनगर पुलिया के पास क्लासिक गेस्ट हाउस में लखनऊ के एक युवक ने फांसी लगाकर जान दे दी। युवक सुभाषनगर क्षेत्र स्थित क्लासिक गेस्ट हाउस में तीन सप्ताह से रुका हुआ था। युवक लखनऊ वापस अपने घर जाना चाहता था, लेकिन पूरा क्षेत्र सील होने के कारण नहीं रुक सका।

सुबह गेस्ट हाउस का कर्मचारी खाना पूछने के लिए गया तो आत्महत्या का पता चला. युवक ने फांसी लगाने से पहले अपने मोबाइल के सभी नंबर और डेटा डिलीट कर दिया था।

पुलिस ने आधार कार्ड के जरिये उसके घर के पते पर संबंधित थाने से सूचना भिजवाई। पुलिस ने दरवाजा तोड़कर शव बाहर निकलवाया और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। यह घटना मंगलवार की देर रात की बतायी जा रही है।

ये भी पढ़ें…Lockdown: जब लगी सिगरेट की तलब, तो दूसरे देश पहुंच गया शख्स

रोडवेज बसों में चेकिंग का करते थे काम

बता दें कि लखनऊ के जानकीपुरम सेक्टर ए के रहने वाले अनुराग दीप गुप्ता (28) ने 18 मार्च को लखनऊ से बरेली आये थे। वह रोडवेज बसों की चेकिंग करते थे।

इस बीच लॉक डाउन घोषित करने के बाद से वह बरेली में ही फंस गया था। युवक ने कई बार लखनऊ जाने का प्रयास किया। लेकिन वह घर नहीं पहुंच पाया। कुछ दिनों से घर नहीं जाने के कारण गुमसुम सा रहता था।

मंगलवार की रात को वह खाना खाकर कमरे में सो गया. बुधवार की सुबह काफी देर तक उसके कमरे का दरवाजा नहीं खुला। काफी देर बाद कर्मचारी ने खिड़की से अंदर झांका तो युवक का शव पंखे से लटक रहा था।

इसके बाद कमरे का दरवाजा तोड़कर शव को निकाला गया। युवक ने बेड शीट का फंदा बनाकर आत्महत्या की थी। युवक के पास से उसका आधार कार्ड, दिल्ली मेट्रो कार्ड व अन्य आईडी मिली हैं। इस घटना की सूचना परिजनों को दे दी गई है।

 

गोंडा में भी युवक ने लगा ली फांसी

वहीं, गोंडा जिले में राकेश सोनी (32) नाम के युवक ने अपने घर में कथित तौर पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। प्रभारी निरीक्षक आलोक राव ने बताया कि प्रथम दृष्टया मिली सूचना के अनुसार, मृतक की पत्नी पिछले दिनों मायके चली गई थी और लॉकडाउन के कारण वहां से आ नहीं पा रही थी।

वह पत्नी के वियोग को बर्दाश्त न कर सका और उसने फांसी लगाकर जान दे दी। उन्होंने बताया कि मृतक का शव कब्जे में लेकर विधिक कार्रवाई की जा रही है।

ये भी पढ़ें…योगी सरकार ने लिए कई अहम फैसले, लॉक डाउन में जारी रहेगी फूड की होम डिलेवरी