Top

कैद हुई WHO टीम: अब तो चीन ने तोड़ दी सारी हदें, कुछ बड़ा छिपा रहा ये देश

चीन के वुहान में एक बार फिर से कोरोना के नए मामले सामने आने लगे हैं। जिससे डर का माहौल बढ़ता जा रहा है। ऐसे में चीन से फैले कोरोना वायरस की उत्पत्ति का पता लगाने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के 13 सदस्यों की टीम चीन के वुहान गई हुई है।

Vidushi Mishra

Vidushi MishraBy Vidushi Mishra

Published on 15 Jan 2021 7:21 AM GMT

कैद हुई WHO टीम: अब तो चीन ने तोड़ दी सारी हदें, कुछ बड़ा छिपा रहा ये देश
X
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप शुरू से ही कोरोना को 'चीनी वायरस' बताते आए हैं और विश्व स्वास्थ्य संगठन पर भी चीन की तरफदारी का आरोप लगा रहे थे।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: पूरे विश्व में कोरोना का कहर अभी भी जारी है। ताजा खबर मिली है कि चीन के वुहान में एक बार फिर से कोरोना के नए मामले सामने आने लगे हैं। जिससे डर का माहौल बढ़ता जा रहा है। ऐसे में चीन से फैले कोरोना वायरस की उत्पत्ति का पता लगाने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के 13 सदस्यों की टीम चीन के वुहान गई हुई है। लेकिन वुहान में चीनी सरकार ने डब्ल्यूएचओ की टीम को 14 दिन के लिए क्वारंटीन कर दिया है।

ये भी पढ़ें...चीन से अलर्ट भारत: LAC में 10,000 सैनिकों पर कोई नई चाल, सेना लगातार चौकन्नी

2 सदस्य कोरोना संक्रमित

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की टीम चीन के वुहान प्रांत में गई हुई है। जहां उन्हें क्वारंटीन कर दिया गया है। दरअसल टीम में कुल 15 सदस्य थे, जिनमें से सिंगापुर 2 सदस्य कोरोना संक्रमित पाए गए। जिसके बाद 13 सदस्य ही चीन पहुंचे, लेकिन उन्हें वहां जांच करने की जगह क्वारंटीन कर दिया गया।

आपको बता दें कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप शुरू से ही कोरोना को 'चीनी वायरस' बताते आए हैं और विश्व स्वास्थ्य संगठन पर भी चीन की तरफदारी का आरोप लगा रहे थे। साथ ही पूरी दुनिया चीन के वुहान को कोरोना के लिए जिम्मेदार ठहराती है और इससे जुड़े तथ्य छुपाने का आरोप चीन सरकार पर लगाती रही है।

corona फोटो-सोशल मीडिया

ऐसे में कई देशों ने वुहान में जांच करने की बात कही, जिसे चीन ने अस्वीकार कर दिया था। जिसके बाद अब एक साल बाद जब विश्व स्वास्थ्य संगठन की टीम वहां जांच करने पहुंची है, तो उन्हें क्वारंटीन कर दिया गया। ऐसे में दुनियाभर के देशों ने फिर से किसी बड़े खुलासे को लेकर संदेह जताया है।

ये भी पढ़ें...चीन में लगभग आठ महीने बाद फिर एक कोविड-19 मरीज की गई जान

13 साइंटिस्ट वुहान पहुंचे

कोविड के बारे में विश्व स्वास्थ्य संगठन ने ट्वीट कर जानकारी दी कि कोरोना वायरस कहां पैदा हुआ, इसकी जांच के लिए अंतरराष्ट्रीय टीम के 13 साइंटिस्ट वुहान पहुंच चुके हैं। अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के 14 दिन क्वारंटीन अवधि पूरा करने के बाद ये विशेषज्ञ अपनी जांच-पड़ताल शुरू कर देंगे।

साथ ही WHO ने अपने ट्वीट में यह भी कहा है कि यात्रा से पहले इन सभी सदस्यों की उनके गृह देश में कई पीसीआर और एंटीबॉडी जांच हुई थी, जो निगेटिव आई थी। लेकिन इसके बाद इन लोगों की सिंगापुर में पीसीआर जांच हुई, जिसमें 2 कोरोना पॉजिटिव और 13 निगेटिव आए थे। जो सदस्य निगेटिव आए थे, उन्हें ही वुहान भेजा गया है।

ये भी पढ़ें...LAC पर बड़ी घुसपैठ: चीनी सैनिक को धर दबोचा भारत ने, हाई अलर्ट हुआ जारी

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Desk Editor

Next Story