Top

वैक्सीन के बाद अब इस कंपनी ने बनाई नई दवा, कोरोना का तुरंत होगा खात्मा

यह एंटीबॉडीज खासकर वैसे लोगों के लिए लाभदायक हो सकेगी जिन्हें वैक्सीन नहीं मिल पाई है या फिर जिन्हें किन्हीं वजहों से वैक्सीन नहीं दी जा सकती। एक रिपोर्ट की मानें तो नई एंटीबॉडीज का ट्रायल भी शुरू हो गया है और यह इस तरह का पहला ट्रायल है।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 26 Dec 2020 2:27 PM GMT

वैक्सीन के बाद अब इस कंपनी ने बनाई नई दवा, कोरोना का तुरंत होगा खात्मा
X
वैक्सीन के बाद अब इस कंपनी ने बनाई नई दवा, कोरोना का तुरंत होगा खात्मा
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: लंबे समय से कोरोना महामारी की मार झेलने के बाद आखिरकार दुनिया को राहत मिलने वाली है। वैज्ञानिकों ने वैक्सीन के रुप में इस वायरस का तोड़ निकाल लिया है। इसी बीच कोरोना वैक्सीन की शुरुआती सफलता के साथ दवा कंपनी एस्ट्राजेनेका से जुड़ी एक और बड़ी खबर सामने आ रही है।एस्ट्राजेनका ने एक ऐसी एंटीबॉडीज तैयार की है जो कोरोना संक्रमित लोगों को गंभीर बीमार होने से बचा सकती है।

ये भी पढ़ें: चीन ने पाकिस्तान को दिया ये खतरनाक हथियार, भारत के लिए बताया बुरा सपना

ऐसे लोगों के लिए होगी लाभदायक

यह एंटीबॉडीज खासकर वैसे लोगों के लिए लाभदायक हो सकेगी जिन्हें वैक्सीन नहीं मिल पाई है या फिर जिन्हें किन्हीं वजहों से वैक्सीन नहीं दी जा सकती। एक रिपोर्ट की मानें तो नई एंटीबॉडीज का ट्रायल भी शुरू हो गया है और यह इस तरह का पहला ट्रायल है। शुरुआत में 10 लोगों को यह एंटीबॉडीज दी गई हैं। ये 10 ऐसे लोग हैं जो बीते 8 दिन में किसी न किसी कोरोना संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आए थे। इसे कोरोना से बचाव का इमरजेंसी प्रोटेक्शन भी बताया जा रहा है।

इस एंटीबॉडीज का ट्रायल भी शुरू

बता दें, इस नई एंटीबॉडी को दवा कंपनी एस्ट्राजेनेका ने तैयार किया है। वहीं, ब्रिटेन सरकार की यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन हॉस्पिटल्स ने इस एंटीबॉडीज का ट्रायल शुरू किया है। साथ ही ट्रायल के दौरान यह भी पता लगाने की कोशिश की जाएगी कि क्या दो तरह की एंटीबॉडीज का इस्तेमाल करने पर कोरोना से अधिक सुरक्षा मिल सकती है?

अब एंटीबॉडी से उम्मीद लगाई जा रही है कि ये तुरंत ही कोरोना वायरस को न्यूट्रलाइज कर देगी। साथ ही इससे व्यक्ति एक साल तक कोरोना के संक्रमण से सुरक्षित रह सकता है।

ये भी पढ़ें: मर गए लाखों लोग: मातम में बदल गया पूरा अमेरिका, लेकिन ट्रंप मना रहे छुट्टियां

Newstrack

Newstrack

Next Story