Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

कस्टडी में मौत से बवाल, जौनपुर पुलिस पर पथराव में थानेदार घायल, गुस्से में सपाई

घटना की सूचना आज शुक्रवार सुबह परिजन और ग्रामीणों को मिलते ही कोहराम मच गया। गुस्साए ग्रामीण व परिजन अस्पताल पहुंच गये। साथ ही सपा के जनप्रतिनिधि एवं कार्यकर्ता बड़ी संख्या में अस्पताल पहुंच कर हंगामा करने लगे थे।

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 12 Feb 2021 12:39 PM GMT

कस्टडी में मौत से बवाल, जौनपुर पुलिस पर पथराव में थानेदार घायल, गुस्से में सपाई
X
कस्टडी में मौत से बवाल, जौनपुर पुलिस पर पथराव में थानेदार घायल, गुस्से में सपाई
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

जौनपुर: जनपद के थाना बक्शा पुलिस द्वारा बेरहमी से की गयी पिटाई से युवक कृष्णा यादव उर्फ पुजारी की मौत को लेकर प्रशासन एवं पुलिस विभाग जहां व्यवस्था मौनेज करने में जुटा हुआ है, वहीं पर सपा जन एवं ग्रामीण जनों में जबरदस्त गुस्सा तथा आक्रोश है। घटना को लेकर आन्दोलित ग्रामीण जनों ने पुलिस पर हमला भी किया।

मामले में शुरू की गई मजिस्ट्रियल जांच

वहीं दूसरी ओर प्रशासनिक कार्यवाही के तहत थानेदार सहित तीन पुलिस कर्मियों के उपर हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। पूरे मामले की मजिस्ट्रियल जांच शुरू कर दिया गया है। घटना को लेकर तनाव को देखते हुए थाना बक्शा सहित अस्पताल एवं पोस्ट मार्टम हाउस पर सुरक्षा का कड़ा पहरा लगा दिया गया ताकि कानून व्यवस्था को संभाला जा सके।

जानें क्या है पूरा मामला

यहां बता दें कि विगत एक फरवरी 2021 को थाना बक्शा क्षेत्र स्थित शिवगुलाम गंज बाजार में एक लूट हुई थी। इस लूट काण्ड का आरोपी मानते हुए थाना बक्शा पुलिस एवं क्राइम ब्रांच की पुलिस ने थाना बक्शा क्षेत्र के ग्राम चकमिर्जापुर निवासी तिलकधारी यादव के 25 वर्षीय पुत्र कृष्णा यादव उर्फ पुजारी को बीते 11 फरवरी को गिरफ्तार कर लिया। जबकि कृष्णा यादव उर्फ पुजारी के ऊपर इससे पहले एक भी छोटा बड़ा अपराधिक मुकदमा जनपद के किसी भी थाने में दर्ज नहीं है।

यह भी पढ़ें: हवा में लटकी बसः थमी रही यात्रियों की सांसें, रेलवे ओवरब्रिज पर दिखा ऐसा मंजर

अस्पताल में शव छोड़कर भागी पुलिस

पुलिस वाले रात में कृष्णा यादव उर्फ पुजारी को पहले बेरहमी से बुरी तरह से मारा पीटा। उसकी इतनी पिटाई की गई कि वह मरणासन्न स्थिति में आ गया था। फिर उसे लेकर उसके गांव गए, वहां उसके घर से पैसे भी लिए और थाने पर लौटे। इसके बाद कृष्णा यादव उर्फ पुजारी की हालत बिगड़ने लगी।

तब पुलिस कर्मियों के हाथ पांव फूलने लगे और तुरंत उसे लेकर सीएचसी नौपेड़वा गये। वहां से रात्रि में लेकर जिला अस्पताल गए, जहां कृष्णा यादव की मौत हो जाने पर छोड़ वहां से भाग निकले।

JAUNPUR YOUTH DIED IN POLICE CUSTODY (फोटो- सोशल मीडिया)

ग्रामीणों और सपा कार्यकर्ता ने किया हंगामा

घटना की सूचना आज शुक्रवार सुबह परिजन और ग्रामीणों को मिलते ही कोहराम मच गया। गुस्साए ग्रामीण व परिजन अस्पताल पहुंच गये। साथ ही सपा के जनप्रतिनिधि एवं कार्यकर्ता बड़ी संख्या में अस्पताल पहुंच कर हंगामा करने लगे थे। कानून व्यवस्था को सम्भालने के लिए प्रशासन ने जौनपुर सहित आसपास जनपदो के सुरक्षा बलों को बुला लिया।

प्रयागराज मार्ग पर किया चक्का जाम

उधर गुस्साए ग्रामीणों ने वाराणसी - लखनऊ एन एच 56 एवं जौनपुर प्रयागराज मार्ग पर चक्का जाम कर दिया। जौनपुर प्रयागराज मार्ग पर पुलिस को देखते ही ग्रामीण जनता ने पुलिस पर हमला करते हुए पथराव शुरू कर दिया। जिसमें सीओ सदर सहित थाना बक्शा प्रभारी एवं पुलिस जन जख्मी हो गये हैं।

POLICEMAN INJURED (फोटो- सोशल मीडिया)

स्थित बेकाबू होने लगी तो खुद जिलाधिकारी ने पुलिस और प्रशासन का नेतृत्व संभाला और घटना स्थल का निरीक्षण करते हुए मृतक कृष्णा यादव उर्फ पुजारी के परिजनों एवं आक्रोशित ग्रमीण जनों से बातचीत कर स्थित को नियंत्र में कराया।

यह भी पढ़ें: फिरोजाबाद: चोरों ने मंदिर की तिजोरी से उड़ाए गहने और पैसे, मिला बुजुर्ग का शव

जिलाधिकारी ने किया आश्वस्त

जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा परिजनों और ग्रामीणों तथा सपा नेताओं से बात करते हुए उन्हें आश्वस्त किया कि मृतक के परिजनों के साथ न्याय होगा। दोषी जो भी होगा उसे किसी भी कीमत पर नहीं छोड़ा जायेगा। दोषियों की नौकरी भी जा सकती है। जिलाधिकारी ने मृतक के पिता तिलकधारी यादव से तहरीर लेकर थाना प्रभारी सहित तीन पुलिस कर्मियों के खिलाफ तहरीर के आधार पर थाना बक्शा में मुकदमा दर्ज करा दिया है।

इस हत्या काण्ड के मजिस्ट्रियल जांच का आदेश देते हुए एसडीएम वित्त एवं राजस्व को जांच अधिकारी नियुक्त कर दिया है। जिलाधिकारी के आदेश पर मृतक का पोस्ट मार्टम के लिए चिकित्सकों का पैनल भी बनाया गया।

मृतक कृष्णा यादव उर्फ पुजारी के पिता तिलकधारी यादव ने अस्पताल में पुत्र की हत्या पर बयान दिया कि रात में हमारे बेटे को पुलिस ने बेरहमी से मारा पीटा उसे अधमरा दशा में रात को घर भी ले गयी थी उसी समय उनके बेटे कृष्णा ने कहा था कि पुलिस ने बहुत बुरी तरह से मारा पीटा है उसका जीवित रहना कठिन है। पुलिस पिटायी से उसे रक्तश्राव हो रहा था।

JAUNPUR CASE (फोटो- सोशल मीडिया)

सपा विधायक ने की निंदा

इस घटना को लेकर मल्हनी विधानसभा के सपा विधायक लकी यादव ने पुलिसिया गुन्डई की कड़े शब्दों में निन्दा करते हुए कहा कि पुलिस सपा के लोगों को फर्जी मुकदमे में फसाने के लिए एक सरकारी साजिश के तहत काम कर रही है। पुलिस ने कृष्णा यादव उर्फ पुजारी को अपराधी बताया और उसकी हत्या कर दिया जबकि उसके उपर आज तक कोई अपराधिक मुकदमा नहीं था। सरकार मृतक के परिवार को कम से कम 50 लाख रुपये का मुआवजा दे और हत्यारों को जेल की सीखचों में कैद करे।

इसी तरह सपा नेता एवं पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष राज बहादुर यादव ने कहा कि इस घटना में पुलिस के कृत्य की घोर निन्दा करते हैं और मृतक के परिवार के लिये न्याय की मांग करते हैं। पूर्व मंत्री एवं विधायक शाहगंज शैलेन्द्र यादव ललई ने इस घटना को सरकारी गुन्डई बताया और कहा कि मृतक के परिजनों के साथ न्याय न होने पर पूरे मामले को सदन में उठाया जायेगा। निरपराध कृष्णा यादव की हत्या क्यों और किसके इशारे पर पुलिस ने किया है इसकी जांच होनी चाहिए । इस तरह सपा का हर एक कार्यकर्ता इस घटना को लेकर खासा गुस्से में नजर आया है।

कपिल देव मौर्य

यह भी पढ़ें: भदोही: इलेक्ट्रॉनिक्स की दुकान में लगी भीषण आग, लाखों का नुकसान

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story